1. Home
  2. Hindi
  3. कनाडा नगर निगम ने बदला पार्क का नाम अब कहलाएगा “श्रीभगवद गीता पार्क”

कनाडा नगर निगम ने बदला पार्क का नाम अब कहलाएगा “श्रीभगवद गीता पार्क”

  कनाडा में रहने वाले हिन्दू समुदाय के लोगों के प्रति सम्मान व्यक्त करने के लिए एक पार्क का नाम बदलकर श्रीभगवद गीता पार्क रख दिया है . जाने पूरी जानकारी 

canada municipal corporation has changed a park name now called shreemad bhagwad geeta park
canada municipal corporation has changed a park name now called shreemad bhagwad geeta park

कनाडा के ब्रैम्पटन नगर निगम ने कनाडा में रहने वाले हिन्दुओं की भावनाओं का सम्मान करते हुए एक पार्क का नाम बदलकर श्रीभगवद गीता पार्क रख दिया है . कनाडा नगर निगम के अनुसार यह हिन्दू समुदाय के योगदान का प्रतीक रहेगा . 

क्या है पार्क की विशेषताएं : 

ब्रैम्पटन स्थित यह पार्क कोई आम या छोटा पार्क नही है बल्कि यह एक 3.75 एकड़ के दायरे में फैला हुआ पार्क है . इस पार्क का केवल नाम ही नहीं बदला गया है बल्कि जल्द ही इस पार्क में अब हिन्दू धर्म के कुछ अन्य देवताओं के साथ साथ भगवान श्रीकृष्ण और अर्जुन की प्रतिमा भी लगाई जाएगी . 

क्या है ब्रैम्पटन नगर निगम का कहना : 

 पार्क का नाम बदलने के बाद ब्रैम्पटन के मेयर पैट्रिक ब्राउन ने ट्वीट कर कहा की "आज ब्रैम्पटन के ट्रॉयर्स पार्क का नाम बदलकर श्री भगवद गीता पार्क कर दिया. ब्रैम्पटन एक मोज़ेक है, और पार्क का नाम बदलना हिंदू समुदाय और हमारे शहर में उनके योगदान को स्मरण कराता है. हम हमारे शहर में सभी संस्कृतियों और सभी धर्मों का जश्न मनाते हैं. 

नगर निगम के कार्य की हुई सराहना :

ब्रैम्पटन नगर निगम के कार्य की सराहना करते हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री खट्टर का कहना रहा की यह पार्क श्रीभगवद गीता के सार्वभौमिक भाईचारे , प्रेम और सद्भाव के उपदेश को आगे बढाने में सूचक का काम करेगा . 

कनाडा में हिंदूवादी : 

कनाडा में मौजूद धार्मिक समूहों में हिंदूवाद का भी एक समूह है जिसे कनाडा की आबादी के लगभग 1.5% लोगों द्वारा माना जाता है . कैनेडियन हिन्दू मूल रूप से तीन समूहों से ताल्लुक रखते हैं जिनमें से एक भारतीय प्रवासी हैं जो ब्रिटिश राज के दौरान कनाडा पलायन कर गए थे . इनके अलावा कनाडा में मौजूद हिन्दुओं में अधिकाँश रूप से गुजरात और पंजाब मूल के लोग हैं . यह लोग कनाडा में शिक्षा , व्यवसाय व नौकरी इत्यादि के उद्देश्य से बसे हुए हैं . 

कनाडा और भारत के बीच लंबे समय से द्विपक्षीय संबंध हैं जो कि लोकतंत्र, बहुलवाद और मजबूत पारस्परिक संबंधों की साझा परंपराओं पर आधारित हैं। कनाडा भारतीय मूल के कुछ समुदायों के लिए घर के समान है क्योंकि कनाडा में 4% आबादी भारतीय मूल की है .