1. Home
  2. Hindi
  3. केन्द्रीय विश्वविद्यालय CUET PG के माध्यम से एडमिशन को बनाये अनिवार्य : UGC चेयरमैन

केन्द्रीय विश्वविद्यालय CUET PG के माध्यम से एडमिशन को बनाये अनिवार्य : UGC चेयरमैन

UGC चेयरमैन ने केन्द्रीय विश्वविद्यालयों को पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स में एडमिशन के लिए CUET PG को अनिवार्य बनाने को कहा है. 

CUET PG 2023
CUET PG 2023

UGC चेयरमैन एम जगदीश कुमार ने सभी केंद्रीय विश्वविद्यालयों से अगले शैक्षणिक सत्र से कॉमन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट पोस्टग्रेजुएट (सीयूईटी-पीजी) अपनाने का आग्रह किया है। अब तक दिल्ली विश्वविद्यालय सहित देश भर के कई विश्वविद्यालयों ने अपने स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों के लिए सीयूईटी को अनिवार्य किया है.

UGC चेयरमैन के अनुसार, सीयूईटी देश भर के उम्मीदवारों, विशेष रूप से उत्तर-पूर्व, ग्रामीण और अन्य दूरस्थ क्षेत्रों के उम्मीदवारों को एक समान प्लेटफार्म और समान अवसर प्रदान करता है और विश्वविद्यालयों के साथ बेहतर संबंध स्थापित करने में मदद करता है। एकल परीक्षा उम्मीदवारों को एक व्यापक आउटरीच को कवर करने और विभिन्न केंद्रीय और भाग लेने वाले अन्य विश्वविद्यालयों में प्रवेश प्रक्रिया का हिस्सा बनने में सक्षम बनाती है। इस परीक्षा के आयोजन की जिम्मेदारी राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (NTA) को सौंपी गई है.

UGC द्वारा जारी नोटिफिकेशन के अनुसार शैक्षणिक वर्ष 2023-24 के लिए CUET PG परीक्षा 1 जून से 10 जून 2023 तक आयोजित की जाएंगी जबकि परीक्षा के रिजल्ट जुलाई के पहले सप्ताह में घोषित किए जाएंगे. पिछले साल, पहली बार सीयूईटी यूजी और पीजी की संयुक्त परीक्षाओं का आयोजन किया गया था और सीयूईटी पीजी परीक्षा 1 सितंबर से 12 सितंबर तक आयोजित की गई थी और परिणाम 26 सितंबर को घोषित किया गया था परीक्षाओं के देर से होने के कारण सत्र भी देर से शुरू हो पाया था लेकिन इस वर्ष परीक्षा के कार्यक्रम को पहले से ही घोषित कर दिया गया है ताकि इस वर्ष परीक्षा का सत्र समय से शुरू हो सके.  

UGC प्रमुख के अनुसार, यदि सभी केंद्रीय विश्वविद्यालय सीयूईटी-पीजी में वैसे ही शामिल होते हैं जैसे उन्होंने सीयूईटी-यूजी के लिए किया है, तो यह देश भर के छात्रों के लिए सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालयों में प्रवेश के अवसरों को बढ़ाएगा साथ ही उन्होंने कहा मैं सभी केन्द्रीय विश्वविद्यालयों से पीजी कार्यक्रमों में प्रवेश के लिए सीयूईटी-पीजी स्कोर का उपयोग करने का आग्रह करता हूं.

दिल्ली विश्वविद्यालय ने पहले ही घोषणा की है कि वो अगले शैक्षणिक सत्र से अपने सभी पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए सीयूईटी यूजी और पीजी स्कोर को अपनाएगा। विश्वविद्यालय ने 8 दिसंबर को अपनी कार्यकारी परिषद की बैठक के बाद अपने फैसले की घोषणा की थी। अब प्रवेश के लिए छात्रों का आकलन करने के लिए DUET के बजाय CUET PG स्कोर का उपयोग किया जाएगा