1. Home
  2. Hindi
  3. महज़ ड्रेस कोड नही बल्कि ऑपरेशन के समय डॉक्टर के हरे लिबास पहनने का यह है वैज्ञानिक कारण

महज़ ड्रेस कोड नही बल्कि ऑपरेशन के समय डॉक्टर के हरे लिबास पहनने का यह है वैज्ञानिक कारण

यकीनन आपने हॉस्पिटल में कभी न कभी देखा होगा की सफ़ेद कोट पहनने वाले डॉक्टर ऑपरेशन के समय हरे रंग का लिबास पहनते हैं. दरअसल ऑपरेशन के समय इस ख़ास रंग के लिबास को पहनने के पीछे वैज्ञानिक कारण मौजूद हैं. यहाँ पढ़ें पूरी जानकारी.

this is the scientific reason behind doctors wearing green during surgery
this is the scientific reason behind doctors wearing green during surgery

डॉक्टर्स और मेडिकल स्टाफ हमारी ज़िंदगी का एक बहुत अहम हिस्सा हैं. ये डॉक्टर्स ही हैं जो अपनी फिक्र किये बिना मरीज़ का इलाज करते हैं. 

किसी न किसी कारण से हम सब कभी न कभी हॉस्पिटल तो ज़रूर ही गये होंगे और वहां यकीनन देखा भी होगा की डॉक्टर्स सफ़ेद कोट में नज़र आते हैं लेकिन जब भी कभी यह डॉक्टर और नर्स ऑपरेशन करने के लिए ऑपरेशन थिएटर में जाते हैं तो इनका यह सफ़ेद कोट बदल जाता है और यह डॉक्टर व नर्स हरे लिबास में नज़र आते हैं. 

दरअसल डॉक्टर्स और अन्य मेडिकल स्टाफ का ऑपरेशन के दौरान यह हरे रंग का लिबास ज़रूरी कारणों से ही पहना जाता है बल्कि कुछ वैज्ञानिक कारणों के चलते खासतौर पर यह रंग निर्धारित किया गया है. 

आँखों को मिलता है सुकून

source: loksatta

20वीं सदी से पहले डॉक्टर्स ऑपरेशन के समय भी सफ़ेद रंग के लिबास का ही प्रयोग करते थे लेकिन 20वीं सदी की शुरुआत में एक प्रसिद्द डॉक्टर ने इस सफ़ेद रंग को हरे रंग से बदला क्योंकि उन्हें लगता था की ऑपरेशन करते समय दूसरे डॉक्टर्स और मेडिकल स्टाफ के हरे कपड़ें देखकर डॉक्टर की आँखों को सुकून मिलेगा. एक्सपर्ट्स का मानना है की हरे रंग से मन शांत रहता है. 

उनकी इसी धारणके चलते निष्कर्ष निकाला गया की यदि डॉक्टर लगातार मरीज़ के खून को देखेंगे तो उनकी आँखों पर ज़ोर पड़ेगा इसलिए डॉक्टर्स और अन्य मेडिकल स्टाफ के हरे रंग के कपड़े बीच-बीच में देख लेने से आँखों में सुकून का एहसास होगा और डॉक्टर अपने काम पर पर अधिक केन्द्रित होगा. 

लाल रंग की चुभन दूर करता है

source: lokmat 

डॉक्टर्स को अक्सर ऑपरेशन करते हुए ज़्यादा समय लग जाता है जिस कारण उन्हें लगातार मरीज़ का खून देखना पड़ता है और लंबे समय तक लाल रंग देखने से आँखों में चुभन का एहसास होता है जिस कारण काफी हद तक मुमकिन है की डॉक्टर सर्जरी के दौरान फोकस न कर पाएं जो की बिल्कुल भी स्वीकार्य नहीं है. 

दरअसल विज़ुअल एक्सपर्ट्स का मानना है की लाल रंग पर लगातार फोकस करने के बाद सफ़ेद रंग देखने से अन्य रंगों का भ्रम पैदा होता है इसलिए जब डॉक्टर मरीज़ के लाल टिश्यू देखने के बाद सफ़ेद कोट देखेंगे तो उन्हें हरे रंग व कुछ अन्य रंगों का भी छायाभ्रम हो सकता है जिसे विज़ुअल इल्यूशन कहा जाता है. 

डॉक्टर्स को ऑपरेशन के दौरान किसी भी तरह का विज़ुअल इल्यूशन होना मरीज़ के लिए बिल्कुल भी ठीक नहीं है क्योंकि इससे ऑपरेशन के दौरान गलती होने का खतरा रहता है इसलिए डॉक्टर्स ऑपरेशन के दौरान हरे रंग का लिबास पहनते हैं.