Search

भारत की प्रमुख फसलों और उनके लिए आवश्यक तापमान, वर्षा और मिट्टी की सूची

भारत ना केवल सांस्कृतिक रूप से बल्कि मिट्टी की रूपरेखा और जलवायु की दृष्टि से भी एक विविधतापूर्ण देश है। यही कारण है कि भारत में विभिन्न प्रकार की खाद्य और नकदी फसलें उगाई जाती हैं। इस लेख में हम भारत की प्रमुख फसलों और उनके लिए आवश्यक तापमान, वर्षा और मिट्टी की सूची दे रहे हैं दे रहे हैं जिसका प्रयोग विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी में अध्ययन सामग्री के रूप में किया जा सकता है।
Sep 5, 2017 17:38 IST

भारत ना केवल सांस्कृतिक रूप से बल्कि मिट्टी की रूपरेखा और जलवायु की दृष्टि से भी एक विविधतापूर्ण देश है। यही कारण है कि भारत में विभिन्न प्रकार की खाद्य और नकदी फसलें उगाई जाती हैं।

Major Crops of India

Source: www.indianetzone.com

इस लेख में हम भारत की प्रमुख फसलों और उनके लिए आवश्यक तापमान, वर्षा और मिट्टी की सूची दे रहे हैं दे रहे हैं जिसका प्रयोग विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी में अध्ययन सामग्री के रूप में किया जा सकता है।

भारत की प्रमुख फसलों और उनके लिए आवश्यक तापमान, वर्षा और मिट्टी की सूची

1. चावल

तापमान: 22 -32 डिग्री सेल्सियस 22 -32 डिग्री सेल्सियस

वर्षा: 150-300 से.मी          

मिट्टी: चिकनी मिट्टी

2. गेहूँ

तापमान: 10-15 डिग्री सेल्सियस (बोने के समय); 21-26 डिग्री सेल्सियस (पकने और कटाई के समय)

वर्षा: 75-100 से.मी  

मिट्टी: शुष्क चिकनी बलुई मिट्टी

3. बाजरा

तापमान: 27-32 डिग्री सेल्सियस

वर्षा: 50-100 से.मी  

मिट्टी: अवर जलोढ़ या चिकनी मिट्टी

भारत में प्राकृतिक वनस्पति

4. चना

तापमान: 20-25 डिग्री सेल्सियस (हल्का ठंडा और शुष्क जलवायु)

वर्षा: 40-45 से.मी    

मिट्टी: बलुई मिट्टी

5. गन्ना

तापमान: 21-27 डिग्री सेल्सियस

वर्षा: 75-150 से.मी  

मिट्टी: बलुई मिट्टी तथा अच्छे जल निकास वाली दोमट भूमि सर्वोत्तम होती है।

6. कपास

तापमान: 21-30 डिग्री सेल्सियस

वर्षा: 50-100 से.मी

मिट्टी: डेक्कन और मालवा पठार की काली मिट्टी, सतलज-गंगा मैदान की जलोढ़ मिट्टी, और प्रायद्वीपीय क्षेत्र के लाल और मखरला मिट्टी (laterite soils)

भारत की मिट्टी की रूपरेखा

7. तिलहन

तापमान: 20-30 डिग्री सेल्सियस

वर्षा: 50-75 से.मी    

मिट्टी: शुष्क चिकनी बलुई मिट्टी, लाल, पीले और काली मिट्टी

8. चाय

तापमान: 20-30 डिग्री सेल्सियस

वर्षा: 150-300 से.मी

मिट्टी: शुष्क तथा भुरभुरा चिकनी मिट्टी

कैसे मानसून-पूर्व वर्षा भारत के किसानो तथा बाजारों के लिए वरदान है

9. कॉफ़ी

तापमान: 15-28 डिग्री सेल्सियस

वर्षा: 150-250 से.मी

मिट्टी: शुष्क तथा भुरभुरा चिकनी मिट्टी

उपरोक्त लेख में हमने भारत की प्रमुख फसलों और उनके लिए आवश्यक तापमान, वर्षा और मिट्टी की सूची दिया है जिसका प्रयोग विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी में अध्ययन सामग्री के रूप में किया जा सकता है।

भूगोल से संबंधित सामान्य जानकारी