India's Youngest Judge: 21 साल का लड़का बना भारत का सबसे कम उम्र का Judge

Publish Date:27-11-2019 11:45:42

महज 21 साल की उम्र में जयपुर के मयंक प्रताप सिंह जज बन गए हैं। इतनी कम उम्र में जज बनने वाले मयंक राजस्थान में तो पहले हैं ही, देश में भी वह संभवत: पहले शख्स होंगे। उनकी यह उपलब्धि इसलिए और भी बड़ी हो गई है क्योंकि उन्होंने जज बनने के लिए हुई राजस्थान न्यायिक सेवा भर्ती परीक्षा-2018 में भी पहला स्थान हासिल किया है।

राजस्थान न्यायिक सेवा भर्ती परीक्षा का आयोजन हाई कोर्ट करता है। 2018 की भर्ती परीक्षा से पहले तक इसमें शामिल होने की न्यूनतम आयु सीमा 23 साल थी। 2018 की परीक्षा में इसे घटाकर 21 वर्ष कर दिया गया था। मयंक ने अपने पहले ही प्रयास में आयु सीमा घटाए जाने का फायदा उठा लिया। प्रारंभ से ही मेधावी मयंक बताते हैं कि 12वीं कक्षा के बाद उन्होंने 2014 में ही राजस्थान विश्वविद्यालय के पांच वर्षीय विधि पाठयक्रम की प्रवेश परीक्षा दी और पहले ही प्रयास में चयन हो गया।