1. Home
  2. Hindi
  3. केन्द्रीय कर्मचारियों को सरकार ने दिया दिवाली का तोहफा, 4 प्रतिशत बढ़ा DA

केन्द्रीय कर्मचारियों को सरकार ने दिया दिवाली का तोहफा, 4 प्रतिशत बढ़ा DA

सरकार से केंद्रीय कर्मचारियों के DA में 4 प्रतिशत की वृद्धि की घोषणा की है. अब कर्मचारियों का महंगाई भत्ता 34 प्रतिशत से बढ़ कर 38 प्रतिशत हो जायेगा. 

DA Hike
DA Hike

केंद्र सरकार के कर्मचारियों को सरकार ने दिवाली से पहले ही दिवाली गिफ्ट दे दिया है. सरकार ने केन्द्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते यानी DA में 4 प्रतिशत की बढ़ोतरी की है. सरकार के इस निर्णय से केंद्र के करीब 50 लाख कर्मचारियों और 70 लाख पेशन भोगियों को बड़ी राहत मिलेगी.   

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट मीटिंग में सरकार ने फैसला किया हैं कि केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में 4 प्रतिशत की बढ़ोतरी की जाएगी. मार्च 2022 में सरकार ने जून तक की अवधि के लिए महंगाई भत्ते को 31 प्रतिशत से बढ़ा कर 34 प्रतिशत किया था. जुलाई से दिसम्बर तक की अवधि के लिए सरकार ने इसमें 4 प्रतिशत की वृद्धि की है जिससे अब ये भत्ता 34 से 38 प्रतिशत हो जाएगा. ये मंहगाई भत्ता 1 जुलाई 2022 से इफेक्टिव होगा.

त्योहारों के इस सीजन में कर्मचारियों को उनके नवीनतम वेतन के साथ इस बकाया का भुगतान भी किया जाएगा और ये  नागरिक कर्मचारियों और रक्षा सेवाओं में कार्यरत लोगों के लिए भी लागू है. केंद्र सरकार हर साल 1 जनवरी और 1 जुलाई को महंगाई भत्ते और महंगाई राहत में संशोधन करती है, लेकिन इस फैसले की घोषणा मार्च और सितंबर में की जाती है। पूर्व में आ रही विभिन्न मिडिया रिपोर्ट्स में ये स्पष्ट हो गया था कि, इस बार केंद्र सरकार कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में 4 प्रतिशत की वृद्धि करने पर विचार कर रही है. 

पीआईबी में दी गई जानकारी के अनुसार, इस वृद्धि से प्रति वर्ष 6,591.36 करोड़ रुपये और वित्तीय वर्ष 2022-23 में 4,394.24 करोड़ रुपये,  पेंशनभोगियों के DA में हुई वृद्धि के कारण प्रति वर्ष 6,261.20 करोड़ रुपये और वित्तीय वर्ष 2022-23 में 4,174.12 करोड़ रुपये, महंगाई भत्ता और महंगाई राहत दोनों के कारण राजकोष पर संयुक्त रूप से प्रति वर्ष 12,852.56 करोड़ रुपये और वित्तीय वर्ष 2022-23 में 8,568.36 करोड़ रुपये का बोझ पड़ेगा।  

वे सभी कर्मचारी जिन्हें 7वें वेतन आयोग के आधार पर वेतन दिया जाता है, उनके 18,000 रु. के मूल वेतन पर डीए में 720 रु. की वृद्धि होगी और यदि मूल वेतन 25,000 तो वेतन में 1,000 रु की वृद्धि प्रति माह होगी.