Search

दुनिया की 9 सबसे तेज बुलेट ट्रेन

मुंबई और अहमदाबाद के बीच बहुप्रतीक्षित बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट का कार्य शुरू हो चुका है| पिछले दिनों नीति आयोग ने मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन परियोजना की समीक्षा की है| इस समीक्षा के बाद ऐसी उम्मीद की जा रही है कि 2017 के अंत तक बुलेट ट्रेन परियोजना का निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा| इस लेख में हम बुलेट ट्रेन के इतिहास और वर्तमान समय में सबसे तेज चलने वाली 9 बुलेट ट्रेनों की सूची का विवरण दे रहे हैं|
Feb 20, 2017 18:19 IST

मुंबई और अहमदाबाद के बीच बहुप्रतीक्षित बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट का कार्य शुरू हो चुका है| पिछले दिनों नीति आयोग ने मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन परियोजना की समीक्षा की है| इस समीक्षा के बाद ऐसी उम्मीद की जा रही है कि 2017 के अंत तक बुलेट ट्रेन परियोजना का निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा| इस लेख में हम बुलेट ट्रेन के इतिहास और वर्तमान समय में सबसे तेज चलने वाली 9 बुलेट ट्रेनों की सूची का विवरण दे रहे हैं|

दुनिया की 9 सबसे तेज बुलेट ट्रेन

1. मैगलेव बुलेट ट्रेन, जापान
अधिकतम रफ्तार: 603 किमी/घंटा
 maglev bulet train japan
Image source: YouTube

2. टीआर-09, जर्मनी
अधिकतम रफ्तार: 500 किमी/घंटा
 TR-09 germany
Image source: Facts To Know

3. शंघाई मैग्लेव, चीन
अधिकतम रफ्तार: 430 किमी/घंटा
 sanghai maglev china
Image source: RT.com

4. हार्मनी सीआरएच 380ए,चीन
अधिकतम रफ्तार: 380 किमी/घंटा
 harmany crh 380 china
Image source: ख़बरी दोस्त

PAL-V: दुनिया की पहली उड़ने वाली कार

भारतीय रेलवे की आरएसी, प्रतीक्षा सूची और तत्काल टिकटों के लिए सीट आवंटन कैसे होता है

 

5. एजीवी इटालो, इटली
अधिकतम रफ्तार: 360किमी/घंटा
 agv italo
Image source: m.patrika.com

6. सीमेन्स वेलारो इ/एवीएस 103, स्पेन
अधिकतम रफ्तार: 350 किमी/घंटा
 Siemens Velaro E AVS 103
Image source: Livehindustan.com

7. टेल्गो 350, स्पेन
अधिकतम रफ्तार: 350 किमी/घंटा
 telgo 350 spain
Image source: Dailyhunt

8. इ 5 सीरीज शिंकनसेन हायाबूसा, जापान
अधिकतम रफ्तार: 320 किमी/घंटा
 E5-Series Shinkansen Hayabusa
Image source: ख़बरी दोस्त

9. टीजीवी, फ्रांस
अधिकतम रफ्तार: 320 किमी/घंटा
 TGV france
Image source: Deutsche Welle



बुलेट ट्रेन का नामकरण
दुनिया में सबसे पहले हाई स्पीड ट्रेन चलाने का विचार जापानियों के मन में 1930 में आया। लगभग 34 वर्षों तक लगातार प्रयास करने के बाद 1964 में पहली बार जापान में हाई स्पीड ट्रेन चली| चूंकि हाई स्पीड ट्रेन दिखने में बंदूक की गोली के समान नजर आती है जिसके कारण जापान के लोगों ने इसे बुलेट ट्रेन के नाम से पुकारना शुरू कर दिया। जापानी बुलेट ट्रेन नेटवर्क को "शिनकाशेन" कहकर पुकारा जाता है जिसका अर्थ है – “नई मेन लाइन”। “शिन” अर्थात “नई” एवं “काशेन” अर्थात “मेन लाइन”।
सबसे सुरक्षित यात्रा
बुलेट ट्रेन में यात्रा करना काफी सुरक्षित माना जाता है। आज तक 10 अरब से अधिक यात्रियों ने जापान की हाई-स्पीड रेल पर यात्रा की है, लेकिन आज तक इनमें कोई भी दुर्घटना में मृत्यु का शिकार नहीं हुआ है। दुनिया के दूसरे देशों में भी ऐसे मामले कम ही सामने आए हैं।
सुहाना सफर
मैग्लेव अन्य ट्रेनों की तुलना में काफी सहज और स्मूथ चलती है। इसके केबिन्स में कोई वाइब्रेशन और हार्डनेस नहीं होती है। पटरियों पर गुजरते समय भी इसमें पास में खड़े लोगों को भी आवाज से ज्यादा परेशानी नहीं होती है। जिसकी वजह से यह लोगों को काफी आकर्षित करती है।
बेहद ताकतवर
दुनिया की सबसे तेज ट्रेन बनाना अपने आप में खासा चुनौतीपूर्ण काम है। इसको बनाने वाले वर्कर भी इसमें काम के दौरान काफी अच्छा महसूस करते हैं। यह मैग्लेव चुंबक द्वारा चलने वाली ट्रेन है जो बिजली से चलने वाली ट्रेनों की तुलना में काफी शक्तिशाली है।
ट्रैक में चुम्बक का इस्तेमाल
जमीन से ऊपर उठते हुए ऊपरी चुंबकीय बल से चलनेवाली इन ट्रेनों के ट्रैक में चुम्बक लगे होते हैं जिसके कारण अधिक स्पीड होने पर भी यह ट्रेन बिल्कुल स्थिर रहता है।
पिछले 10 सालों में विज्ञान के क्षेत्र में हुए महत्वपूर्ण आविष्कार