1. Home
  2. Hindi
  3. 5G launch in India: जाने 4G सिम का अब क्या होगा, क्या लेनी होगी नई 5G सिम

5G launch in India: जाने 4G सिम का अब क्या होगा, क्या लेनी होगी नई 5G सिम

भारत में तकनीकी विकास अब एक कदम और आगे पहुँच गया है . जी हाँ भारत में अब 5G नेटवर्क लॉन्च हो गया है तो जानिए अब आपके पुराने 4G सिम कार्ड का क्या होगा . 

5G launch in India:know what will happen to your old four g sim or have to buy a new five g sim
5G launch in India:know what will happen to your old four g sim or have to buy a new five g sim

देश में दिन प्रतिदिन नई तकनीक का विकास हो रहा है और बहुत से ऐसे लोग हैं जो इस विकास के इंतज़ार में रहते हैं . बीते कुछ वक्त से 5G को लेकर बहुत सी तैयारियां चल रही हैं जिनके परिणामस्वरूप कुछ समय से 5G मोबाइल्स भी बाज़ार में आना शुरू हो गये थे. अब आधिकारिक रूप से भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने 1 अक्टूबर को भारत में 5G को लॉन्च कर दिया है और आने वाले कुछ सालों में यह 5G सर्विसेज सभी लोगों को मिलनी शुरू भी हो जाएंगी . भारत में 5G तकनीक तेज़ इंटरनेट स्पीड के साथ अधिक विश्वसनीयता भी देगी  . यहाँ गौरतलब है की भारत में 5G के आने के बाद क्या 4G सिम कार्ड्स बेकार हो जाएंगे, क्या अब पूर्ण रूप से उन सिम कार्ड्स को फेंककर नए सिम कार्ड लाने होंगे . अगर आपके दिमाग में भी इस प्रकार के विचार आ रहे हैं तो इस लेख में आपको आपके सारे सवालों के जवाब मिल जाएंगे.

क्या बेकार हो जाएगा अब 4G सिम कार्ड 

यदि आप भी इस चिंता में हैं की कहीं आपका 4G सिम कार्ड अब बेकार तो नही हो जाएगा तो इसका उत्तर है की नही , आपका 4G सिम कार्ड अभी बेकार नही होगा क्योंकि अब भी 4G LTE भारतीय दूरसंचार में अपनी जड़ों को मज़बूत करके बैठा हुआ है यदि आपका सिम कार्ड 4G नेटवर्क में ठीक से काम करता है तो यह आपके क्षेत्र में 5G नेटवर्क आने के बाद भी ठीक से काम करेगा . हालांकि यदि आपकों 5G सिम कार्ड से अधिक अच्छे अनुभव की अपेक्षा है तो आपको एक नए सिम कार्ड की आवश्यकता होगी. 

गौरतलब है की 5G देश में लॉन्च होने के बाद भी वह अभी आसानी से प्राप्त नही होगा बल्कि फिलहाल तो कुछ शहरी इलाकों में ही 5G नेटवर्क मिलेगा इसलिए आपको 5G मिलेगा तो सही लेकिन आप उस पर अभी पूर्ण रूप से निर्भर नही हो पाएंगे. 

क्या है सिम कार्ड कंपनियों का कहना 

देश में बहुत समय से 5G को लेकर चर्चा चल रही है ऐसे में सिम कार्ड निर्माता कम्पनियों ने अपनी तरफ से तैयारियां करनी भी शुरू कर दी हैं . जानिये क्या है सिम कार्ड निर्माता कम्पनियों का कहना .

एयरटेल 

एयरटेल की ओर से अपने ग्राहकों के लिए एक राहत की खबर दी गयी है . एयरटेल का कहना है की उपभोक्ताओं को अपने पुराने सिम कार्ड फेंकने की कोई भी ज़रूरत नही है क्योंकि वह पुराने 4G सिम कार्ड से भी 5G नेटवर्क का इस्तेमाल कर सकते हैं हालांकि साथ ही एयरटेल का कहना यह भी है की अगर आप 5G सिम कार्ड का अधिकतम प्रयोग करना चाहते हैं तो आपको 5G सिम कार्ड की आवश्यकता होगी. 

जिओ 

जिओ की ओर से अपने ग्राहकों के लिए कोई विशेष ख़ुशी की खबर नही है क्योंकि RIL जनरल मीटिंग के दौरान जिओ का कहना था की वह भारत में स्टैंडअलोन 5G को लेकर आएँगे जिसका अर्थ है की जिओ के 5G इन्फ्रास्ट्रक्चर को शुरुआत से बनाना होगा ऐसे में कम्पनी अपने ग्राहकों को 5G सिम अपग्रेड के लिए कह सकती है . 

क्या है स्टैंडअलोन 5G 

स्टैंडआलोन 5G का अर्थ है की यह तकनीक पूर्ण रूप से अपने ऊपर निर्भर होगी अर्थात् 4G तकनीक के ऊपर इसकी निर्भरता नही होगी . जिओ 5G नेटवर्क में लिए स्टैंडअलोन तकनीक का ही इस्तेमाल करेगा जिसका अर्थ है की आपको जिओ सिम कार्ड अपग्रेड करने पड़ सकते हैं . स्टैंडआलोन 5G नए और अलग इन्फ्रास्ट्रक्चर पर निर्धारित होगी . इस तकनीक में आपको लो लेटेंसी ,बेहतर कम्युनिकेशन , 5G वॉयस, एज कम्प्यूटिंग, नेटवर्क स्लाइसिंग और मेटावर्स एक्सपीरियंस मिलेगा. 

क्या हैं नॉन स्टैंडअलोन 5G

 नॉन स्टैंडअलोन 5G तकनीक एक ऐसी तकनीक है जिसके लिए किसी नए इन्फ्रास्ट्रक्चर की ज़रूरत नही होगी बल्कि इसका आधार 4G नेटवर्क तकनीक ही होगा .

गौरतलब है कि 5G नेटवर्क के लिए 4G सिम का प्रयोग करने के जवाब हां और ना दोनों में है .यह आप पर निर्भर करता है की आपको 5G नेटवर्क का उपयोग कितना करना है . यदि आपको सामन्य तौर पर ही 5G नेटवर्क का इस्तेमाल करना है तो आपकी पुरानी 4G सिम काम आ सकती है लेकिन अगर आप 5G नेटवर्क का उसके अधिकतम तक प्रयोग करना चाहते हैं तो आपको एक नए 5G नेटवर्क की ज़रूरत होगी.