Heritage site in Tamil Nadu: तमिलनाडु के पहले बायोडायवर्सिटी हेरिटेज साइट के रूप में घोषित हुआ 'अरिट्टापट्टी' विलेज, जानें इसके बारें में

Heritage site in Tamil Nadu: अरिट्टापट्टी गांव को तमिलनाडु का पहला जैव विविधता विरासत स्थल घोषित किया जा रहा है, जो स्थानीय समुदायों की भागीदारी के साथ जैव विविधता और संरक्षण के प्रयासों को मजबूत करेगा। अधिक जानकारी के लिए नीचे पढ़े।

Heritage site in Tamil Nadu: Arittapatti village in Madurai notified as Tamil Nadu's first Biodiversity Heritage Site
Heritage site in Tamil Nadu: Arittapatti village in Madurai notified as Tamil Nadu's first Biodiversity Heritage Site

Body: Heritage site in Tamil Nadu: तमिलनाडु सरकार ने जैव विविधता अधिनियम, 2002 की धारा 37 के तहत मदुरै जिले के मेलूर के पास अरिट्टापट्टी गांव को जैव विविधता विरासत स्थल के रूप में घोषित करने की अधिसूचना जारी की। जैव विविधता विरासत स्थल 193.21 हेक्टेयर क्षेत्र में स्थित है और यह दक्षिणी राज्य में अधिसूचित होने वाला पहला स्थल है।

सुप्रिया साहू, अपर मुख्य सचिव, पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन द्वारा जारी आदेश के अनुसार यह कहा कि साइट की घोषणा जैविक विविधता अधिनियम, 2002 की धारा 37 के तहत की गई है।

तमिलनाडु के पहले बायोडायवर्सिटी हेरिटेज साइट का महत्व:

अरिट्टापट्टी गांव को तमिलनाडु की पहली जैव विविधता विरासत स्थल घोषित करने से स्थानीय समुदायों की भागीदारी के साथ जैव विविधता और संरक्षण के प्रयासों को मजबूती मिलेगी। इस पहल से क्षेत्र के समृद्ध जैविक और ऐतिहासिक भंडार को संरक्षित करने में भी मदद मिलेगी।

तमिलनाडु की पहली जैव विविधता विरासत स्थल की खास बातें:

  • अरिट्टापट्टी गांव (मेलूर ब्लॉक) में 139.63 हेक्टेयर और मीनाक्षीपुरम गांव (मदुरै पूर्वी तालुक) में 53.8 हेक्टेयर वाली साइट को अरिट्टापट्टी जैव विविधता विरासत स्थल के रूप में घोषित किया गया है।
  • अरिट्टापट्टी गांव सात बंजर ग्रेनाइट पहाड़ियों की एक श्रृंखला से घिरा हुआ है जो वाटरशेड के रूप में और 72 झीलों, 200 प्राकृतिक झरने के पूल और तीन बांधों का नेतृत्व करता है।
  • तीन रैप्टर प्रजातियों सहित लगभग 250 पक्षी प्रजातियों की उपस्थिति के साथ गांव का एक समृद्ध ऐतिहासिक और जैविक महत्व है।
  • इस साइट में विभिन्न मेगालिथिक संरचनाएं, तमिल ब्राह्मी शिलालेख, जैन बेड और 2200 साल पुराने रॉक कट मंदिर इसके ऐतिहासिक मूल्य को जोड़ते हैं।

जैव विविधता विरासत स्थल क्या है?

जैव विविधता विरासत स्थल ऐसे क्षेत्र हैं जो अद्वितीय, पारिस्थितिक रूप से नाजुक पारिस्थितिकी तंत्र हैं जिनमें समृद्ध जैव विविधता है जिसमें किसी एक या एक से अधिक स्थानिक प्रजातियां या जीवाश्म बेड या सांस्कृतिक और सौंदर्य मूल्यों वाले घटक शामिल हैं।

जैव विविधता विरासत स्थल भी एक ऐसा कदम है जो पर्यावरण के संरक्षण के साथ-साथ उस पर निर्भर समुदाय की रक्षा भी करता है। जैव विविधता अधिनियम की धारा 37 के अनुसार, राज्य सरकारों को स्थानीय निकायों के परामर्श से, जैव विविधता महत्व के क्षेत्रों को जैव विविधता विरासत स्थलों के रूप में आधिकारिक राजपत्र में अधिसूचित करने का अधिकार है।

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Read the latest Current Affairs updates and download the Monthly Current Affairs PDF for UPSC, SSC, Banking and all Govt & State level Competitive exams here.
Jagran Play
खेलें हर किस्म के रोमांच से भरपूर गेम्स सिर्फ़ जागरण प्ले पर
Jagran PlayJagran PlayJagran PlayJagran Play