1. Home
  2. Hindi
  3. नवंबर में बनेगी 8 अरब की दुनिया , चीन और भारत में भी होंगे बड़े बदलाव

नवंबर में बनेगी 8 अरब की दुनिया , चीन और भारत में भी होंगे बड़े बदलाव

दुनिया की आबादी दिन-प्रतिदिन तेज़ी से बढ़ रही है .UN के द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार अगले सप्ताह तक यह आबादी 8 अरब की हो जाएगी. यहाँ पढ़ें पूरी जानकारी.

world population will become 8 billion in november big changes will happen in india and china
world population will become 8 billion in november big changes will happen in india and china

दुनिया की आबादी दिन-प्रतिदिन तेज़ी से बढ़ रही है. संयुक्त राष्ट्र का कहना है कि अगले सप्ताह मानवता के लिए एक मील के पत्थर के जैसा है क्योंकि अगले सप्ताह दुनिया की आबादी 8 अरब को पार कर देगी. हालांकि इस वृद्धि में कोई रोक नहीं लगने वाली बल्कि लगातार यह वृद्धि दर्ज की जा सकेगी. 

संयुक्त राष्ट्र जनसंख्या कोष ने दी जानकारी 

संयुक्त राष्ट्र जनसंख्या कोष के रेचल स्नो का कहना है की बच्चे पैदा करने की उम्र में लोगों की संख्या व जीवन प्रत्याशा में वृद्धि देखते हुए संयुक्त राष्ट्र के द्वारा यह अनुमान लगाया गया है की दुनिया की आबादी वर्ष 2030  में 8.5 अरब तक पहुँच सकती है तथा जनसंख्या वृद्धि की दर का अंदाज़ा लगाते हुए बताया जा रहा है की वर्ष 2050 तक यह आबादी 9.7 अरब और 2080 के दशक तक यह आबादी 10.5 अरब तक पहुँच सकती है.

वृद्धि दर में आई गिरावट 

वर्ष 1960  तक दुनिया की आबादी बहुत तेज़ी से बढ़ रही थी तथा वर्ष 1960 में आबादी का बढ़ना अपने चरम पर था हालांकि दुनिया की आबादी अब भी काफी तेज़ी से ही बढ़ रही है लेकिन वर्ष 2020 में नाटकीय रूप से 1 फीसद की कमी भी दर्ज की गयी है. 

प्रजनन दर में दर्ज हुई गिरावट 

संयुक्त राष्ट्र के द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार प्रजनन दर में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है जिसके कारण यह आंकड़ा लगातार गिर रहा है और काफी हद तक संभावना है कि वर्ष 2050  तक लगभग 0.5 फीसद की कमी दर्ज की जाएगी. 

संयुक्त राष्ट्र के अनुसार वर्ष 2021 में एक महिला की औसत प्रजनन दर 2.3 बच्चे की थी जबकि 1950  में यह दर 5 से थोड़ी कम थी वहीं आगे चलकर 2050 तक इस दर का 2.1 होने का अनुमान लगाया जा रहा है.

लगातार बढ़ रही है जीवन प्रत्याशा 

दुनिया की आबादी बढ़ने में जीवन प्रत्याशा की बहुत अहम भूमिका होती है . संयुक्त राष्ट्र के द्वारा दी गयी जानकारी के अनुसार जीवन प्रत्याशा में वृद्धि दर्ज की जा रही है. 2019 में जीवन प्रत्याशा 72.8 थी जबकि वर्ष 1990 की तुलना में यह 9 वर्ष अधिक है. हालांकि संयुक्त राष्ट्र का अनुमान है की 2050 तक यह 77.2 वर्ष हो जाएगी.

चीन की आबादी में दर्ज की जाएगी गिरावट

फिलहाल चीन दुनिया का सबसे अधिक आबादी वाला देश है लेकिन लगातार चीन में आबादी को नियंत्रित करने पर काम किया जा रहा है. चीन की आबादी 1.4 अरब है जो की कम होकर वर्ष 2050 में 1.3 अरब तक पहुँच सकती है. 

भारत बनेगा सबसे ज़्यादा आबादी वाला देश 

आबादी को लेकर बदलते रुझानों को देखते हुए भारत जल्द ही दुनिया का सबसे अधिक आबादी वाला देश बनने  वाला है. फ़िलहाल भारत दुनिया की सबसे अधिक आबादी की सूची में दूसरे नंबर पर आता है. संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक वर्ष 2023 की शुरुआत में ही भारत आबादी के मामले में पहला स्थान प्राप्त कर लेगा.