1. Home
  2. Hindi
  3. जानें भारतीय संस्कृति का प्रदर्शन करने वाले नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट की विशेषताएं

जानें भारतीय संस्कृति का प्रदर्शन करने वाले नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट की विशेषताएं

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के निर्माण का कार्य पूरे ज़ोर-शोर से चल रहा है.यह एयरपोर्ट पश्चिमी उत्तर प्रदेश में बनने वाला पहला एयरपोर्ट है. इस एयरपोर्ट के निर्माण में देसी संस्कृति देखने को मिलेगी. यहाँ पढ़ें पूरी जानकारी. 

know the features of noida international airport showcasing Indian culture
know the features of noida international airport showcasing Indian culture

उत्तर प्रदेश में स्थित नोएडा में एक इंटरनेशनल एयरपोर्ट का निर्माण किया जा रहा है. यह इंटरनेशनल एयरपोर्ट जेवर में बनाया जा रहा है. यह एयरपोर्ट सरकार की एक बहुत महत्वपूर्ण योजना साबित होने वाला है. नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के पहले  चरण का काम वर्ष 2024 के अंत तक पूरा हो जाएगा और तब से ही वहां विमान उड़ान भरना भी शुरू कर देंगे.फिलहाल इस इंटरनेशनल एयरपोर्ट का निर्माण करने वाली कंपनी की ओर से निर्माण कार्य से जुड़े कुछ ज़रूरी अपडेट बताये गये हैं.

बड़ी संख्या में कर रही है लेबर काम 

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट की कंपनी के चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर के द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार एयरपोर्ट की लोकेशन पर पूरे ज़ोर-शोर से काम चल रहा है. फिलहाल निर्माण साइट पर 1000 लोग काम कर रहे है. प्राप्त हुई जानकारी के अनुसार 60 प्रतिशत मज़दूर स्थानीय हैं .

एयरपोर्ट पर टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड की ओर से टर्मिनल बिल्डिंग और सपोर्ट बिल्डिंग का निर्माण कार्य शुरू किया जा चुका है व रनवे की भूमि को समतल करने का कार्य किया जा रहा है. इसके अलावा पेड़ों के प्रत्यारोपण का कार्य भी किया जा रहा है 

एयरपोर्ट के डिज़ाइन में दिखेगी बनारस की झलक

 source: udaybhoomi

नोएडा में बन रहे इस इंटरनेशनल एयरपोर्ट के निर्माण में भारतीय संस्कृति का प्रयोग किया जा रहा है व विशेष रूप से उत्तर प्रदेश की संस्कृति की झलक को देखा जा सकेगा है. चीफ ऑपरेटर किरण जैन के अनुसार बाहरी कोर्ट की सीढ़ियां वाराणसी और हरिद्वार में स्थित प्रसिद्द घाटों से प्रेरित होंगी. 

एयरपोर्ट के अंदर के डिज़ाइन को एक हवेली का लुक दिया जाएगा. प्राप्त जानकारी के अनुसार अंदर की तरफ एक ऐसा कोर्टयार्ड तैयार किया जाएगा जिसे देखकर ऐसा प्रतीत होगा की मानो किसी घर का आंगन हो. इनके अलावा उत्तर प्रदेश की महत्वपूर्ण नदियों की धारा की तर्ज पर लहरदार छत भी बनाई जाएगी.

प्रतिमाह 10 लाख लोग करेंगे सफर 

source: good news today

कंपनी को उम्मीद है वर्ष 2024 में एयरपोर्ट के पहले चरण का काम पूरा हो जाने के बाद प्रति वर्ष 12 मिलियन लोग यात्रा कर सकेंगे अर्थात् इस एयरपोर्ट पर हर महीने 10 लाख लोग सफ़र करेंगे. पहले चरण का काम पूरा होने के बाद एयरपोर्ट से ढाई लाख कार्गो की आवाजाही का काम भी हर वर्ष किया जाया करेगा. 

इसके अलावा एयरपोर्ट के चौथे चरण का काम पूरा हो जाने के बाद प्रति वर्ष 70 मिलियन लोग यहाँ सफ़र कर पाएंगे.

“हवाई चप्पल वाले यात्री भी करेंगे यात्रा” 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का सपना था की हवाई चप्पल पहने यात्री भी प्लेन में सफ़र कर सकें. नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट पश्चिमी उत्तर प्रदेश में बना पहला एयरपोर्ट है जिसके कारण यह उम्मीद जताई जा रही है की ऐसे भी बहुत सी यात्री होंगे जो की प्लेन में पहली बार सफ़र करेंगे. 

आम लोगों के लिए एयरपोर्ट को इस लिहाज़ से बनाया जाएगा की उन्हें यह न लगे की वह कहीं अंजान जगह पर आ गये है बल्कि उनकी यात्रा को सुगम बनाने के लिए एक टीम को तैनात किया गया है जो की उन्हें गाइड करेगी.