Advertisement

बॉक्सिंग डे टेस्ट मैच क्या होता है और कहाँ खेला जाता है?

पूरी दुनिया में 25 दिसम्बर को क्रिसमस डे के रूप में मनाया जाता है. ऐसा माना जाता है कि इस दिन प्रभु ईसा मसीह का जन्म हुआ था. बॉक्सिंग डे, क्रिसमस डे के एक दिन बाद अर्थात 26 दिसम्बर को मनाया जाने वाला अवकाश है.

बॉक्सिंग डे की शुरुआत यूनाइटेड किंगडम में हुई थी. यूनाइटेड किंगडम के अलावा इस अवकास को उन देशों में भी मनाया जाता है जो कि कभी ब्रिटिश साम्राज्य के गुलाम थे. इन देशों में मुख्य देश हैं; ऑस्ट्रेलिया, कनाडा और न्यूजीलैंड. इन देशों के लोग इस दिन छुट्टी का लुत्फ उठाते हैं व अपने दोस्तों व परिवार के साथ समय बिताते हैं और उन्हें गिफ्ट देते हैं.

इस दिन को बॉक्सिंग डे इस लिए कहा जाता है क्योंकि इस दिन अमीर लोग अपने नौकरों को काम से छुट्टी देते थे और उन्हें ‘गिफ्ट का बॉक्स’ भी देते थे ताकि वे अपने घर जाकर परिवार के साथ छुट्टी का आनंद उठा सकें.

जानिये ब्लाइंड खिलाड़ी क्रिकेट कैसे खेलते हैं?

बॉक्सिंग डे टेस्ट किसे कहते हैं?

बॉक्सिंग डे टेस्ट मैच; मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड (MCG),ऑस्ट्रेलिया पर ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम और एक मेहमान टीम के बीच 26 दिसंबर से शुरू होता है. चूंकि 26 दिसम्बर के दिन को बॉक्सिंग डे कहा जाता है और इसी दिन टेस्ट मैच शुरू होता है इसलिए इस टेस्ट मैच को बॉक्सिंग डे टेस्ट मैच है कहा जाता है.

परम्परागत रूप से इंग्लैंड की टीम बॉक्सिंग डे का हिस्सा होती है क्योंकि इस दिन ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच ऐशेज़ सीरीज़ का टेस्ट मैच शुरू होता है लेकिन वर्ष 2018 में ऐसा नहीं हुआ है और बॉक्सिंग डे टेस्ट ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच खेला जा रहा है.

बॉक्सिंग डे टेस्ट का इतिहास

बॉक्सिंग डे टेस्ट मैच की परंपरा शुरू होने से पहले 26 दिसंबर को मेलबर्न में ऑस्ट्रेलिया के घरेलू टूर्नामेंट "शेफ़ील्ड शील्ड" का मैच खेला जाता था. लेकिन 1950–51 की ऐशेज़ सीरीज़ से मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच पहला 'बॉक्सिंग डे टेस्ट' मैच खेला गया था.

वर्ष 1974-75 से आधुनिक बॉक्सिंग डे टेस्ट परंपरा की शुरुआत हुई थी. वर्ष 1980 में मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड ने बॉक्सिंग डे टेस्ट का अधिकार हासिल कर लिया है. ऐसा नहीं है कि अब मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर इस दिन केवल टेस्ट मैच ही खेला जा सकता है. वर्ष 1989 में इस दिन ऑस्ट्रेलिया और श्रीलंका के बीच वन-डे मैच खेला गया था जिसे ऑस्ट्रेलिया ने 30 रनों से जीता था, इस कारण बॉक्सिंग डे पर टेस्ट मैच खेलने की परंपरा टूट गयी है.

आपकी जानकारी के लिए यह भी बता दें कि अब दक्षिण अफ्रीका के डरबन के किंग्समीड स्टेडियम में भी बॉक्सिंग डे टेस्ट खेला जाने लगा है.

बॉक्सिंग डे टेस्ट से जुड़े रोचक तथ्य

1. वर्ष 1994 में इंग्लैंड के खिलाफ शेन वॉर्न ने बॉक्सिंग डे टेस्ट में ही हैट्रिक ली थी और वर्ष 2006 में उन्होंने अपने 700 टेस्ट विकेट भी बॉक्सिंग डे टेस्ट में ही पूरे किए थे, और अपने होम ग्राउंड पर आखिरी मैच को यादगार बना दिया था.

2. वर्ष 1995 में अंपायर डैरेल हेयर ने श्रीलंकाई ऑफ-स्पिनर मुथैया मुरलीधरन को 'चकर' घोषित किया था. हेयर ने मुरली के तीन ओवर में उन्हें सात बार 'नो बॉल' करार दिया था.

3. वर्ष 1999 में सचिन तेंदुलकर ने 166 रनों की शानदार पारी खेली थी. दूसरी पारी में मास्टर ब्लास्टर ने 52 रन बनाए थे, लेकिन ऑस्ट्रेलियाई टीम मैच जीतने में कामयाब रही थी.

4. बॉक्सिंग डे पर अब तक 43 टेस्ट मैच खेले जा चुके हैं जिनमें से ऑस्ट्रेलिया ने 24 टेस्ट मैच जीते हैं.

5. वर्ष 2018 में भारतीय टीम बॉक्सिंग डे पर मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर 8 वां टेस्ट मैच खेल रही है. ज्ञातव्य है कि भारत ने कभी भी बॉक्सिंग डे टेस्ट मैच नहीं जीता है. भारत अपना अगला बॉक्सिंग डे टेस्ट मैच 2020 में खेलेगा.

इस प्रकार स्पष्ट है कि भारत बॉक्सिंग डे टेस्ट मैच का सम्बन्ध किसी बॉक्सिंग मैच से नहीं बल्कि ऑस्ट्रेलिया में मेलबोर्न क्रिकेट ग्राउंड पर खेले जाने वाले क्रिकेट टेस्ट मैच को कहा जाता है.


एकदिवसीय क्रिकेट के 21 ऐसे नियम जो आपको पता नहीं होंगे

जानिये क्रिकेट इतिहास की किस घटना के कारण फील्डिंग के नियम बने?

Advertisement

Related Categories

Advertisement