ये चीजें कभी न करें नहीं तो सरकारी नौकरी का सपना रह सकता है अधूरा; एप्लीकेशन से लेकर सिलेक्शन तक

सरकारी नौकरी पाना हर किसी का एक सपना है, कौन नहीं चाहता कि वह सरकारी नौकरी पा कर एक सिक्योर करियर अपनाए. प्रतिस्पर्धा के इस दौर में सरकारी नौकरी पाना थोड़ा मुश्किल हो गया है और ऐसे में अगर अप्लीकेशन फार्म भरने से लेकर फाइनल सिलेक्शन तक कोई छोटी सी भी चूक हो जाए तो आपका यह सपना अधूरा रह सकता है.

Created On: May 31, 2017 18:17 IST

Govt jobसरकारी नौकरी पाना हर किसी का एक सपना है, कौन नहीं चाहता कि वह सरकारी नौकरी पा कर एक सिक्योर करियर अपनाए. प्रतिस्पर्धा के इस दौर में सरकारी नौकरी पाना थोड़ा मुश्किल हो गया है और ऐसे में अगर अप्लीकेशन फार्म भरने से लेकर फाइनल सिलेक्शन तक कोई छोटी सी भी चूक हो जाए तो आपका यह सपना अधूरा रह सकता है.

सबस पहले जरूरी है कि किसी भी सरकारी संस्था में आवेदन करने से पहले उसके नोटिफिकेशन के सभी निर्देशों को ध्यान से पढ़े. अप्लीकेशन फार्म भरने से पहले यह जान लें कि आप योग्य श्रेणी में आते हैं या नहीं और आवेदन किस तरीके से करना है, ऑनलाइन या ऑफलाइन? आवेदन में फर्जी दस्तावेजों का सहारा कभी नहीं लेना चाहिए. आवेदन में शैक्षिक योग्यता, अनुभव संबंधी जानकारी को बढ़ा-चढ़ा कर न लिखें.

सरकारी नौकरी पाने के लिए कई चरणों से होकर गुजरना पड़ता है जिसमें साक्षात्कार और लिखित परीक्षा प्रमुख है. अगर आप सरकारी नौकरी के लिए लिखित परीक्षा या साक्षात्कार देने जा रहे हैं तो आपको नीचे दी गई बातों का खासा ध्यान रखने की जरूरत है.

  • साक्षात्कार या लिखित परीक्षा के दौरान किसी भी अनुचित साधन का प्रयोग न करें.
  • परीक्षा हॉल में किसी के साथ बुरा बर्ताव न करें.
  • प्रश्न-पुस्तिका को परीक्षा हॉल से बाहर न लेकर जाएं.
  • अपने सिलेक्शन को लेकर किसी भी तरह के अनियमित तरीके का सहारा न लें.
  • फ़र्जी दस्तावेजों का सहारा न लें.

अगर आप इन अनुचित तरीकों का सहारा लेते पकड़े गए तो आप खुद पर आपराधिक मुकदमा चलवाने के लिए उत्तरदायी होंगे और सरकारी नौकरी पाने का आपका सपना अधूरा रह सकता है.

आपको परीक्षा या साक्षात्कार से डिस्क्वालिफाइ किया जा सकता है या फिर परमानेंट या कुछ निर्धारित अवधि के लिए उस संस्था की चयन प्रक्रिया से वंचित रखा जा सकता है. अगर आप सरकारी नौकरी करते हैं तो आपको अपनी नौकरी से भी हाथ धोना पड़ सकता है.

जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि कोई भी संगठन या विभाग अप्लिकेशन से लेकर सिलेक्शन तक के प्रॉसेस को बायोमैट्रिक प्रक्रिया या फिर वीडियोग्राफी के माध्यम से देख सकती है, यह उसका अधिकार है.

Comment (0)

Post Comment

6 + 7 =
Post
Disclaimer: Comments will be moderated by Jagranjosh editorial team. Comments that are abusive, personal, incendiary or irrelevant will not be published. Please use a genuine email ID and provide your name, to avoid rejection.