1. Home
  2. Hindi
  3. 2020 में बनीं IPS, 2022 की Mains परीक्षा में फेल, नीरजा शाह ने एग्जाम को बताया नियंत्रण से बाहर

2020 में बनीं IPS, 2022 की Mains परीक्षा में फेल, नीरजा शाह ने एग्जाम को बताया नियंत्रण से बाहर

यह जरूरी नहीं है कि यदि किसी अभ्यर्थी ने संघ लोक सेवा आयोग(यूपीएससी) की सिविल सेवा परीक्षा को एक बार क्रैक कर लिया है, तो वह अगली बार भी सफल होगा। इसका ताजा उदाहरण दिया है 2020 बैच की आईपीएस अधिकारी नीरजा शाह ने। नीरजा इस बार 2022 की मेंस की परीक्षा में असफल हुई, जिसके बाद उन्होंने सोशल मीडिया पर सिविल परीक्षा को कई सारे कारकों से जोड़ते हुए नियंत्रण से बाहर बताया है।

नीरजा शाह, 2020 में बनीं IPS, 2022 की Mains परीक्षा में हुई फेल
नीरजा शाह, 2020 में बनीं IPS, 2022 की Mains परीक्षा में हुई फेल

यह जरूरी नहीं है कि यदि किसी अभ्यर्थी ने संघ लोक सेवा आयोग(यूपीएससी) की सिविल सेवा परीक्षा को एक बार क्रैक कर लिया है, तो वह अगली बार भी सफल होगा। इसका ताजा उदाहरण दिया है 2020 बैच की आईपीएस अधिकारी नीरजा शाह ने। नीरजा इस बार 2022 की मेंस की परीक्षा में असफल हुई, जिसके बाद उन्होंने सोशल मीडिया पर सिविल परीक्षा को कई सारे कारकों से जोड़ते हुए नियंत्रण से बाहर बताया है।

 

यूपीएससी ने बीते मंगलवार को सिविल सेवा परीक्षा के मेंस के नतीजे जारी कर दिए हैं, जिसमें कुल 2529 अभ्यर्थियों ने साक्षात्कार राउंड के लिए जगह बनाई है। मेंस परीक्षा में नए अभ्यर्थियों के साथ कुछ पुराने अभ्यर्थियों ने भी अपना भाग्य आजमाया था। इसी में शामिल थी 2020 बैच की आईपीएस नीरजा शाह, जो इस बार की मेंस परीक्षा में फेल हो गईं। उन्होंने इसे लेकर सोशल मीडिया पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। 

नीरजा शाह वर्तमान में पश्चिम बंगाल कैडर की आईपीएस अधिकारी हैं। उन्होंने साल 2020 में 213 रैंक के साथ सिविल सेवा परीक्षा पास की थी, जिसके बाद उन्हें पुलिस सेवा मिली थी। इससे पहले नीरजा ने सिविल सेवा के दो अटैमप्ट दिए थे, लेकिन दोनों बार प्रिलिम्स की परीक्षा में असफलता हाथ लगी। वहीं, चौथी बार वह मेंस की परीक्षा में असफल हुई हैं। 

नीरजा ने ट्वीटर पर परीक्षा को Humbling बताते हुए लिखा है कि 2020 में सिविल सेवा में 213 रैंक हासिल करने के बाद 2022 का मेंस पास नहीं हुआ। आप अंत में देखते हैं कि यह परीक्षा आपके नियंत्रण से परे इतने सारे कारकों के बारे में है। यह सीखने की कोशिश की जा रही है कि अपनी सफलताओं के साथ-साथ अपनी असफलताओं के बारे में कैसे बात की जाए!
<blockquote class="twitter-tweet"><p lang="en" dir="ltr">Didn’t clear UPSC mains after getting Rank 213 in UPSC 2020, it’s genuinely humbling. You finally see that this exam is about so many factors beyond your control 🫠<br>Trying to learn how to talk about my failures as much as my successes! IPS West Bengal it is 👮🏽💕</p>&mdash; Nirja Shah (@nirja04) <a href="https://twitter.com/nirja04/status/1600116479659155456?ref_src=twsrc%5Etfw">December 6, 2022</a></blockquote> <script async src="https://platform.twitter.com/widgets.js" charset="utf-8"></script>

नीरजा शाह ने गुजरात राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय से अपनी कानून की पढ़ाई पूरी की है। साथ ही उन्होंने legislative Assistants to members of Parliament(LAMP) फेलोशिप भी प्राप्त की है।