1. Home
  2. Hindi
  3. Gujrat Election 2022: क्या आम आदमी पार्टी अब बनेगी राष्ट्रीय पार्टी? जानें कैसे मिलती है किसी राजनीतिक दल को राष्ट्रीय पार्टी की मान्यता

Gujrat Election 2022: क्या आम आदमी पार्टी अब बनेगी राष्ट्रीय पार्टी? जानें कैसे मिलती है किसी राजनीतिक दल को राष्ट्रीय पार्टी की मान्यता

 गुजरात और हिमाचल प्रदेश विधान सभा के रिजल्ट घोषित हो चुके हैं इसके साथ ही देश में राष्ट्रीय पार्टी की संख्या भी बढ़ गई है. आइये जानें अब कौन सी पार्टी है जिसे मिल रही है राष्ट्रीय पार्टी की मान्यता 

National Party
National Party

Gujrat Election 2022:   गुजरात और हिमाचल विधान सभा चुनाव के नतीजे आ चुके हैं  घोषित रिजल्ट के आधार पर गुजरात में जहाँ भारतीय जनता पार्टी की पुन: सरकार बन रही है तो वहीं हिमाचल में कांग्रेस सत्ता में आ रही है. हाल  ही जारी दिल्ली नगर निगम चुनावों में आम आदमी पार्टी ने बीजेपी का 15 साल पुराना किला ध्वस्त कर दिया है, इसी के साथ ही आप ने  गुजरात चुनावों में 5  सीटों पर जीत दर्ज की  है. जिसके बाद इसके राष्ट्रीय पार्टी बनने का रास्ता साफ हो गया है , ऐसी संभावना आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय नेता और दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने जताई है.

 


मनीष सिसोदिया ने अपने ट्वीटर हैंडल से एक ट्वीट करते हुए कहा है कि, गुजरात की जनता के वोट से आम आदमी पार्टी आज राष्ट्रीय पार्टी बन रही है. देश ने आज पहली बार शिक्षा और स्वास्थ्य की राजनीति राष्ट्रीय राजनीति में अपनी पहचान बना रही है. इसके लिए पूरे देश को बधाई. उल्लेखनीय है कि दिल्ली और पंजाब के साथ ही आप के गोवा में भी विधायक हैं.

देश में तीन तरह के राजनीतिक दल हैं राष्ट्रीय पार्टी, राज्य स्तरीय पार्टियाँ और क्षेत्रीय पार्टियाँ. देश में अभी 8 पार्टियाँ ऐसी हैं जिन्हें राष्ट्रीय पार्टी की मान्यता प्राप्त है- भारतीय जनता पार्टी, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस, बहुजन समाज पार्टी, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी, नेशलिस्ट कांग्रेस पार्टी, नेशनल पीपल्स पार्टी और तृणमूल कांग्रेस राष्ट्रीय.

जबकि समाजवादी पार्टी, शिव सेना, जेडीयू आदि राजनीतिक दल क्षेत्रीय पार्टियों के अंतर्गत आते हैं.

आप ने तीन राज्यों दिल्ली, पंजाब और गोवा में एक राज्य स्तरीय पार्टी की मान्यता प्राप्त कर ली है. निर्वाचन आयोग के नियमों के अनुसार अगर कोई राजनीतिक दल चार राज्यों में राज्य स्तरीय पार्टी का दर्जा प्राप्त कर ले तो उसको राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा प्राप्त हो जाता है.

आखिर क्या होतीं हैं किसी राजनीतिक दल के लिए राष्ट्रीय पार्टी बनने की शर्ते ?

किसी भी राजनीतिक दल को राष्ट्रीय दल की मान्यता प्राप्त करने के लिए चुनाव आयोग की कुछ शर्तों को पूरा करना होता है. इसके लिए 3 मानक निर्धारित हैं.
 

  • यदि कोई राजनीतिक दल तीन अलग-अलग राज्यों में कुल लोकसभा की 2% सीटें प्राप्त करता है तो उसे राष्ट्रीय दल का दर्ज़ा मिल जाता है. आसान शब्दों में कहें तो किसी राजनीतिक दल को राष्ट्रीय दल का दर्ज़ा पाने के लिए 3 अलग-अलग राज्यों में कुल 11 लोकसभा सीटों पर जीत दर्ज़ करनी होती है. 
  • किसी राजनीतिक दल को लोकसभा या विधानसभा के चुनाव में 4 राज्यों में कुल मतों में से 6 प्रतिशत वोट मिलें हों. साथ ही उस राजनीतिक दल ने लोकसभा की भी 4 सीटों पर जीत दर्ज़ की हो. 
  • किसी राजनीतिक दल को 4 या उससे अधिक राज्यों में राज्य स्तरीय दल के रूप में मान्यता प्राप्त हो. 

क्या लाभ मिलता है राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा प्राप्त करने से ?

  • राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा मिलने के बाद आप के उम्मीदवार अब बैलेट या ईवीएम के उम्मीदवारों के क्रम में ऊपर नजर आ सकेंगे.

     

  • आम आदमी पार्टी को राजधानी दिल्ली में एक दफ्तर मिल जाएगा. 

     

  • अब आम आदमी पार्टी को अधिकार होगा कि वह हर राज्य में वोटर लिस्ट मुफ्त में पा सके

     

  • नेशनल लेवल पर अब आम आदमी पार्टी 20 से ज्यादा स्टार कैंपेनरों को अपनी लिस्ट में शामिल कर सकती है. 

     

  • राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा प्राप्त होने के बाद आप को अब नेशनल लेवल के चुनाव में आम लोगों को संबोधित करने के लिए रेडियो और टेलीविजन फ्री एयरटाइम मिल सकेगा.