Search

महत्वपूर्ण दवाओं एवं रसायनों की सूची

ड्रग्स (दवा) वह पदार्थ है जो रोगों के लक्षणों को दूर करता है या रोगों की रोकथाम करता है| इनका निर्माण या उत्पादन न केवल औषधीय पौधों जैसे-लहसुन, एलोविरा और तुलसी आदि से किया जाता है बल्कि कार्बनिक संश्लेषण के माध्यम से भी किया जाता है| इस लेख में हम कुछ महत्वपूर्ण दवाओं के बारे में चर्चा कर रहे हैं|
Jan 25, 2017 17:23 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon

ड्रग्स (दवा) वह पदार्थ है जो रोगों के लक्षणों को दूर करता है या रोगों की रोकथाम करता है| दवाओं के संबंध में दो बातें महत्वपूर्ण हैं: पहला इसका प्रयोग बहुत बड़ी संख्या में लोगों के ईलाज के लिए होता है| दूसरा ये दवाएं दवा कम्पनियों को नए-नए अनुसंधान के लिए प्रेरित करती हैं| इनका निर्माण या उत्पादन न केवल औषधीय पौधों जैसे-लहसुन, एलोविरा और तुलसी आदि से किया जाता है बल्कि कार्बनिक संश्लेषण के माध्यम से भी किया जाता है| इस लेख में हम कुछ महत्वपूर्ण दवाओं के बारे में चर्चा कर रहे हैं|

Medicines

Image Courtesy: www.images.agoramedia.com

एनेस्थीसिया

एनेस्थेटिक दवाओं का उपयोग मुख्य रूप से शल्य चिकित्सा (ऑपरेशन) के  दौरान अंगों को चेतनाशून्य करने के लिए किया जाता है। सर्वप्रथम विलियम मोर्टेन ने डाई इथाइल ईथर को एनेस्थीसिया के रूप में इस्तेमाल किया था। बाद में 1847 में जेम्स सैम्पसन द्वारा क्लोरोफॉर्म को एनेस्थीसिया के रूप में इस्तेमाल किया गया था। इसके अलावा सल्फोनल (sulphona), वरोनल (veronal), क्लोरोप्रोपेन, कोकीन, डाईजीपाम (diagipalm), पेंटोथल सोडियम, हैलोथेन, नाइट्रस ऑक्साइड आदि योगिकों का प्रयोग भी एनेस्थीसिया के रूप में किया जाता है|

Anaesthesia

Image Courtesy: www.urbananaesthetics.com.au

एंटीबायोटिक

एंटीबायोटिक दवाओं को सूक्ष्मजीव, फफूंदी, कवक आदि द्वारा तैयार किया जाता है और इनका उपयोग अन्य जीवों को मारने तथा जीवाणु एवं विषाणु के विकास (प्रसार) की जाँच के लिए किया जाता है| सर्वप्रथम 1929 में अलेक्जेंडर फ्लेमिंग ने “पेनिसिलिन” एंटीबायोटिक का आविष्कार किया था जिसका प्रयोग जीवाणु, विषाणु और कवक को नष्ट करने के लिए प्रयोग किया जाता है। टेट्रासाइक्लिन, सेफ्लोसपोरीन, स्ट्रेप्टोमाइसिन, जेंटामाइसिन, रिफामाइसिन, क्लोरोमाइसिटीन आदि कुछ अन्य महत्वपूर्ण एंटीबायोटिक दवाएं हैं जिनका अक्सर इस्तेमाल किया जाता है|

जाने आवर्त सारणी में शामिल 4 नये तत्व कौन से हैं

Antibiotic

Image Courtesy:www.umanitoba.ca

रोगाणुरोधी (एंटीसेप्टिक) दवाइयां

एंटीसेप्टिक दवाएं सूक्ष्मजीवों (जीवाणु और विषाणु) को मारने और उनके प्रसार को रोकने में सहायक होता है। यह विशेष रूप से रक्त को प्रदूषित होने से रोकने के लिए और घाव की सफाई हेतु इस्तेमाल में लाया जाता है| कुछ एंटीसेप्टिक दवाएं जो आमतौर पर इस्तेमाल हो रहा है उनमें आयोडीन, हाइपोक्लोरस एसिड, इथाइल अल्कोहल, फिनोल हेक्साक्लोरोफिन, फॉर्मलडीहाइड, हाइड्रोजन पेरोक्साइड, अक्रिफ्लेविन प्रमुख हैं|

Antiseptic

Image Courtesy: www.sanidex.us

एंटीपायरेटिक्स

एंटीपायरेटिक्स दवाओं का इस्तेमाल दर्द निवारक और बुखार रोधी दवा के रूप में किया जाता है| कुछ महत्वपूर्ण एंटीपायरेटिक्स दवाएं एस्प्रिन, क्रोसिन, फेनासिटीन, पायरोमिडीन आदि हैं|

Antipyretics

Image Courtesy: www.sanidex.us: www.voxy.co.nz

सल्फा ड्रग्स

इन दवाओं को मुख्य रूप से सल्फर और नाइट्रोजन से तैयार किया जाता है और ऐसी दवाईयां कुछ खास जीवों के खिलाफ काफी प्रभावी है| कुछ सल्फा दवाओं का प्रयोग विशेष रूप से जानवरों के लिए किया जाता है। पहले “सल्फा दवा” का नाम “सल्फानीलामाइड” था और इसका आविष्कार 1908 में किया गया था| सल्फानीलामाइड, सल्फाडाइजीन, सल्फा पायरीडीन, सल्फाथिओगोल आदि कुछ महत्वपूर्ण सल्फा दवाएं हैं|

Sulpha drugs

Image Courtesy:www.m.bkallergy.com

रबड़ क्या है और यह कितने प्रकार की होती है?