Search

अगर नहीं लग रहा पढ़ाई में मन तो ज़रूर जानें पढ़ाई के ये 5 मॉडर्न तरीके

इस लेख में हम पढ़ाई के ऐसे मॉडर्न तरीकों के बारे में आपको बतायंगे जिनसे आप पढ़ाई के दौरान जरा भी बोरियत महसूस नहीं करेंगे और कम समय में ज्यादा बेहतर परिणाम हासिल कर पायेंगे |

Aug 19, 2019 17:44 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon
Modern ways to study without getting bored
Modern ways to study without getting bored

आपने अक्सर देखा होगा कि अगर हम किसी काम को लगातार एक ही तरीके से करते हैं तो हमें बोरियत होने लगती है. पढ़ाई के साथ भी कुछ ऐसा ही होता है, अगर विद्यार्थी लगतार एक ही तरीके से पढ़ाई करते हैं इसलिए उन्हें बोरियत होने लगती है. इसलिए हमने इस लेख में पढ़ाई के कुछ ऐसे मॉडर्न तरीकों के बारे में आपको बताया है, जिनसे आप पढ़ाई के दौरान जरा भी बोरियत महसूस नहीं करेंगे और कम समय में ज्यादा बेहतर परिणाम हासिल कर पायेंगे.

पढ़ाई के नये तरीकें कुछ इस प्रकार हैं:

1 # Mind Palace तकनीक

New Ways to Study

Image Source: BBC

क्या आपने BBC One का सीरियल Sherlock Holmes देखा है? अगर हाँ, तो आप इस तरिके से अच्छी तरह से वाकिफ़ होंगे. इस सीरियल में शेरलॉक (Sherlock) नाम का जासूस किसी भी घटना को रोजमर्रा की चीज़ो से रिलेट करके अपने दिमाग में स्टोर कर लेता है और कभी नहीं भूलता या दुसरे शब्दों में वो घटनाओ को अपने माइंड पैलेस में स्टोर कर लेता है. इस तरह शेरलॉक ने अपने दिमाग में सूचनाएं ऐसे स्टोर करता है जैसे किसी पैलेस में चीजें रखी हों. इसलिए इस तरीके को माइंड पैलेस कहते हैं.
इस तरीक़े को एक उदाहरण के मध्यम से समझते हैं, मान लीजिये आपको याद करना हो कि सलीम अली को बर्ड मैन ऑफ़ इंडिया (birdman of India) भी कहा जाता है, तो आप आँख बंद करके अपने दिमाग में सोचेंगे की सलीम और अली नाम के दो लड़के, इंडिया के मैप के ऊपर चिड़ियों के साथ खेल रहे हैं और फिर अचानक सब आपस में टकराकर एक सलीम-अली नाम के आदमी रूपी चिड़िया में बदल गये और या बर्ड मैन ऑफ़ इंडिया बन गया.
यह एक साधारण सा उदहारण था, शुरू में इस तरह का तरीका अपनाने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है, पर कुछ अभ्यास के  बाद ये तरीका बहुत आसान हो जायेगा और ख़ास बात यह है कि आप को पढ़ाई के दौरान बोरियत महसूस नही होगी.

अगर दिमाग तेज़ करना चाहते हैं तो शकुन्तला देवी की Puzzle Book ज़रुर हल करें. इस लिंक के द्वारा इस पुस्तक को खरीदें।

2 # सिर्फ कॉपी या A4 पेपर में नोट्स न बनाएं ये तरीके भी आजमाएं

Use of Sticky Notes in Study

Image Source: cdn.churchm.ag & tumbler

अक्सर लोग पेपर और कॉपी पर लम्बे- लम्बे नोट्स बनाते हैं. स्मार्ट फ़ोन सबके पास होता है पर उसका इस्तेमाल सिर्फ फेसबुक और व्हाट्सएप में चैट तक सीमित रहता है. अगर नोट्स बनाएं तो उसकी एक कॉपी फ़ोन में भी फोटो क्लिक करके सेव कर ले और ज़रूरत पड़ने पर अपने दोस्तों से भी शेयर करें. कुछ लोगों को लिख कर याद करना पसंद होता है या उन्हें कुछ लिखने के बाद ज्यादा समय तक और अच्छी तरह याद रहता है.

बहुत से लोग बड़े– बड़े A4 पेपर या कॉपी पर नोट्स बनाते हैं, जो बेहतर तरीका नहीं है, नोट्स जितना छोटे होते हैं उतना ही बेहतर होते हैं. सबसे बेहतर तरीका ये यह है की किसी थ्योरम या महत्वपूर्ण उत्त्तर जो आप बार-बार अगर भूल रहे है तो उसे स्टिकी नोट्स पर लिखे और दीवार पर लगा दे. अब आप उठते बैठते कुछ भी करते समय अपने मन में उत्तर दोहराएं, अगर उत्तर भूल रहे हों, तो दीवार पर लगे स्टिकी नोट्स पर नजर डालें, कुछ समय में ही आपको बेहतर परिणाम मिलने लगेंगे. अगर आपके पास स्टिकी नोट्स नहीं है तो भी कोई बात नही आप चाहे तो अपने हाथों या शरीर के अन्य जगह पर भी महत्वपूर्ण चीजे लिख सकते हैँ (गजनी मूवी के आमिर खान की तरह).

