1. Home
  2. Hindi
  3. दुनिया के वो सात रेलवे रूट्स , जिनपर गुज़रने से डरते है लोग

दुनिया के वो सात रेलवे रूट्स , जिनपर गुज़रने से डरते है लोग

अगर आपको भी ट्रेन से सफर करना अच्छा लगता है तो यकीनन यह खबर आप ही के लिए है। जानिए वो कौन से  रेलवे रूट्स हैं जिनके साथ जुड़ी है कोई न कोई अलग कहानी ।

 

Know about the worlds seven rail routes on which people are afraid of passing
Know about the worlds seven rail routes on which people are afraid of passing

 ट्रेन का सफ़र किसे पसंद नहीं होता , जहाँ एक ओर ट्रेन का किराया सस्ता होता है वहीं दूसरी ओर इससे दिखने वाले नज़ारे यात्रा का आनंद बढ़ा देते हैं जो इस यात्रा में चार चांद लगा देता है ।  रेलवे ने जीवन को आसान तो बनाया हुआ है वहीं  कुछ ऐसे भी रास्ते हैं जिनपर गुज़रने से पहले लोगों को खौफ़ महसूस होता है यही कारण है कि इन रास्तों पर गुज़रने से पहले यात्री डर से कांपना शुरू कर देते हैं । 

अगर आप भी ट्रेन से सफर करना पसंद करते हैं तो अपनी अगली यात्रा से पहले इन खौफनाक रास्तों के बारे में भी अवश्य जान लें। 

रामेश्वरम रेलवे रूट 

source : quora.com

भारत के चेन्नई को रामेश्वरम से जोड़ने वाला यह रेलवे स्टेशन , दुनिया के उन खौफनाक रेलवे रूट्स में आता है जिनसे सफर करते हुए यात्रियों को कुछ ख़ास ही अनुभव होता है । यह रेलवे ट्रेक न केवल खतरनाक है बल्कि इससे गुज़रने वालों को साहसी भी होना पड़ता है। इस रूट की ट्रेन मेें बैठे यात्रियों को समुद्र के ऊपर 100 साल पुराने  ब्रिज से होकर गुज़रना पड़ता है और यह ब्रिज भी खौफ़नाक माना जाता है , यदि मौसम ठीक न हो तो समुद्र की लहरें ऊपर तक आ जाती हैं । इस ट्रेन पर सफ़र करने वालों का मानना है कि  ट्रेन के साथ यह ब्रिज भी मानों हिल रहा हो। 

मिनामी एसो ट्रेक 

source : peaklife.in

जापान का यह मिनामी एसो ट्रेक , उन खौफनाक रेलवे रूट्स में अपना नाम इसलिए शामिल करता है क्योंकि यहाँ कब ज्वालामुखी विस्फोट हो जाएं इसके बारे में किसी को खबर नहीं होती । आखिरी बार जब यहाँ ज्वालामुखी विस्फोट हुआ था तब आस-पास के परिदृश्य को इससे बेहद नुकसान पहुँचा था और साथ ही यात्रियों को भी इससे जान का खतरा लगा हुआ था । इसके अलावा रेलवे लाइन लोहे के ऐसे ब्रिज से गुज़रती है जिसको पहली बार में देखने पर मन में यह सवाल उठ सकता  है कि कहीं यह ब्रिज टूट तो नहींं जाऐगा। इस रेलवे ट्रेक से होने वाली दुर्घनाओं की कड़ी यहीं समाप्त नहीं होती ,2016 में आए भूकंप ने इस रेलवे ट्रैक के हिस्से को नुकसान पहुँचाया था जिसके कारण इसके प्रयोग पर भी असर दिखाई दिया है।

केप टाउन 

source : mikeandlauratravel.com

दक्षिण अफ्रिका के केप टाउन में स्थित रेलवे स्टेशन न तो अपनी बनावट और न ही किसी और भयावह घटना के कारण इस सूची में शामिल है बल्कि यहाँ होने वाली चोरी-डकैती की घटनाओं ने इस रेलवे स्टेशन के यात्री परेशान हैं । यहाँ अक्सर चोरी और हमलें की खबरें सामने आती है जिनके कारण अधिकांश तौर पर 10 में से 1 ट्रेन को रद्द करना पड़ता है और इसी कारण से यहाँ का रेलवे संचालन सुचारु रूप से कार्य नहीं कर पाता। 

