Search

प्लैनेटरी बॉडी से धरती पर पहुंची बहुमूल्य धातुएं: नासा

नासा के वैज्ञानिकों के सहयोग से किए गए इस अध्ययन में बताया गया है कि जिस समय धरती की रचना हो रही थी, उस वक्त एक चांद के आकार का विशालकाय भूमंडलीय पिंड (प्लैनेटरी बॉडी) धरती के केंद्र (कोर) में पहुंचा, जिसने सोने और प्लेटिनम जैसी बहुमूल्य धातुओं को धरती पर पहुंचाया.

Dec 7, 2017 17:18 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

मूल्यवान धातुओं की धरती पर मौजूदगी को लेकर वैज्ञानिकों की हैं अलग-अलग थ्योरी के बीच नासा ने यह बताया है कि प्लैनेटरी बॉडी से धरती पर बहुमूल्य धातुएं आईं. नासा के वैज्ञानिकों के सहयोग से किए गए इस अध्ययन में बताया गया है कि जिस समय धरती की रचना हो रही थी, उस वक्त एक चांद के आकार का विशालकाय भूमंडलीय पिंड (प्लैनेटरी बॉडी) धरती के केंद्र (कोर) में पहुंचा, जिसने सोने और प्लेटिनम जैसी बहुमूल्य धातुओं को धरती पर पहुंचाया. अमेरिका में साउथवेस्ट रिसर्च इंस्टीट्यूट (एसडब्ल्यूआरआइ) और यूनिवर्सिटी ऑफ मैरीलैंड के शोधकर्ताओं ने हाई रेजोल्यूशन इंपैक्ट सिमुलेशन तैयार किया जो धरती के केंद्र का महत्वपूर्ण हिस्सा दिखाने में सक्षम है, इसी के सहारे इस शोध को पूरा किया गया.

नासा के सोलर सिस्टम एक्स्प्लरेशन रिसर्च वचरुअल इंस्टीट्यूट (एसएसइआरवीआइ) की मदद से किए गए अध्ययन में बताया गया है कि ग्रहों के टकराव हमारे सौर मंडल के गठन का अहम हिस्सा हैं. वैज्ञानिक लंबे समय से मानते आ रहे हैं कि चांद के बनने के बाद धरती को काफी वक्त तक बमबारी के दौर से गुजरना पड़ा था. यह बमबारी करीब 3.8 अरब साल पहले कम हुई.


भारतीय शोधकर्ताओं ने 'कैंसर मेटास्टेसिस' से संबंधित दवा विकसित की

नासा के अनुसार, उस काल को जिसे लेट अक्रीशन कहा जाता है में चांद के आकार का एक विशालकाय भूमंडलीय पिंड धरती से टकराया. इसे प्लेनेटेसिमैल्स के नाम से जाना जाता है. तब धरती की सतह और आंतरिक भाग में धातुओं और चट्टानों से खनिज पदार्थ बने. एक अनुमान के मुताबिक, धरती के वर्तमान भार का 0.5 फीसद भाग ग्रहों के विकास के दौरान उन टक्करों से लाई गई चीजों का परिणाम है.

आकाशगंगा के ब्लैक होल के नजदीक तारे की खोज की घोषणा

नेचर जीओसाइंस नामक जर्नल में प्रकाशित अध्ययन के मुताबिक, सीमोन मारची और उनके सहयोगियों को इस अध्ययन में चांद के निर्माण के दौरान धरती पर बहुत अधिक चीजों के एकत्र होने के साक्ष्य मिले. इस अध्ययन में जिन चीजों के एकत्र होने की बात कही गई है वो अभी तक के दावों से बहुत अधिक है. इसमें प्लेटिनम, इरिडियम और सोने जैसे तत्वों के आने के संकेत मिले हैं, जो कि लोहे के साथ रासायनिक रूप से जुड़ गए. ये भौगोलिक घटना अभी तक की अवधारणाओं से कई वृहद अधिक स्तर पर घटित हुई थी. इसके साथ ही वैज्ञानिकों ने संभावना जताई है कि इस तरह जो धातुएं धरती पर पहुंचीं वो अभी तक की हमारी सोच से दो से पांच गुना अधिक हो सकती हैं. इस अध्ययन के परिणाम हमें चांद के बनने की थ्योरी से अधिक बहुत सी चीजों का जवाब देते हैं. इस अध्ययन की सबसे दिलचस्प बात ये है कि ये धरती पर सोने और प्लेटिनम की मौजूदगी के लिए टक्कर की थ्योरी को सही बताती है.

Download our Current Affairs & GK app For exam preparation

डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप एग्जाम की तैयारी के लिए

AndroidIOS