अरुणाचल प्रदेश बन सकता है भारत का प्रमुख वैनेडियम उत्पादक

भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण (GSI) द्वारा किए जा रहे एक अन्वेषण में, इस पूर्वी हिमालयी राज्य को वैनेडियम के भंडार वाले मानचित्र पर प्रस्तुत किया गया है और भूवैज्ञानिकों को जल्दी ही यहां एक वैनेडियम भंडार मिलने की उम्मीद है.

Created On: Jan 13, 2021 15:38 ISTModified On: Jan 13, 2021 15:39 IST

अरुणाचल प्रदेश भारत का प्रमुख वैनेडियम उत्पादक राज्य बन सकता है. यह एक ऐसी उच्च-मूल्य की धातु है जिसका उपयोग स्टील और टाइटेनियम को मजबूत करने में किया जाता है. वैनेडियम के सबसे बड़े भंडार चीन में हैं, इसके बाद दक्षिण अफ्रीका और रूस हैं.  

भले ही भारत वैनेडियम का एक महत्वपूर्ण उपभोक्ता है, लेकिन अभी तक यह आवश्यक धातु का प्रमुख उत्पादक नहीं है. GSI के अधिकारियों के अनुसार, इस धातु को एक स्लैग से उप-उत्पाद के तौर पर  बरामद किया गया है जो कि वैनेडिफायर मैग्नेटाइट अयस्कों के प्रसंस्करण से एकत्र किया गया था.

वैनेडियम के बारे में

अपने शुद्ध रूप में, यह एक ग्रे, नरम और नमनीय तत्व है जो मुख्य रूप से खनन लौह अयस्क, स्टील स्लैग और फ़िलेलाइट्स से प्राप्त होता है. भारतीय खान ब्यूरो के अनुसार, भारत में वैनेडियम धातु का कुल अनुमानित भंडार 24.63 मिलियन टन है.

अरुणाचल प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में पाया जाने वाला वैनेडियम

राज्य के पापुम पारे जिले के तमांग और डेपो क्षेत्रों में वैलेडियम के संभावित भंडार को पैलियो-प्रोटेरोज़ोइक कार्बनलेस फाइटाइट चट्टानों में पाया गया. यह देश में वैनेडियम के प्रथम भंडार की पहली रिपोर्ट भी थी, जिसमें 0.76% वैनेडियम पेंटोक्साइड की औसत ग्रेड थी.

अरुणाचल प्रदेश में पाया जाने वाला यह खनिज पदार्थ भूगर्भीय रूप से पत्थर के कोयले के वैनेडियम डिपोजिट के समान है जो चीन में पाया जाता है. यह उच्च वैनेडियम तत्त्व 16% तक की निश्चित कार्बन तत्त्व के साथ ग्रेफाइट से जुड़ा हुआ है.

कैसे हुई यह खोज?

इस अन्वेषण के दौरान, भूवैज्ञानिकों ने डेपो क्षेत्र में 6 किमी से अधिक की लंबाई के साथ लगभग 7 मीटर मोटी कार्बनलेस फिलालाइट के दो बैंडों की खोज की थी. इन रिपोर्टों के अनुसार, 15.5 किमी की लंबाई और 7 मीटर की मोटाई के साथ इस धातु की अच्छी संभावनाएं लोअर सुबनसिरी जिले के सैया, डीड और फोप क्षेत्रों में पाई गईं. इस धातु के तत्त्व कारा डाडी में पर्लिन-संग्राम, पक्के-केसांग जिले, पश्चिम सियांग में कालामटी, सियांग जिले में काईंग और पश्चिम कामेंग में कलक्टांग में भी पाए गये हैं.

वैनेडियम का उपयोग और महत्वपूर्ण

  • वेनेडियम से बने मिश्र धातु अत्यधिक प्रतिकूल वातावरण और तापमान में टिकाऊ होते हैं और संक्षारण प्रतिरोधी भी होते हैं.
  • इस धातु का मिश्रण इस्पात की तन्यता ताकत और सुदृढ़ीकरण सलाखों को बेहतर बनाता है जो सुरंगों, भवनों और पुलों के लिए उपयोग किया जाता है.
  • उड्डयन और ऑटोमोबाइल उद्योगों में ईंधन दक्षता बढ़ाने के अलावा, यह वैनेडियम रिडॉक्स बैटरियों का अनिवार्य हिस्सा भी है जिससे ऊर्जा भंडारण में कम से कम पारिस्थितिक प्रभाव पड़ता है.

वैनेडियम की वैश्विक मांग

एक GSI विशेषज्ञ के अनुसार, इसकी वैश्विक मांग आसमान छू रही है, लेकिन मांग और आपूर्ति के बीच वर्ष, 2017 में लगभग 17,300 मीट्रिक टन की कमी थी. यह खनिज पदार्थ राष्ट्रीय और स्थानीय अर्थव्यवस्था को बढ़ावा दे सकता है.

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS