अकबर द्वारा जीते गए प्रदेशो की सूची

15-FEB-2018 14:55
    List of territories won by Akbar in Hindi

    अकबर का जन्म 15 अक्टूबर, 1542 ईस्वी   में अमरकोट के राणा वीर साल के महल में हुआ था। यह एक बहादुर और शक्तिशाली शासक था जिसने मुग़ल साम्राज्य को पश्चिम में अफगानिस्तान से लेकर पूर्व में बंगाल तक और उत्तर में जम्मू से लेकर दक्षिण में मराठवाड़ा तक फैलाया था।

    अकबर द्वारा जीते गए प्रदेशो की सूची

    प्रदेश

    शासक

    मुग़ल सेनापति

    मालवा (1561 ईस्वी)

    बाजबहादुर

    आधम खां, पीरमुहम्मद

    चुनार (1562 ईस्वी)

    अफ़ग़ानो का शासन

    अब्दुल्लाह खां

    आमेर (1562 ईस्वी)

    भारमल

    स्वेच्छा से अधीनता स्वीकारी

    मेड़ता (1562 ईस्वी)

    जयमल

    सरफुद्दीन

    गोंडवाना (1564 ईस्वी)

    वीरनारायण और दुर्गावती

    आसफ खां

    मेवाड़  (1568 ईस्वी)

    उदय सिंह और राणा प्रताप

    अकबर

    रणथम्भौर (1569 ईस्वी)

    सुरजनहाडा

    भगवान दास एवं अकबर

    कालिंजर (1569 ईस्वी)

    रामचंद्र

    मजनू खां काकशाह

    मारवाड़ (1570 ईस्वी)

    राव चंद्रसेन

    स्वेच्छा से अधीनता स्वीकारी

    जैसलमेर (1570 ईस्वी)

    रावल हरीराय

    स्वेच्छा से अधीनता स्वीकारी

    बीकानेर (1570 ईस्वी)

    कल्याणमल

    स्वेच्छा से अधीनता स्वीकारी

    गुजरात (1571 ईस्वी)

    मुज़फ्फर खां III

    खाने अजाम सम्राट अकबर

    बिहार और बंगाल (1574-76 ईस्वी)

    दावूद खां

    मुनीम खां खानखाना

    काबुल (1581 ईस्वी)

    हकीम मिर्ज़ा

    मान सिंह एवं अकबर

    कश्मीर (1586 ईस्वी)

    युसूफ याकूब खां

    भगवान दास एवं कासिम खां

    सिन्ध (1591 ईस्वी)

    जानीबेग

    अब्दुर रहीम खानखाना

    उड़ीसा (1590-91 ईस्वी)

    निसार खां

    मान सिंह

    बलूचिस्तान (1595 ईस्वी)

    पन्नी अफ़ग़ान

    मीर मासूम

    कंधार (1595 ईस्वी)

    मुज़फ्फर हुसैन

    शाहबेग

    खान देश (1591 ईस्वी)

    अली खां

    स्वेच्छा से अधीनता स्वीकारी

    दौलताबाद (1599 ईस्वी)

    चाँद बीवी

    मुराद, अब्दुर रहीम खानखाना, अबुलफजल एवं अकबर

    अहमदनगर (1600 ईस्वी)

    बहादुर शाह चाँद बीवी

    -

    असीरगढ़ (1601 ईस्वी)

    मीरन बहादुर

    अकबर

    अकबर ने साम्राज्य की एकता बनाए रखने के लिए ऐसी नीतियां अपनाई, जिनसे गैर मुसलमानों की राजभक्ति जीती जा सके। हिन्दुओं के प्रति अपनी धार्मिक सहिष्णुता का परिचय देते हुए उन्होंने उन पर लगा ‘जजिया’ नामक कर हटा दिया। अपने शासनकाल में सभी जाति-वर्गों के लोगों को एक समान मानता था और उनसे अपने मित्रता के सम्बन्ध बहुत ही आत्मीयता के साथ निभाता था।

    मुगलकालीन प्रशासनिक अधिकारियों की सूची

    Latest Videos

    Register to get FREE updates

      All Fields Mandatory
    • (Ex:9123456789)
    • Please Select Your Interest
    • Please specify

    • ajax-loader
    • A verifcation code has been sent to
      your mobile number

      Please enter the verification code below

    This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK