Search

ब्रह्मांड की सामान्य अवधारणाओं पर आधारित सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी

ब्रह्माण्ड सम्पूर्ण समय और अंतरिक्ष और उसकी अंतर्वस्तु को कहते हैं। ब्रह्माण्ड में सभी ग्रह, तारे, आकाशगंगाएँ के बीच के अंतरिक्ष की अंतर्वस्तु, अपरमाणविक कण, और सारा पदार्थ और सारी ऊर्जा शामिल है। इस लेख में हमने ब्रह्मांड की सामान्य अवधारणाओं पर आधारित 10 सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी दिया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।
Jul 27, 2018 17:04 IST
GK Questions and Answers on the General Concepts of Universe HN

ब्रह्माण्ड सम्पूर्ण समय और अंतरिक्ष और उसकी अंतर्वस्तु को कहते हैं। ब्रह्माण्ड में सभी ग्रह, तारे, आकाशगंगाएँ के बीच के अंतरिक्ष की अंतर्वस्तु, अपरमाणविक कण, और सारा पदार्थ और सारी ऊर्जा शामिल है। ब्रह्माण्ड में अनुमानतः 100 अरब आकाशगंगाएँ (Galaxy) हैं। आकाशगंगा असंख्य तारों का एक विशाल पुंज होता है , जिसमें एक केन्द्रीय बल्ज (Bulge) एवं तीन घूर्णनशील भुजाएँ होती हैं। ये तीनों घूर्णनशील भुजाएँ अनेक तारों से निर्मित होती हैं। बल्ज, आकाशगंगा  के केंद्र को कहा जाता है। यहाँ तारों का संकेन्द्रण सर्वाधिक होता है।   

1. बिग बैंग सिद्धांत निम्नलिखित में से किस से संबंधित है?

A. महाद्वीपीय विस्थापन (Continental drift)

B. ब्रह्मांड की उत्पत्ति

C. हिमालय की उत्पत्ति

D. ज्वालामुखी विस्फोट

Ans: B

व्याख्या: आधुनिक भौतिक-शास्त्री  जार्ज लेमैत्रे (Georges Lemaitre) ने सन 1927 में सृष्टि की रचना के संदर्भ में महाविस्फोट सिद्धान्त(बिग-बैंग थ्योरी) का प्रतिपादन किया। इस सिद्धांत के द्वारा उन्होंने दावा किया कि ब्रह्मांड सबसे पहले एक बहुत विशाल और भारी गोला था जिसमें एक समय के बाद बहुत जबरदस्त धमाका हुआ और इस धमाके से होने वाले टुकड़ों ने अंतरिक्ष में जाकर  धीरे धीरे तारों और ग्रहों का रूप ले लिया। इसलिए, B ही सही विकल्प है।

2. आकाशगंगा, मिल्की वे, क्षीरमार्ग या मन्दाकिनी के आकृति को क्या बोला जाता है

A. सर्पिल (स्पाइरल) गैलेक्सी

B. विद्युत गैलेक्सी

C. अनियमित गैलेक्सी

D. गोल गैलेक्सी

Ans: A

व्याख्या: आकाशगंगा, मिल्की वे, क्षीरमार्ग या मन्दाकिनी हमारी गैलेक्सी को कहते हैं, जिसमें पृथ्वी और हमारा सौर मण्डल स्थित है। आकाशगंगा आकृति में एक सर्पिल (स्पाइरल) गैलेक्सी है, जिसका एक बड़ा केंद्र है और उस से निकलती हुई कई वक्र भुजाएँ। हमारा सौर मण्डल इसकी शिकारी-हन्स भुजा (ओरायन-सिग्नस भुजा) पर स्थित है। इसलिए, A ही सही विकल्प है।

3. तारों का रंग क्या इंगित करता है?

A. सूर्य से दूरी

B. प्रकाश या चमक

C. पृथ्वी से दूरी

D. तापमान

Ans: D

व्याख्या: तारों का रंग उनकी चमक, तापमान और उम्र को इंगित करता है। तारों को "वर्णक्रमीय प्रकार" नामक समूहों में वर्गीकृत किया जाता है।

तापमान

प्रकार

रंग

सेल्सियस

ओ (O)

नीला

25,000-40,000

बी (B)

नीला

11,000-20,000

ए (A)

नीला –सफ़ेद

7,500-11,000

एफ (F)

सफ़ेद

6,000-7,500

जी (G)

पीला

5,000-6,000

के (K)

नारंगी

3,500-5,000

एम (M)

लाल

3,000-3,500

 

इसलिए, D ही सही विकल्प है।

सूर्य और चन्द्र ग्रहण पर आधारित सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी

 4. सूर्य हमारे आकाशगंगा के केंद्र के चारों ओर घूमने में कितना समय लगाता है?

