क्या आप पारिस्थितिकी में पदानुक्रम (संगठन) के स्तर के बारे में जानते हैं

पारिस्थितिक तंत्र एक प्राकृतिक इकाई है जिसमें एक क्षेत्र विशेष के सभी जीवधारी, अर्थात् पौधे, जानवर और अणुजीव शामिल हैं जो कि अपने अजैव पर्यावरण के साथ अंतर्क्रिया करके एक सम्पूर्ण जैविक इकाई बनाते हैं। इस लेख में हमने पारिस्थितिकी में पदानुक्रम (संगठन) के स्तर के बारे में बताया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।
May 25, 2018 18:11 IST
    Do you know about the level of Hierarchy (Organisation) in Ecology HN

    पारिस्थितिक तंत्र एक प्राकृतिक इकाई है जिसमें एक क्षेत्र विशेष के सभी जीवधारी, अर्थात् पौधे, जानवर और अणुजीव शामिल हैं जो कि अपने अजैव पर्यावरण के साथ अंतर्क्रिया करके एक सम्पूर्ण जैविक इकाई बनाते हैं। इस प्रकार पारिस्थितिक अन्योन्याश्रित अवयवों की एक इकाई है जो एक ही आवास को बांटते हैं। शब्द इकोलॉजी (पारिस्थितिकी) की उत्पति ग्रीक शब्द 'ओइकोस से हुई है जिसका अर्थ है घर-परिवार और लोगो का अर्थ है अध्ययन'। इस प्रकार, वास्तव में 'घरेलु जीवन' के अध्ययन को ही पारिस्थितिकी कहते हैं।

    प्रकृति के विभिन्य घटकों के बीच के संबंधो में जटिलता है। उदहारण के लिए, हर पौधे मिट्टी से पोषक तत्व प्राप्त करते हैं इसके बाद, उसके पत्ते, फूल और अन्य भागो को किसी पक्षी या हिरण द्वारा खाया जा सकता है। उनके मरने के बाद मृत अवशेष के कुछ हिस्सों को जीवाणुओ , फुफुन्दी आदि के द्वारा खाया जाता है, जबकि शेष हिस्से नाइट्रोजन, कार्बन, सुल्फर आदि  की तरह छोटे अणुओ में टूटकर वापस मिट्टी में मिल जाते हैं और इस तरह उनके बीच सम्बन्ध स्थापित होता है।

    पारिस्थितिक में संगठन (पदानुक्रम) के स्तर

    पदानुक्रम का अर्थ है "एक वर्गीकृत श्रृंखला में एक व्यवस्था"। प्रत्येक स्तर पर भौतिक वातावरण (ऊर्जा और पदार्थ) के साथ मिलकर एक विशेषतात्मक प्रणाली बनाती है। जीवित (जैविक) और गैर-जीवित (एबायोटीक) घटक युक्त एक प्रणाली बायोसिस्टम का निर्माण करती है, जो पारिस्थितिकीय प्रणालियों की आनुवांशिक प्रणालियों से होती है।

    बायोटीक घटक + एबायोटीक घटक = बायोसिस्टम

    जीवित (जैविक) और गैर-जीवित (एबियोटिक) घटकों के संपर्क पर जोर देने वाले संगठन वर्णक्रम के पारिस्थितिक स्तर की चर्चा नीचे की गयी है:

    1. पारिस्थितिकी (Ecosphere) में सभी पृथ्वी के पारिस्थितिक तंत्र होते हैं और उन्हें सभी जीवित जीवों और गैर-जीवित तत्वों के रूप में परिभाषित किया जाता है जिनके साथ वे मिलकर एक बायोसिस्टम का निर्माण करते हैं।

    2. बायोम (biome) या जीवोम धरती या समुद्र के किसी ऐसे बड़े क्षेत्र को बोलते हैं जिसके सभी भागों में मौसम, भूगोल और निवासी जीवों (विशेषकर पौधों और प्राणी) की समानता हो। किसी बायोम में एक ही तरह का परितंत्र (ईकोसिस्टम) होता है, जिसके पौधे एक ही प्रकार की परिस्थितियों में पनपने के लिए एक जैसे तरीक़े अपनाते हैं। प्रत्येक बायोम कई पारिस्थितिक तंत्रों का घर होता है।

    क्या आप ऑक्सीजन न्यूनतम क्षेत्र और अक्रिय क्षेत्र के बारे में जानते हैं

    3. परिदृश्य (Landscape) एक विषम क्षेत्र को कहते हैं जो पारिस्थितिक तंत्र के बीच में सम्बन्ध स्थापित करता है। बड़े पैमाने पर अध्ययन और प्रबंधन के लिए एक वाटरशेड एक सुविधाजनक परिदृश्य स्तर इकाई है क्योंकि इसकी आमतौर पर पहचान की जाने वाली प्राकृतिक सीमाएं होती हैं।

    4. पारिस्थितिकी तंत्र (Ecosystem) जिसमें एक दिए गए क्षेत्र में रहने वाली सभी वस्तुएं (पौधे, जानवर और जीव) शामिल रहती हैं तथा एक दूसरे के साथ मिलकर निर्जीव वातावरण (मौसम, पृथ्वी, सूर्य, मिट्टी, जलवायु, वातावरण) को प्रभावित करती हैं।

    5. प्रजातियाँ: जीवो के ऐसे समूह, जो दिखावट, व्यवहार, गुणधर्म एवं अनुवांशिक संरचना में एक दुसरे के सामान होते हैं, उन्हें सामूहिक तौर पर एक प्रजाति के अंतर्गत रखा जाता है

    6. समुदाय (Community): एक निश्चित भूभाग में निवास करने वाले सामाजिक/आर्थिक/सांस्कृतिक अथवा धार्मिक समूह जो सभी सदस्यो के सहयोग से अपने उद्देश्यो की पूर्ति के लिए कार्य करते हैं, समुदाय कहलाता है। समुदाय के लोग एक निश्चित स्थान पर निवास करते हैं।

    7. जीव विज्ञान में, विशेष प्रजाति के अंत: जीव प्रजनन के संग्रह को जनसंख्या (Population) कहते हैं।

    संभवतः पारिस्थितिकी को समझने का सबसे अच्छा तरीका यह की इसे संगठन के स्तर के नज़रिए से देखा जाये, जो पारिस्थितिकी का केंद्र बिंदु है।

    पर्यावरण और पारिस्थितिकीय: समग्र अध्ययन सामग्री

    Loading...

    Most Popular

      Register to get FREE updates

        All Fields Mandatory
      • (Ex:9123456789)
      • Please Select Your Interest
      • Please specify

      • ajax-loader
      • A verifcation code has been sent to
        your mobile number

        Please enter the verification code below

      Loading...
      Loading...