1. Home
  2. Hindi
  3. Hindu Studies: दिल्ली विश्वविद्यालय में जल्द शुरू होगी हिन्दू स्टडीज की पढाई, गठित हुआ पैनल

Hindu Studies: दिल्ली विश्वविद्यालय में जल्द शुरू होगी हिन्दू स्टडीज की पढाई, गठित हुआ पैनल

दिल्ली विश्वविद्यालय में जल्द ही सेंटर फॉर हिन्दू स्टडीज की शुरूआत होने वाली है इसके लिए विश्व विद्यालय द्वारा एक 17 सदस्यी पैनल भी गठित किया गया है. यहाँ देखें पूरी रिपोर्ट 

हिन्दू स्टडीज सेंटर -दिल्ली विश्वविद्यालय
हिन्दू स्टडीज सेंटर -दिल्ली विश्वविद्यालय

Hindu Studies: दिल्ली विश्वविद्यालय में जल्द ही हिन्दू स्टडीज की पढाई शुरू होने वाली है. इसके लिए विश्वविद्यालय द्वारा 17 सदस्यी कमेटी भी गठित कर ली गई है. विश्वविद्यालय में अब हिन्दू सेंटर ऑफ़ स्टडीज की स्थापना की जायेगी जिसमे उम्मीदवारों को हिन्दुओं का इतिहास पढ़ाया जायेगा. विभिन्न मिडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, डीयू के साउथ कैंपस के निदेशक प्रकाश सिंह इस पैनल के प्रमुख होंगे, हालांकि, अकादमिक परिषद के कुछ सदस्यों ने ऐसे स्टडी सेंटर की आवश्यकता पर सवाल उठाया.

देश भर में ऐसे 23 विश्वविद्यालय हैं जहाँ हिन्दू स्टडीज की पढाई करवाई जाती है. हालाँकि डीयू में अभी केवल बौद्ध स्टडीज पर अध्ययन केंद्र की स्थापना की है. इसी कारण विश्वविद्यालय में हिन्दू स्टडीज की स्थापना का सुझाव भी आया है और जल्द ही इसकी शुरूआत हो सकती है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, प्रकाश सिंह ने बताया है कि, "हमारे यहां बौद्ध अध्ययन का केंद्र है, लेकिन हिंदू अध्ययन का केंद्र नहीं है इसी कारण हमने सोचा कि हिंदू अध्ययन के लिए भी एक केंद्र खोलना चाहिए."

उन्होंने कहा कि समिति सबसे पहले केंद्र की आवश्यकता का निर्धारण करने और फिर उसके अनुसार पाठ्यक्रम शुरू करने पर रिपोर्ट बनाएगी. यदि इस पाठ्यक्रम की जरूरत लगी तो सबसे पहले ये पोस्ट ग्रेजुएट लेवल और रिसर्च लेबल पर शुरू किया जायेगा. बाद में इसे यूजी लेवेल पर भी शुरू किया जायेगा. कमेटी तय करेगी कि, कितने कोर्स शुरू किए जाएंगे और ये कब से शुरू किये जायें यानी ये कोर्स इस साल से या अगले साल से शुरू किए जाएंगे या नहीं। पैनल ने निकट भविष्य में अकादमिक परिषद के समक्ष रूपरेखा प्रस्तुत करने की भी योजना बनाई है.

हालांकि रिपोर्ट्स के अनुसार, विश्वविद्यालय के इस निर्णय से कुछ अकादमिक परिषद के सदस्य सहमत नहीं है उनका कहना है ऐसे केंद्र अन्य धर्मों की पढाई के लिए भी खोले जाने चाहिए केवल हिन्दू स्टडीज के लिए नहीं.  

प्रकाश सिंह के अनुसार, हम केवल हिंदू धर्म का धार्मिक हिस्सा देखते हैं, हिंदू जीवन-जीने का एक तरीका है और धर्म उसका एक पहलू मात्र है. हमारा हजारों साल पुराना इतिहास है और केंद्र इस पहलू पर ध्यान देगा.

समिति के अन्य सदस्यों में प्रो पायल मागो, प्रोफेसर के रत्नाबली, प्रोफेसर सीमा बावा, प्रोफेसर संगीत कुमार रागी, प्रोफेसर अनिल कुमार अनेजा.