A. 2.5 करोड़ साल

B. 10 करोड़ साल

C. 25 करोड़ साल

D. 50 करोड़ साल

Ans: C

व्याख्या:  सूर्य हमारे आकाशगंगा के लगभग गोलाकार कक्षा  के केंद्र के चारों ओर घूमने में 25 करोड़ साल लगाता है। इसलिए, C सही विकल्प है।

5. किसी स्थायी श्वेत बौने नक्षत्र का अधिकतम सम्भावित द्रव्यमान____________कहलाती है।

A. चन्द्रशेखर सीमा (Chandrasekhar limit)

B. एडिंगटन सीमा (Eddington limit)

C. होयल सीमा (Hoyle limit)

D. फाउलर सीमा (Fowler limit)

Ans: A

व्याख्या:  किसी स्थायी श्वेत बौने नक्षत्र का अधिकतम सम्भावित द्रव्यमान चन्द्रशेखर सीमा (Chandrasekhar limit) कहलाती है। इस सीमा का उल्लेख सबसे पहले विल्हेम एण्डर्सन और ई सी स्टोनर ने 1930 में प्रकाशित अपने शोधपत्रों में किया था। किन्तु भारत के खगोलभौतिकशास्त्री सुब्रमण्यन चन्द्रशेखर ने 1930 में, 19 वर्ष की आयु में, स्वतन्त्र रूप से इस सीमा की खोज की और इस सीमा की गणना को और अधिक शुद्ध बनाया। इसलिए, A सही विकल्प है।

6. तारों के कारण निम्न में से कौन सा खगोलीय घटना होती है?

A. ओजोन

B. ब्लैक होल

C. इंद्रधनुष

D. धूमकेतु

Ans: B

व्याख्या: जब तारों में अपार गुरुत्वीय खिंचाव होने के कारण तारा संकुचित होने लगता है और वह संकुचित होते होते अंत में एक निश्चित क्रांतिक सीमा तक संकुचित हो जाता है और इस अपार असाधारण संकुचन के कारण उसका जगह और समय भी विकृत हो जाता है और अपने ही जगह में और समय का अस्तित्व मिट जाने के कारण वह अदृश्य हो जाता और यही वह अद्रश्य पिंड होते हैं जिनको हम ब्लैक होल कहते हैं। इसलिए, B सही विकल्प है।

7. ब्लैक होल के सिद्धांत को निम्नलिखित में से किसने दिया?

A. सी.वी. रमन

B. एच जे भाभा

C. एस चंद्रशेखर

D. हरगोविंद खुराना

Ans: C

व्याख्या:  "ब्लैक होल" शब्द अमेरिकी खगोलविद जॉन व्हीलर द्वारा दिया गया था। एस चंद्रशेखर सापेक्षता के सिद्धांत के आधार पर ब्लैक होल के सिद्धांत को प्रतिपादित किया था। इसलिए, C सही विकल्प है।

पृथ्वी के जल विज्ञान (भूगोल) पर आधारित सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी

8.  Assertion (A): ब्लैक होल एक खगोलीय इकाई है जिसे टेलीस्कोप द्वारा नहीं देखा जा सकता है।

Reason (R): ब्लैक होल ऐसी खगोलीय वस्तु होती है जिसका गुरुत्वाकर्षण क्षेत्र इतना शक्तिशाली होता है कि प्रकाश सहित कुछ भी इसके खिंचाव से बच नहीं सकता है।

Codes:

A. A और R दोनों सही हैं और R, A की सही व्याख्या है।

B. A और R दोनों सत्य हैं और R, A की सही व्याख्या नहीं है।

C. A सही है लेकिन R ग़लत है।

D. A और R दोनों सही हैं

Ans: B

व्याख्या: ब्लैक होल ऐसी खगोलीय वस्तु होती है जिसका गुरुत्वाकर्षण क्षेत्र इतना शक्तिशाली होता है कि प्रकाश सहित कुछ भी इसके खिंचाव से बच नहीं सकता है। ब्लैक होल के चारों ओर एक सीमा होती है जिसे घटना क्षितिज कहा जाता है, जिसमें वस्तुएं गिर तो सकती हैं परन्तु बाहर कुछ भी नहीं आ सकता। इसे "ब्लैक (काला)" इसलिए कहा जाता है क्योंकि यह अपने ऊपर पड़ने वाले सारे प्रकाश को अवशोषित कर लेता है और कुछ भी परावर्तित नहीं करता, थर्मोडाइनामिक्स (ऊष्मप्रवैगिकी) में ठीक एक आदर्श ब्लैक-बॉडी की तरह। ब्लैक होल का क्वांटम विश्लेषण यह दर्शाता है कि उनमें तापमान और हॉकिंग विकिरण होता है। इसलिए, B सही विकल्प है।

9. निम्नलिखित में से कौन सा सौर मंडल का ग्रह गोल्डीलॉक्स जोन से जुड़ा है?  

A. मंगल

B. पृथ्वी

C. बृहस्पति

D. बुध

Ans: B

व्याख्या: पृथ्वी में गोल्डिलॉक्स जोन है जिसका अर्थ है कि न तो बहुत गर्म है और न ही बहुत ठंडा है, तथा जीवन के लिए सभी स्थितियों की उपलब्धता हो। इसलिए, B सही विकल्प है।

10.  सौर मंडल के बाहर सबसे चमकीला तारा कौन सा है?

A. साइरस या डॉग स्टार

B. प्रॉक्सिमा सेंटौरी

C. अल्फा सेंटौरी

D. बीटा सेंटौरी

Ans: A

व्याख्या: साइरस या डॉग स्टार पृथ्वी से 9 प्रकाश वर्ष दूर स्थित है तथा सूर्य के दोगुने द्रव्यमान वाला तारा है। यह सूर्य से 20 गुना चमकीला है एवं यह रात्रि में दिखाई पड़ने वाला सर्वाधिक चमकीला तारा है। इसलिए, A सही विकल्प है।

1000+ भारतीय भूगोल पर आधारित सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी