Search

जानें अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की जिम्मेदारियां क्या होती हैं

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) क्रिकेट की अंतरराष्ट्रीय संचालक मंडल है। सन 1909 में इसे “इंपीरियल क्रिकेट कॉन्फ्रेंस” के रूप में इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका के प्रतिनिधियों ने स्थापित किया था| सन 1965 में इसका नाम बदलकर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट सम्मेलन नाम दिया गया है और 1989 में इसे वर्तमान नाम अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) दिया गया था|
Feb 13, 2017 16:57 IST

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) क्रिकेट की अंतरराष्ट्रीय संचालक मंडल है। सन 1909 में इसे “इंपीरियल क्रिकेट कॉन्फ्रेंस” के रूप में इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका के प्रतिनिधियों ने स्थापित किया था| सन 1965 में इसका नाम बदलकर "अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट सम्मेलन" नाम दिया गया है, और 1989 में इसे वर्तमान नाम "अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद" (आईसीसी) दिया गया था|  अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद का मुख्यालय  दुबई, संयुक्त अरब अमीरात में है| इसके वर्तमान अध्यक्ष शशांक मनोहर और मुख्य कार्यकारी अधिकारी डेविड रिचर्डसन हैं |

ICC Head Quarter

Image source:Pakistan TV.TV

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद में कितने सदस्य हैं

आईसीसी में कुल 105 सदस्य हैं जिनमे 10 पूर्ण सदस्य है जो कि टेस्ट मैच खेलने वाले देश हैं, 39 एसोसिएट सदस्य (Associate Members), और 56 संबद्ध सदस्य (Affiliate Members)|

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद के मुख्य कार्य क्या हैं (Functions of icc)

आईसीसी, क्रिकेट के प्रमुख अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंटो, जिनमे "क्रिकेट विश्व कप" मुख्य है, के आयोजन के लिए जिम्मेदार है। यह सभी अंपायरों और रेफरियों को नियुक्त करता है जो कि सभी टेस्ट मैच, एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय और ट्वेंटी -20 अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंटो के सफल आयोजनों के लिए जिम्मेदार होते हैं | आईसीसी, क्रिकेट के लिए आचार संहिता के साथ-साथ अनुशासन के पेशेवर मानकों, भ्रष्टाचार और मैच फिक्सिंग के खिलाफ कार्रवाई जैसे कार्य भी करता है| लेकिन ध्यान रखने योग्य बात यह है कि आईसीसी सदस्य देशों में आयोजित की जाने वाले घरेलू क्रिकेट प्रतियोगिताओं के बारे में कोई नियम कानून नही बनाता है|

पहले ओलंपिक खेल: 10 तथ्य एक नजर में

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद, क्रिकेट खेलने की परिस्थितियों, गेंदबाजी एक्शन की समीक्षा, और आईसीसी के अन्य नियमों पर नजर रखता है| हालांकि आईसीसी के पास खेल से सम्बंधित कानूनों के कॉपीराइट नहीं है| ये कॉपीराइट मेरीलेबोन क्रिकेट क्लब (एमसीसी) के पास हैं और इसी को क्रिकेट के नियमों में बदलाव करने का अधिकार है हालांकि ‘एमसीसी’ को नियमों में किसी भी परिवर्तन के लिए आईसीसी की सलाह लेनी जरूरी होती है| आईसीसी के पास, क्रिकेट को पारदर्शी बनाने के लिए एक "आचार संहिता" भी है जिसका पालन करना (सभी अंतरराष्ट्रीय मैचों में) सभी टीमों और खिलाडियों के लिए जरूरी है| इस "आचार संहिता" को तोड़ने या उल्लंघन किये जाने पर आईसीसी के प्रतिबंधों, आमतौर पर जुर्माना भी लगाया जाता है |

आईसीसी  की आय के श्रोत क्या हैं ?

आईसीसी की आय का मुख्य स्रोत टूर्नामेंटों का आयोजन, (मुख्य रूप से क्रिकेट विश्व कप) है| आईसीसी अपनी आय का एक बड़ा भाग अपने सदय देशों में बाँट देता है| सन 2007 से 2015 के बीच आईसीसी को प्रायोजन और टीवी अधिकार (Sponsorship and television rights) से 1.6अरब अमेरिकी डॉलर की आय हुई थी| आईसीसी की आय के अन्य साधनों में आईसीसी की सदस्यता और प्रायोजन (sponsorship) से होने वाली आय और निवेश से प्राप्त आय भी है|

ICC Sponsored

Image source:www.cricketcountry.com

आईसीसी को कितनी आमदनी होती है ?

अभी वर्तमान आय वितरण के नियम के हिसाब से आईसीसी की कुल आय (2.5 अरब डॉलर) में से, भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड को 20.3%, इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड को 4.4% और ऑस्ट्रेलिया बोर्ड को 2.7% भाग मिलता है| इसके अलावा बकाया की अधिक्य आय(surplus) को सभी एसोसिएट सदस्यों में बाँट दिया जाता है| वर्तमान मॉडल के आधार पर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड को 2015-2023 की अवधि में $440-445 मिलियन (लगभग 2973.5 करोड़ रुपये) मिलने हैं लेकिन यदि आईसीसी में आय वितरण के नये नियम लागू किये जाते हैं तो इसे $180-190 मिलियन का नुकशान उठाना पड़ सकता है|

BCCI revenue break up

Image source:Business Standard

यहाँ यह बात ध्यान देने योग्य है कि आईसीसी को दो देशों के बीच होने वाले (टेस्ट मैच, एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय और ट्वेंटी -20 अंतरराष्ट्रीय) टूर्नामेंट्स से कोई कोई आय नही मिलती है क्योंकि इन मैचों की आय पर सदस्य देशों के क्रिकेट बोर्ड का अधिकार होता है |

अंपायर और रेफरी का चयन कौन करता है ?

ICC Umpires

Image source:TSM Plug

आईसीसी सभी अंतरराष्ट्रीय टेस्ट मैचों, एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय और ट्वेंटी -20 मैचों के लिए अंपायरों और मैच रेफरियों को नियुक्त करता है| आईसीसी अंपायरों के 3 प्रकार पैनल के 3 चला रही है: एलीट पैनल, अंतरराष्ट्रीय पैनल, और एसोसिएट्स & सम्बंधित पैनल| अप्रैल 2012 से वर्तमान तक आईसीसी के एलीट पैनल में 12 अंपायर शामिल हैं | नियमों के अनुसार हर टेस्ट मैच के दौरान एलीट पैनल के 2 अंपायर उपस्थित होने ही चाहिए जबकि एक दिवसीय मैच में 1 अंपायर का होना जरूरी होता है| एलीट पैनल के सदस्य आईसीसी के फुल टाइम कर्मचारी होते हैं |

इस प्रकार यह कहा जा सकता है कि आईसीसी क्रिकेट के विकास से जुडी सबसे बड़ी संस्था है| यह संस्था क्रिकेट के लिए नियम कानून भी बनाती है ताकि स्वस्थ प्रतिस्पर्धा को बढ़ावा दिया जा सके| यह अपनी आय मुख्य रूप से विश्व कप, चैंपियंस ट्राफी, जैसे बड़े टूर्नामेंटों से इकठ्ठा करता है|

लाँन टेनिस में ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट कौन-कौन से होते हैं?