Search

किन प्लांट्स की मदद से घर के वायु प्रदूषण को कम किया जा सकता है?

अक्टूबर का महीना शुरू होते ही दिल्ली में वायु प्रदुषण की समस्य विकराल रूप ले लेती है. इस समस्या में अहम भूमिका निभाते हैं वायु में मौजूद PM 2.5 और PM 10 कण. जब इन कणों का स्तर वायु में बढ़ जाता है तो आँखों में जलन, सांस लेने में दिक्कत आदि होने लगती हैं. यदि आपको वायु प्रदूषण की समस्या का ठोस समाधान करना है तो आपके अपने घर में कुछ पौधे लगाये जाने चाहिए.आइये इस लेख में इन पौधों के बारे में जानते हैं.
Nov 1, 2019 12:10 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon
Indoor plants to check air Pollution
Indoor plants to check air Pollution

आज भारत का शायद ही कोई ऐसा शहर होगा जो कि वायु प्रदूषण की समस्या से ना जूझ रहा हो. इस समस्या से निपटने के लिए लोग बहुत महंगे-महंगे मास्क खरीद रहें हैं लेकिन फिर भी साफ हवा को पाने के लिए तरस रहे हैं. लेकिन इस लेख के माध्यम से हम आपकी समस्या को काफी हद तक कम करने की कोशिश कर रहे हैं.
IIT कानपुर की एक रिसर्च में सामने आया है कि यदि आपको वायु प्रदूषण की समस्या का ठोस समाधान करना है, तो आपके अपने घर में ये 5 पौधे लगाने चाहिए.

1.एरिका पाम: इसे लिविंग रूम प्लांट भी कहा जाता है.ये हवा से फार्मेल्डीहाइड ,कार्बन डाईऑक्साइड और कार्बन मोनोऑक्साइड जैसी जहरीली गैसों को सोख लेता है और साफ़ ऑक्सीजन देता है. घर में साफ ऑक्सीजन के विकास के लिए घर में कंधे की ऊंचाई तक के 4 एरिका पाम के पौधे लगायें, इसकी पत्तियों को रोज साफ करें. इसको तीन से चार महीने में एक बार धूप में रखने की जरुरत पड़ती है.

areca-palm

2. मदर इन लॉ टंग प्लांट:  इसका एक अन्य नाम स्नेक प्लांट और बेडरूम प्लांट भी हैं. इसकी सबसे ज्यादा आश्चर्य चकित करने वाली बात यह है कि ये रात में भी कार्बन डाई ऑक्साइड को ऑक्सीजन में बदलता है. एक आदमी के लिए स्वच्छ हवा का इंतजाम करने के लिए घर के अन्दर कमर की ऊँचाई या तीन फीट तक की ऊँचाई के 6 पौधे लगायें.

anti-pollution-plant

3. मनी प्लांट: इस प्लांट के बारे में बहुत से लोग यह सोचते हैं कि इसको घर में लगाने से पैसे आते हैं लेकिन ऐसा प्रत्यक्ष रूप से सही नही है. हालाँकि अप्रत्यक्ष रूप से यह सच है, क्योंकि यह प्लांट हवा से केमिकल टोक्सिंस साफ़ करके फ्रेश हवा वायुमंडल में छोड़ता है, जिससे हमारा स्वास्थ्य ठीक रहता है, हम कम बीमार पड़ते हैं और डॉक्टर के पास जाने की जरूरत नही पड़ती है जिससे रुपयों की बचत होती है. शायद इसी कारण लोगों ने इसका नाम मनी प्लांट रखा होगा.

money plant

4. गोल्डेन पोथोस: एयर प्यूरीफायर करने वाले पौधों की लिस्ट में इस प्लांट का नाम भी बहुत बड़ा है. यह प्लांट; बल्ब या ट्यूब लाइट की रोशनी में पलता-बढता है. यह प्लांट बहुत आर्द्रता या नही वाले माहौल में भी जीवित रह सकता है. यह प्लांट कार्बन मानोऑक्साइड और कार्बन डाइऑक्साइड गैस को ख़त्म करने में अहम् भूमिका निभाता है. यदि आप गोल्डन पोथोस के तीन फीट की ऊंचाई के 3 पौधे बेडरुम में लगाएंगे, तो ये पूरे बेडरुम के वातावरण को शुद्ध रखेगा.

golden pothos

5. गुलदाउदी: यह पौधा न सिर्फ अपने खूबसूरत फूलों के लिए जाना जाता है, बल्कि इनडोर पॉल्यूशन के खिलाफ सबसे कारगर भी है. यह पांच तरह के वायु प्रदूषण फॉर्मेल्डिहाइड, बैंजीन, ,ट्राइक्लोरोएथेलीन, जाइलिन और अमोनिया को रोकता है.

guldaudi flower

ऊपर बताये गए प्लांट्स के अलावा कुछ और प्लांट्स भी है जो कि प्रदूषण को कम करने में बहुत ही अहम् भूमिका निभाते हैं. इनके नाम है; बैंबू पाम, ड्रेकेयना रिफ्लेक्सा, चाइनीज एवरग्रीन, पीस लिलीज, इंग्लिश इवी, बोस्टन फर्न, ड्वार्फ डेट पाम, स्पाइडर प्लांट और वीपिंग फिग.
तो अगर आप वायु प्रदूषण से निजात पाने का तरीका तलाश रहे हैं और काफी मात्रा में एयर प्यूरीफायर पर पैसे खर्च कर रहे है तो आप सिर्फ ऊपर बताये गए प्लांट्स अपने घर में लगाइए और वायु प्रदूषण से कम कीमत में टिकाऊ समाधान पाइए.

विश्व जल दिवस की महत्ता और जल के उपयोग से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य