स्टिकी नोट्स पर ऑफर चल रहे हैं, इस लिंक के द्वारा चेक करें

यह 7 ट्रिक्स अपनाने से कोई भी बन सकता हैं गणित में ज़ीरो से हीरो

3 # माइंड मैप्स (Mind Maps) का इस्तेमाल

Use Mind Maps

Image Source: wikimedia.org

माइंड मैप पूरे चैप्टर के सारांश को एक चित्र के माध्यम से दिखाता है. आप चाहें तो अपनी किताबों के हर एक चैप्टर के माइंड मैप को स्टिकी नोट्स में बना कर रख सकते हैं और अपने आस पास चिपका सकते हैं. इससे आप पूरे सिलेबस के टच में रहेंगे. किस चैप्टर में आपकी पकड़ कमज़ोर है इन माइंड मैप्स के माध्यम से आप ये भी समझ जायेंगे. ये माइंड मैप्स एग्जाम के आख़िरी दिनों में दोहराने में बहुत मदद करते हैं. बस एक नजर डालते ही सब याद आ जाता है.

इस किताब के द्वारा जान सकते हैं कि अच्छे Mind Maps  कैसे बनाएं

4 # स्मार्ट फ़ोन का स्मार्ट तरीके से उपयोग

Use of Smart Phone in Study

Image Source: news.rice.edu

आजकल स्मार्ट फ़ोन का उपयोग लगभग हर विद्यार्थी करता हैं l कुछ के पास खुद का स्मार्ट फ़ोन होता हैं, और कुछ अपने बड़े भाई, बहन, माता या पिता से जुगाड़ लेते हैं l अब आप सोच रहे होंगे की ये स्मार्ट फ़ोन का स्मार्ट तरीके से उपयोग का क्या मतलब?

इसे एक उदाहरण से समझते हैं, मान लीजिये आपको इतिहास की कुछ तिथियाँ याद करनी हैं, पर किताब देखते ही दिमाग ख़राब होने लगता है तो इसका बहुत ही आसान सा उपाय है, तिथियों को गाना गाकर अपने स्मार्ट फ़ोन में रिकॉर्ड करे वो भी अपनी पसंदीदा गाने की धुन में l अब आप किताब देखने की जगह उस धुन को आंख बंद करके सुने यकीन मानिये चुटकियो में इतिहास की महत्वपूर्ण तिथियाँ याद हो जायेंगी l ये तरीका अन्य विषयों के लिये भी काम करेगा, हलाकि हर विद्यार्थी का अपना तरीका होता हैं और अपनी क्रिएटिविटी का इस्तेमाल करके और ज्यादा बेहतर परिणाम हासिल कर सकते हैं.

Smart Phones पर चल रहे जबरदस्त ऑफर्स के लिए ये लिंक चेक करें

कैसे करें किसी भी एग्जाम की तैयारी: जब बचा हो एक महीना या एक हफ्ता या फिर एक दिन

5 # इन्टरनेट का स्मार्ट तरीके से इस्तेमाल

use of internet while studying

Image Source: sbs.com.au

अगर आपके पास स्मार्ट फ़ोन के साथ-साथ बेहतर इन्टरनेट कनेक्शन है तो ये आपके लिये बहुत फ़ायदेमंद है. आप चाहे तो महत्वपूर्ण सवालों के उत्तर, इत्यादि व्हाट्सएप के माध्यम से अपने दोस्तों से मंगा सकते हैं  या भेज भी सकते हैं. ये तरीका कंबाइंड स्टडी का नया तरीका है.

अगर आपको किताब से कोई टॉपिक समझने में दिक्कत हो रही तो भी कोई चिंता बात नहीं बस यूट्यूब में अपने टॉपिक को लिख कर सर्च करें, ढेर सारे वीडियोज़ आ जायेंगे जिनको देखने के बाद आपको टॉपिक अच्छे से समझ आ जायेगा. अगर इन्टरनेट की स्पीड धीमी या 2G सिम से नेट चला रहे हैं तो भी आपको कई वेबसाइटों में डायग्राम की मदद से चीजें समझ में आ जाएँगी.

इन पाँच तरीकों से बना सकते गणित को एक सरल और रोचक विषयपरीक्षा में आएंगे पूरे नंबर

सारांश

ये थे कुछ पढ़ाई के शानदार और मॉडर्न तरीके, कुछ लोगों को शुरआत में तरीकों को अपनाने में कई कठिनाइयाँ आ सकती हैं, हो सकता है आपको कभी-कभी लगे की इन तरीके से ज्यादा समय लग रहा है पर जैसे-जैसे आप अभ्यास करते जायंगे वैसे-वैसे आपकी याद करने की स्पीड तेज़ होती जाएगी. सबसे ख़ास बात यह है की इन तरीकों से आपको पढ़ाई में कभी बोरियत महसूस नहीं होगी. स्मार्ट फ़ोन इस्तेमाल करते समय ये जरूर ध्यान रखें की कोई डिसट्रैक्शन न हों वर्ना ये समय की बर्बादी का कारण भी बन सकता हैं.

Related Categories

Related Stories