Search

पृथ्वी का भूवैज्ञानिक इतिहास

पृथ्वी के भूवैज्ञानिक इतिहास को अजोइक, पैलियोजोइक, मेसोजोइक, सेनोजोइक, और नियोजोइक नाम के पांच महाकल्पों में बांटा गया है| अजोइक महाकल्प सर्वाधिक प्राचीन महाकल्प है, जिसमें पृथ्वी पर किसी तरह का जीवन नहीं पाया जाता था| महाद्वीप और महासागरों का निर्माण प्री-कैम्ब्रियन युग में हुआ था तथा आधुनिक मानव या ‘होमोसेपियंस’ की उत्पत्ति क्वार्टनरी युग में हुई थी|
Apr 1, 2016 11:59 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon

पृथ्वी के भूवैज्ञानिक इतिहास को अजोइक, पैलियोजोइक, मेसोजोइक, सेनोजोइक, और नियोजोइक नाम के पांच महाकल्पों में बांटा गया है| अजोइक महाकल्प सर्वाधिक प्राचीन महाकल्प है, जिसमें पृथ्वी पर किसी तरह का जीवन नहीं पाया जाता था|

 

महाकल्प (Era)

कल्प (Period)

युग (Epoch)

युग के प्रारम्भ होने का समय

अजोइक (Azoic)

------

  1. प्री-कैम्ब्रियन या अलोगोनिकन (Alogonican)
  2. आर्कियन

-------

पैलियोजोइक (Palaeozoic)

प्राथमिक/ प्राइमरी (Primary)

  1. कैम्ब्रियन
  2. ओर्डोविसियन
  3. सिलुरियन
  4. डेवोनियन
  5. कार्बनीफेरस
  6. पर्मियन

600 मिलियन वर्ष पूर्व

मेसोजोइक (Mesozoic)

द्वितीयक/सेकेंडरी (Secondary)

  1. ट्रिएशिक
  2. जुरैसिक
  3. क्रिटेशस

25 मिलियन वर्ष पूर्व

सेनोजोइक (Cenozoic)

तृतीयक/टर्शियरी (Tertiary)

  1. इओसीन
  2. ओलिगोसीन
  3. मायोसीन
  4. प्लायोसीन

70 मिलियन वर्ष पूर्व

नियोजोइक (Neozoic)

चतुर्थक/क्वार्टनरी  (Quaternary)

   1. प्लीस्टोसीन

   2. होलोसीन (सर्वाधिक नवीन)

1 मिलियन वर्ष पूर्व

  • महाद्वीप और महासागरों का निर्माण प्री-कैम्ब्रियन युग में हुआ था|
  • महाद्वीपीय विस्थापन सिद्धान्त के अनुसार प्रारम्भ में पृथ्वी का सम्पूर्ण स्थलखंड एक वृहद भूखंड के रूप में एकत्रित था, जिसे ‘पैंजिया’ कहा जाता है| पैंजिया के चारों तरफ विस्तृत जलीय भाग को ‘पैंथालासा’ कहा जाता है| पैंजिया का निर्माण अजोइक महाकल्प में हुआ था|
  • कार्बनीफेरस युग में पैंजिया का विभाजन शुरू हो गया था| उत्प्लावक व गुरुत्वीय बल के कारण पैंजिया दो भागों में बंट गया| इसके उत्तरी भाग को ‘लारेंशिया’ और दक्षिणी भाग को ‘गोंडवानालैंड’ के नाम से जाना जाता था| इन दोनों भागों के मध्य पाये जाने वाले जलीय भाग को ‘टेथीस सागर’ के नाम से जाना जाता था| 
  • जुरैसिक युग में गोंडवानालैंड भी प्रायद्वीपीय भारत, मेडागास्कर, आस्ट्रेलिया और अंटार्कटिका भागों में विभाजित हो गया|
  • सिलुरियन युग को रीढ़ वाले जीवों के युग के नाम से भी जाना जाता है|
  • आधुनिक मानव या होमोसेपियंस की उत्पत्ति क्वार्टनरी युग में हुई थी|
  • जुरैसिक को ‘डायनासोर का युग’ के नाम से भी जाना जाता है और क्रिटेशस युग में डायनासोर विलुप्त हो गए थे|
  • स्थल पर जीवन की शुरुआत सिलुरियन युग में हुई थी|

संबन्धित जानकारी:

ब्रह्मांड की उत्पत्ति: बिग बैंग थ्योरी

पृथ्वी की आंतरिक संरचना व चट्टानों के प्रकार