IIT विशेषज्ञ बनाएंगे विकिपीडिया (Wikipedia) का भारतीय संस्करण, जानें क्या है योजना

विकिपीडिया (wikipedia) के भारतीय संस्करण पर शुरुआत में विज्ञान और प्रौद्योगिकी से संबंधित जानकारी प्रदान की जाएगी और बाद में फीडबैक के आधार पर इसका विस्तार अन्य क्षेत्रों में किया जाएगा।
Created On: Sep 24, 2021 11:48 IST
Modified On: Oct 5, 2021 13:50 IST
IIT विशेषज्ञ बनाएंगे विकिपीडिया (wikipedia) का भारतीय संस्करण, जानें क्या है योजना
IIT विशेषज्ञ बनाएंगे विकिपीडिया (wikipedia) का भारतीय संस्करण, जानें क्या है योजना

लंबे समय से विकिपीडिया (wikipedia) के भारतीय संस्करण की मांग उठ रही है। अब इस मांग को पूरा करने के लिए केंद्र की मोदी सरकार ने विकिपीडिया (wikipedia) के भारतीय संस्करण के निर्माण पर काम करना शुरु कर दिया है। 

इसके निर्माण के लिए विभिन्न भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) के विशेषज्ञों से संपर्क किया गया है। विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग (Department of Science and Technology) दो चरणों वाली प्रक्रिया के माध्यम से हिंदी और अन्य प्रमुख भारतीय भाषाओं में विकिपीडिया के निर्माण पर काम कर रहा है।

शुरुआत में ये प्लेटफॉर्म विज्ञान और प्रौद्योगिकी से संबंधित जानकारी प्रदान करने के लिए उपलब्ध होगा जिससे उन लोगों तक भी जानकारी पहुंचे जो अंग्रेजी नहीं जानते हैं। बाद में फीडबैक के आधार पर इसका विस्तार अन्य क्षेत्रों में किया जाएगा।

पहले चरण में मशीन द्वारा अनुवाद किया जाएगा। सेंटर फॉर साइबर फिजिकल सिस्टम्स के साथ आईआईटी पटना, आईआईटी कानपुर, आईआईटी हैदराबाद के विशेषज्ञों की एक टीम मशीन ट्रांसलेशन टूल विकसित करने में लगी है। दूसरे चरण में क्षेत्र के विशेषज्ञों की एक समर्पित टीम को सूचना की जांच के लिए लगाया जाएगा जिससे लोगों को पढ़ने के लिए प्रामाणिक जानकारी प्रदान कराई जा सके। जब विशेषज्ञों द्वारा इसमें सुधार कर दिया जाएगा, तो इसे प्लेटफॉर्म पर डालने के लिए उपकरणों द्वारा उठा लिया जाएगा। 

यह विचार अगले पांच वर्षों के लिए विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग की नई पहल योजना का हिस्सा है, जिसमें कार्यक्रमों की एक श्रृंखला शामिल है जो भविष्य में शुरू किए जाएंगे। इसके अलावा उच्च विभेदन राष्ट्रीय स्थलाकृतिक डेटा बेस (Generation of High Resolution National Topographic Data Base) प्रोजेक्ट है, जो पहली बार 10 सेमी रिज़ॉल्यूशन पर विकसित की जा रही ड्रोन प्रौद्योगिकी छवियों का उपयोग करके तैयार किया जाएगा, जिससे भारत कुछ देशों के एक चुनिंदा क्लब में शामिल हो जाएगा, जिसके पास उच्च रिज़ॉल्यूशन एनटीडीबी (NTDB) डेटा होगा।

मुकेश अंबानी से लेकर साइरस पूनावाला तक, देखें भारत के शीर्ष 10 अरबपतियों के बंगले

भारत में बजट सेडान कारें छोटी क्यों होती हैं?

Comment (0)

Post Comment

5 + 2 =
Post
Disclaimer: Comments will be moderated by Jagranjosh editorial team. Comments that are abusive, personal, incendiary or irrelevant will not be published. Please use a genuine email ID and provide your name, to avoid rejection.