व्हाइट पास और युकोन रूट 

source : organesmile.com

व्हाइट पास और युकोन रूट अलास्का से व्हाइटहॉर्स , युकोन बंदरगाह को जोड़ने का काम करता है । यह ट्रेक डरावना तो ज़रूर है लेकिन इसकी यात्रा करना एडवेंचरस भी माना जाता है । अलास्का के ट्रेन रूट पर यात्रियों को बेहद खूबसूरत नज़ारे देखने  को मिलते हैं , लेकिन यह खतरनाक इसलिए माना जाता है कि ट्रेक ज़मीन से 3000  फीट की ऊँचाई पर है जिसे बनाने के लिए पहाड़ों को विस्फोट से तोड़ा गया था। कुछ ब्रिज सपॉर्ट आज भी लकड़ी के हैें इनके अलावा  ट्रेन को गहरे अंधेरे वाले टनल से होकर गुज़रना पड़ता है जो कि यात्रियों को खास लुभाने की जगह डरावना ही लगता है। 

द डेथ रेलवे , थाईलैंड

source : thedailybeast.com

थाइलैंड का डेथ रेलवे , जिसे बर्मा रेलवे भी कहा जाता है , 415 किलोमीटर लंबा रुट है जोकि थाईलैंड के बेन

पोंग को बर्मा से जोड़ता है । यह रास्ता भयानक जंगलों और खतरनाक पहाड़ों से होकर गुज़रता है । डेथ रेलवे

का इस्तेमाल द्वितीय विश्वयुद्ध में हथियारों के आवागमन के लिए किया जाता था । इसके अलावा द डेथ

रेलवे को इसलिए भी खतरनाक माना जाता है क्योंकि इसकी संरचना के दौरान हज़ारों मज़दूर मौत के घाट

उतार गए ।

जॉर्जटाउन लूप रेलरुट

source : dreamstime.com

जॉर्जटाउन लूप रेलरुट की संरचना अपने समय की अनोखी संरचनाओं में से एक है जो कि इसे कोलोराडो

की विशेष जगहों का दर्जा भी देता है । इस रेलवे रूट की विशेष बात यह है कि 4.5 किलोमीटर के सफर को

तय करने के लिए यहाँ से गुज़रने वाली ट्रेन को 640 फ़ीट की ऊंचाई पर चढ़ना पड़ता है और यह रास्ता पूरी

तरह से चट्टानों और पहाड़ों का है इसके अलावा ट्रेन को यह रास्ता पार करने के लिए 100 फ़ीट ऊँचें डेविल्स

गेट हाई ब्रिज से होकर गुज़रना पड़ता है और इस पुल को पार करते वक़्त  तेज़ हवाएं चलती है जिसके कारण संतुलन  खोने के डर से ट्रेन की गति को धीमा किया जाता है।

ट्रेन टू द क्लाउड, अर्जेंटीना

source : englishnewstracklive.com

इस ट्रेन का नाम आपको सुनकर भले ही थोड़ा अजीब लग रहा होगा परंतु इसका यथार्थ उतना ही रोमांचक है।

जी हाँ , जैसा इस ट्रेन का नाम है वैसा ही अनुभव यह अपने यात्रियों को देती भी है ।अर्जेंटीना में समुद्र तल से

4000 मीटर की ऊंचाई पर एंडीज पर्वत श्रृंखला से घिरी हुई इस जगह से ट्रेन होकर गुजरती है, और जब दोनों

तरफ बादल होते हैं तो यह ट्रेन को पूरी तरह से घेर लेते हैं जिससे कि ट्रेन इन बादलों के बीच से गुज़रती है ।

हालांकि यह नज़ारा लोगों के लिए रोमांचक ज़रूर है पर फिर भी उस वक़्त यात्रियों को अपनी सुरक्षा की चिंता भी सताती रहती है।

डेविल्स नोज़, इक्वाडोर 

source: amusingplanet.com

इक्वाडोर में स्थित डेविल्स नोज़ को नरीज़ डेल डियाब्लो के रूप में भी जाना जाता है। यह रेलवे ट्रेक समुद्र तल से 9000 फीट की ऊंचाई पर  इस ट्रैक का नाम डेविल इसके निर्माण और लेआउट के कारण पड़ा है । इस ट्रैक के निर्माण के दौरान इस इलाके को भूकंप, भारी वर्षा, ज़हरीले सांप, मलेरिया, पेचिश और पीले बुखार जैसी परेशानियों का सामना करना पड़ा , जिसके कारण इसके निर्माण में भी ज़्यादा वक्त लग गया था । सैकड़ों फीट नीचे गिरने वाली चट्टानें और घुमावदार मोड़ इस रूट की यात्रा को और एडवेंचरस बना देते हैं। 

 यह सात रेलवे रूट्स अपने साथ जुड़ी अलग कहानियों के कारण हमेशा ही चर्चा का विषय बने रहते हैं।  ट्रेन के सफर के शौकीन लोगों के लिए इनकी पीछे छुपी कहानियों कोजानना बेहद रोमांचक है । दुनिया के इन सात रेलवे रूट्स की यात्रा सुखद व आरामदायक बनाने के लिए सरकारें भी लगातार प्रयास में लगी रहती हैं।