1. Home
  2. Hindi
  3. UPSC Success Story: संसाधनों का नहीं रोया रोना, फ्री Wi-Fi से इंटरनेट लेकर UPSC किया क्रैक

UPSC Success Story: संसाधनों का नहीं रोया रोना, फ्री Wi-Fi से इंटरनेट लेकर UPSC किया क्रैक

IAS Sreenath K Success Story: एर्नाकुलम स्टेशन पर कुली का काम करने वाले श्रीनाथ के. ने  घर की जिम्मेदारियों के साथ खुद की भविष्य का भी ध्यान रखा। उन्होंने मेहनत के दम पर सिविल सेवा परीक्षा पास की और उन युवाओं के आगे कामयाबी की मिसाल पेश की है, जो संसाधनों का रोना रोकर आगे नहीं बढ़ते हैं। 

 

 

UPSC Success Story: संसाधनों का नहीं रोया रोना, फ्री Wi-Fi से इंटरनेट लेकर UPSC किया क्रैक
UPSC Success Story: संसाधनों का नहीं रोया रोना, फ्री Wi-Fi से इंटरनेट लेकर UPSC किया क्रैक

IAS Sreenath K Success Story: यदि आपके अंदर कुछ कर गुजरने की इच्छाशक्ति है और आप अपने इरादों को लेकर बहुत मजबूत हैं, तो फिर आपको अपने लक्ष्य को पाने से कोई नहीं रोक सकता है। कुछ लोग संसाधनों का रोना रोकर अपने मंजिल तक पहुंचने से रूक जाते हैं, जबकि कुछ ऐसे भी लोग होते हैं, जो संसाधनों का रोना रोने के बजाय अपने आसपास मौजूद संसाधनों का इस्तेमाल कर अपनी मंजिल तक का सफर तय करते हैं। आज हम आपको केरल  के एर्नाकुलम स्टेशन पर काम करने वाले कुली श्रीनाथ के. की कहानी बताने जा रहे हैं, जिन्होंने कुली का काम करते हुए सिविल सेवा परीक्षा को पास किया। 

 

श्रीनाथ के. केरल के एर्नाकुलम रेलवे स्टेशन पर कुली का काम करते थे। हालांकि, पढ़ने के प्रति अपने जुनून को उन्होंने कभी कम नहीं होने दिया। यही वजह रही कि उन्होंने कुली का काम करते हुए भी पढ़ाई को जारी रखा। सिर पर लोगों का बोझ होता था, तो दिमाग में पढ़ने की ललक। अपनी इसी ललक के साथ वे प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी में लगे रहते। 

  

केरल राज्य परीक्षा के बाद यूपीएससी परीक्षा की पास

श्रीनाथ के. पढ़ने के प्रति इतने संवेदनशील थे कि उन्होंने प्रतियोगी परीक्षाओं को लेकर तैयारी कभी नहीं रोकी। उन्होंने तैयारी करते हुए केरल राज्य सेवा आयोग की परीक्षा पास कर ली। हालांकि, वह यही नहीं रूके, बल्कि अपनी तैयारी को जारी रखा। संघ लोक सेवा आयोग(यूपीएससी) की परीक्षा के लिए हर साल लाखों लोग तैयारी करते हैं और कोचिंग में लाखों रुपये देकर दिन-रात पढ़ने में लगे रहते हैं। हालांकि, श्रीनाथ ने कुली का काम करते हुए बिना कोचिंग के यूपीएससी की परीक्षा को भी पास किया। 

 

रेलवे के फ्री WiFi को बनाया तैयारी का हथियार

श्रीनाथ की आर्थिक हालत इतनी अच्छी नहीं थी कि वह किसी कोचिंग संस्थान में लाखों रुपये देकर दाखिला लें। हालांकि, उनके मन में था कि उन्हें सिविल सेवा परीक्षा को पास करना है। अपने इस लक्ष्य को पूरा करने के लिए वह दिन-रात मेहनत करने में लगे रहते थे। वहीं, उन्होंने केरल लोक सेवा आयोग की तैयारी शुरू की। इसके लिए उन्होंने सहारा लिया इंटरनेट का। इंटरनेट के लिए उन्होंने रेलवे स्टेशन पर मौजूद फ्री वाई-फाई को हथियार बनाया। अपने स्मार्ट फोन में इंटरनेट की मदद से वह परीक्षा के महत्वपूर्ण विषयों को पढ़ते थे। साथ ही कुछ विषयों को वह काम के दौरान सुना भी करते थे। अपनी इस ऑनलाइन तैयारी के दम पर उन्होंने केरल लोक सेवा आयोग की परीक्षा पास कर ली थी। इस परीक्षा ने उनका आत्मविश्वास बढ़ाया और वह यूपीएससी की तैयारी के लिए जुट गए।  

 

 

श्रीनाथ के. की इस सफलता को लेकर तत्कालीन रेल मंत्री पीयूष गोयल ने भी बधाई दी थी। सिविल सेवा परीक्षा में सफलता हासिल करने पर कुली श्रीनाथ को बधाई देते हुए मंत्री ने ट्वीट किया था। गोयल ने लिखा था कि रेलवे के निःशुल्क WiFi से केरल में कुली का कार्य करने वाले श्रीनाथ के जीवन में एक बहुत बड़ा परिवर्तन आया है, स्टेशन पर उपलब्ध WiFi के उपयोग से उन्होंने तैयारी कर प्रतियोगी परीक्षा में सफलता प्राप्त की है, मैं उनकी सफलता पर उन्हें बधाई और भविष्य के लिए शुभकामनाएं देता हूं। 

 

श्रीनाथ के. की कहानी ने साबित किया है कि जीवन में कुछ भी नामुमकीन नहीं है। यदि आपके पास हिम्मत और काम को करने के लिए लगन है, तो फिर आप सफलता के शिखर तक पहुंच सकते हैं। इसके लिए बिना हारे मेहनत करने की जरूरत है।