1. Home
  2. Hindi
  3. Parle -G में क्या है G का मतलब , जानिये इसके पीछे की कहानी

Parle -G में क्या है G का मतलब , जानिये इसके पीछे की कहानी

 भारत में बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक सभी की जुबां पर  Parle -G का स्वाद है . लेकिन क्या कभी आपने यह सोचने की कोशिश की है की Parle -G में G का मतलब क्या होता है , यदि नहीं तो यहाँ जानिये इसकी कहानी .

 know the story behind g in parle g
know the story behind g in parle g

यकीनन आपने अपने बचपन से लेकर आज तक कभी न कभी Parle -G खाया तो ज़रूर ही होगा. चाहे इसकी पैकिंग बदलें या फिर कुछ और लेकिन एक चीज़ जो कभी नही बदलती वह है इसका स्वाद.  Parle -G के शुरू होने से लेकर अब तक इसके स्वाद में कोई भी परिवर्तन नहीं आया है , अपने इसी स्वाद के दम पर  Parle -G बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक की पसंद बना हुआ है  भारत में  Parle -G केवल एक बिस्कुट का नाम नही बल्कि बिस्कुट शब्द का पर्याय ही बन चुका है लेकिन क्या आपने कभी यह सोचा है की Parle -G में ये G का क्या मतलब है यदि नहीं तो इस लेख में पढ़ें पूरी जानकारी लेकिन साथ ही इससे जुड़ी कुछ अन्य बातें भी जान लेते हैं 

कब हुई शुरुआत  

Parle कम्पनी की शुरुआत  वर्ष 1929 में हुई थी . लेकिन Parle -G बिस्कुट को सबसे पहले 1938 में बनाया गया था जिसके बाद से लेकर आज तक यह बिस्कुट भारतीय परिवारों का एक हिस्सा है लेकिन उस वक्त इसका नाम यह नही था  . ख़ास तौर पर 90 के दशक के बच्चों को यकीनन ही यह याद होगा की अक्सर शाम की चाय के साथ Parle -G ज़रूरी हिस्सा था. उस समय Parle -G के विज्ञापन भी काफी लोकप्रिय हुआ करते थे विशेषकर पैकेट पर छपी लड़की की तस्वीर अपने आप में आकर्षण का कारण थी . यहीं कारण है की आज तक Parle -G के पैकेट पर उसी लड़की की तस्वीर ने अपनी जगह बनाई हुई है.

 कैसे रखा गया ये नाम 

Parle -G नाम में Parle को जोड़े जाने के पीछे यह तर्क दिया जाता है कि कंपनी ने Parle नाम मुंबई के विले-पार्ले इलाके से लिया है क्योंकि यह कम्पनी वहीं शुरू की गयी थी. लेकिन उससे भी महत्वपूर्ण यह है की इस नाम में G का क्या अर्थ है . अक्सर लोगों का यह मानना रहा है की G का अर्थ GENIUS है लेकिन यह सही नही है क्योंकि कम्पनी के अनुसार इस G का अर्थ ग्लुकोस ( glucose) है . 

कैसे जोड़ा गया Glucose का G 

पार्ले कम्पनी ने 1938 में Parle gluco नाम से बिस्कुट का उत्पादन शुरू किया लेकिन आज़ादी से पहले इसका नाम ग्लुको बिस्कुट रख दिया गया लेकिन आज़ादी के बाद जब देश में अनाज का संकट पड़ा तो इस बिस्कुट का उत्पादन रोक दिया गया . लेकिन जब दुबारा ग्लुको बिस्कुट का उत्पादन शुरू हुआ तो तब तक देश में कई और भी कंपनियां इसकी प्रतियोगिता में आ गयी थी जिसमें विशेष रूप से ब्रिटानिया का नाम शामिल है जिसने ग्लूकोस D बिस्कुट का उत्पादन शुरू कर दिया था . इसके बाद पार्ले कम्पनी ने अपने ग्लुको बिस्कुट को दुबारा लॉन्च किया जिसमें इसका नाम Parle -G रखा गया . 

क्यों आया G से Genius चर्चा में 

Parle -G  में G से ग्लुकोस  है लेकिन फिर भी अक्सर genius शब्द चर्चा में रहा . यह शब्द ऐसे ही चर्चा का विषय नही बना बल्कि वर्ष 2000 में कम्पनी द्वारा अपने बिस्कुट को G से Genius कहकर प्रमोट किया गया था जिसके कारण लोगों में गलत सूचना फैली की G से genius है जबकि असल में यह ग्लुकोस  है . 

 बचपन की यादें दिलाता Parle - G 

हालांकि Parle - G बिस्कुट सभी उम्र के लोगों की पसंद है लेकिन फिर भी बचपन में Parle -G से जुड़ी कुछ अलग ही यादें हुआ करती थी जिन्हें उम्र बढ़ने के बाद भी बिस्कुट का सेवन करने पर ताज़ा किया जा सकता है . इसके अलावा द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान भारतीय और ब्रिटिश सैनिकों का भी Parle - G पसंदीदा स्नैक हुआ करता था .