1. Home
  2. Hindi
  3. White Shipping Agreement: भारत और न्यूजीलैंड के मध्य 'व्हाइट शिपिंग इंफॉर्मेशन एक्सचेंज' समझौता, जानें क्या होता है, व्हाइट शिपिंग एग्रीमेंट?

White Shipping Agreement: भारत और न्यूजीलैंड के मध्य 'व्हाइट शिपिंग इंफॉर्मेशन एक्सचेंज' समझौता, जानें क्या होता है, व्हाइट शिपिंग एग्रीमेंट?

White Shipping Agreement: भारतीय नौसेना ने हाल ही में समुद्री क्षेत्रों में अधिक पारदर्शिता को बढ़ावा देने के लिए न्यूजीलैंड की रॉयल नेवी के साथ व्हाइट शिपिंग इंफॉर्मेशन एक्सचेंज पर एक समझौते पर हस्ताक्षर किए है. जानें क्या होता है, व्हाइट शिपिंग एग्रीमेंट? 

भारत और न्यूजीलैंड के मध्य 'व्हाइट शिपिंग इंफॉर्मेशन एक्सचेंज' समझौता
भारत और न्यूजीलैंड के मध्य 'व्हाइट शिपिंग इंफॉर्मेशन एक्सचेंज' समझौता

White Shipping Agreement: भारतीय नौसेना ने हाल ही में समुद्री क्षेत्रों में अधिक पारदर्शिता को बढ़ावा देने के लिए न्यूजीलैंड की रॉयल नेवी के साथ व्हाइट शिपिंग इंफॉर्मेशन एक्सचेंज पर एक समझौते पर हस्ताक्षर किए है. इस बात की घोषणा रक्षा मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कही है. नौसेना प्रमुख एडमिरल आर हरि कुमार ने हाल ही में न्यूजीलैंड का दौरा किया था.

नौसेना प्रमुख एडमिरल आर हरि कुमार को रॉयल न्यूज़ीलैंड नेवी द्वारा ते तौआ मोआना मारा में आयोजित पारंपरिक पोहिरी समारोह में गार्ड ऑफ ऑनर प्रदान किया गया था.

क्या होता है व्हाइट शिपिंग एग्रीमेंट?

व्हाइट शिपिंग इंफॉर्मेशन एक्सचेंज एक तकनीकी शब्द है. यह दो देशों के समुद्री क्षेत्रों के अंतर्गत वाणिज्यिक जहाजों से सम्बंधित सूचना का नौसेनाओं के बीच विनिमय समझौते से संबंधित है. व्हाइट शिपिंग जानकारी वाणिज्यिक गैर-सैन्य व्यापारी जहाजों की आवाजाही और पहचान पर पूर्व सूचना के आदान-प्रदान को संदर्भित करती है.

यह एक सूचना नेटवर्क प्रोटोकॉल स्थापित करता है जो दोनों देशों की नौसेनाओं को अपने समुद्री क्षेत्रों में जहाजों के बारे में जानकारी का आदान-प्रदान करने की अनुमति देता है. भारत व्हाइट शिपिंग इंफॉर्मेशन एक्सचेंज अमेरिका के साथ भी कर चुका है. 

व्हाइट शिपिंग एग्रीमेंट क्यों किया जाता है?

व्हाइट शिपिंग एग्रीमेंट किसी देश की समुद्री सुरक्षा के लिए एक महत्वपूर्ण भाग है, इस एग्रीमेंट की मदद से कोई देश अपनी सुरक्षा को मजबूत कर सकता है. क्योंकि इसके तहत किसी समुद्री जहाज के उसके तट पर आने से पहले उसकी पूरी जानकारी उस देश की नौसेना के पास मौजूद रहेगी.

समुद्री मार्गों से किसी भी संभावित खतरे से निपटने के लिए जहाजों की पहचान के बारे में जानकारी बेहद जरुरी है. साथ ही यह विशेष रूप से एक उचित क्षेत्रीय समुद्री डोमेन जागरूकता के विकास में भी मदद करता है. भारतीय नौसेना को 36 देशों के साथ व्हाइट शिपिंग समझौते करने की मंजूरी मिल है, जिनमें से 22 से अधिक देशों के साथ इस पर हस्ताक्षर किए जा चुके हैं. 

नौसेना प्रमुख एडमिरल आर हरि कुमार का न्यूज़ीलैंड दौरा:

  • नौसेना प्रमुख एडमिरल आर हरि कुमार ने रियर एडमिरल डेविड प्रॉक्टर, नौसेना प्रमुख, रॉयल न्यूज़ीलैंड नेवी के साथ विभिन्न द्वीपक्षीय मुद्दों पर विस्तृत विचार-विमर्श किया.
  • मिलन-22: साथ ही नौसेना प्रमुख ने रॉयल न्यूज़ीलैंड नेवी नेतृत्व को मिलन-22 में सक्रिय भागीदारी के लिए बधाई दी है.
  • एडमिरल्स कप सेलिंग रेगाटा: दिसंबर 2022 में आयोजित होने वाले एडमिरल्स कप सेलिंग रेगाटा में रॉयल न्यूज़ीलैंड नेवी नेतृत्व के पहली बार शामिल होने के लिए शुभकामनाएं दी है. 
  • इंडो-पेसिफिक क्षेत्र: दोनों देशों के नौसेना प्रमुखों के मध्य इंडो-पेसिफिक रीजन में भागीदारी बढ़ाने पर भी चर्चा हुई.