Search

गोवा के नए मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के बारे में कुछ अनजाने तथ्य

भारत जैसे देश में राजनेताओं को हमेशा निराशावादी दृष्टिकोण से देखा जाता हैl लेकिन वर्तमान परिदृश्य में कुछ ऐसे भी राजनेता हैं जो हमें आशा की किरण प्रदान करते हैंl आशा की एक ऐसी ही किरण भारत के पूर्व रक्षामंत्री और गोवा के नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर हैंl इस लेख में हम 13 दिसंबर, 1955 को जन्मे इस अभूतपूर्व राजनेता के बारे में कुछ ऐसे तथ्यों का विवरण दे रहे हैं जिनके बारे में आप शायद ही जानते होंगेl
Mar 15, 2017 16:59 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon

भारत जैसे देश में राजनेताओं को हमेशा निराशावादी दृष्टिकोण से देखा जाता हैl लेकिन वर्तमान परिदृश्य में कुछ ऐसे भी राजनेता हैं जो हमें आशा की किरण प्रदान करते हैंl आशा की एक ऐसी ही किरण भारत के पूर्व रक्षामंत्री और गोवा के नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर हैंl इस लेख में हम 13 दिसंबर, 1955 को जन्मे इस अभूतपूर्व राजनेता के बारे में कुछ ऐसे तथ्यों का विवरण दे रहे हैं जिनके बारे में आप शायद ही जानते होंगेl
1. मनोहर पर्रिकर का मानना है कि हमेशा देश को पहली प्राथमिकता देनी चाहिए
 manohar parrikar
Image source: Twitter
2000 में गोवा के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने के सिर्फ एक महीने पहले कैंसर की बीमारी से ग्रसित उनकी पत्नी का निधन हो गया थाl लेकिन इस बहादुर मुख्यमंत्री ने पूरे प्रान्त पर विकासोन्मुखी शासन व्यवस्था के साथ-साथ अपने दोनों किशोर लड़कों का भी पालन पोषण कुशलतापूर्वक किया थाl
2. मनोहर पर्रिकर की शैक्षणिक योग्यता
वह किसी भी भारतीय राज्य के मुख्यमंत्री बनने वाले पहले आईआईटीयन हैंl उन्होंने 1978 में आई.आई.टी. मुम्बई से स्नातक की परीक्षा उत्तीर्ण की थीl राजनीति में प्रवेश करने से पहले वह पेशे से एक धातुकर्म इंजीनियर (metallurgical engineer) थेl  भारत की अद्वितीय पहचान प्राधिकरण (UIDAI) के पूर्व अध्यक्ष नंदन नीलेकणी आईआईटी मुंबई में उनके मित्र थेl
3. आम आदमी जैसा रहन-सहन
simplicity of parrikar
Image source: TheLotPot
भारत का रक्षा मंत्री और गोवा के मुख्यमंत्री रहते हुए भी मनोहर पर्रिकर केवल इकॉनमी क्लास से ही यात्रा करने के लिए जाने जाते हैं। गोवा के मुख्यमंत्री के रूप में अपनी सेवा के दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री आवास में स्थानांतरण की पेशकश को अस्वीकार कर दिया और अपने घर में रहने की पेशकश की थीl पिछले कई वर्षों से उन्होंने कोई फैशनेबल वाहन नहीं खरीदा हैl
4. परिवहन के लिए मनोहर पर्रिकर का पसंदीदा तरीका
 parrikar in que
Image source: Oneindia
गोवा के मुख्यमंत्री के रूप में अपने पिछले कार्यकाल में मनोहर पर्रिकर गोवा विधानसभा तक पहुंचने के लिए परिवहन के लिए साइकिल का इस्तेमाल करते थेl इसके अलावा मुख्यमंत्री रहते हुए वह नियमित रूप से राज्य में सार्वजनिक परिवहन से यात्रा करते थेl
5. मनोहर पर्रिकर का राजनीतिक जीवन
 defence minister parrikar
Image source: India.com
स्कूली दिनों में ही पर्रिकर राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ से जुड़ गए थे और 26 वर्ष की उम्र में संघचालक बन गए थेl 1988 में भाजपा से जुड़कर उन्होंने राजनीति में कदम रखा थाl वह 1994 में पहली बार विधानसभा के लिए निर्वाचित हुए और जून 1999 से नवम्बर 1999 तक गोवा विधानसभा में विपक्ष के नेता रहेl 24 अक्टूबर 2000 से 27 फरवरी 2002 तक वह पहली बार गोवा के मुख्यमंत्री रहेl 5 जून 2002 को वह दूसरी बार मुख्यमंत्री बनेl 29 जनवरी 2005 को भाजपा के चार विधायकों द्वारा इस्तीफा देने के कारण उनकी सरकार अल्पमत में आ गई और 2 फरवरी 2005 को उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दियाl
9 मार्च 2012 को वह तीसरी बार गोवा के मुख्यमंत्री बने और 9 नवम्बर 2014 को देश के रक्षामंत्री का पद संभालने तक वह इस पद पर बने रहेl 26 नवम्बर 2014 से 13 मार्च 2017 तक वह राज्यसभा के सदस्य भी रहेl 13 मार्च 2017 को उन्होंने चौथी बार गोवा के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली हैl
6. पुरस्कार और सम्मान
गोवा राज्य के विकास में उल्लेखनीय योगदान के लिए मनोहर पर्रीकर को राजनीति की श्रेणी में वर्ष 2012 में सीएनएन आईबीएन इंडियन पुरस्कार प्रदान किया गया थाl
7. एक कुशल प्रशासक
 parrikar as cm
Image source: ABP Live
भारतीय जनता पार्टी को गोवा की सत्ता में लाने का श्रेय मनोहर पर्रीकर को जाता है। इसके अतिरिक्त भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव को अकेले गोवा लाने का तथा किसी भी अन्य सरकार से कम समय में एक अंतर्राष्ट्रीय स्तर की मूलभूत संरचना खड़ी करने का श्रेय भी उन्ही को जाता है। कई समाज सुधार योजनाओं जैसे दयानन्द सामाजिक सुरक्षा योजना जोकि वृद्ध नागरिकों को आर्थिक सहायता प्रदान करती है, साइबरएज योजना, सी.एम. रोजगार योजना इत्यादि में भी उनका प्रमुख योगदान रहा है।