Search

आईबीपीएस क्लर्क 2016: परीक्षा- पूर्व प्रशिक्षण के लिए कॉल लेटर, ibps.in से करें डाउनलोड

आईबीपीएस ने सीडब्ल्यूई क्लर्क 2016 के लिए परीक्षा- पूर्व प्रशिक्षण के लिए कॉल लेटर जारी कर दिए हैं.

Oct 24, 2016 14:50 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

आईबीपीएस ने सीडब्ल्यूई क्लर्क 2016 के लिए परीक्षा- पूर्व प्रशिक्षण के लिए कॉल लेटर जारी कर दिए हैं. योग्य उम्मीदवार 13 नवंबर 2016 तक आईबीपीएस के आधिकारिक पोर्टल ibps.in से अपने कॉल लेटर डाउनलोड कर सकते हैं.

आईबीपीएस ने 07 नवंबर, 2016 से 12 नवंबर, 2016 तक सीडब्ल्यूई क्लर्क 2016 के लिए परीक्षा- पूर्व प्रशिक्षण आयोजित करने की अधिसूचना जारी की थी. कॉल लेटर 13 नवंबर तक डाउनलोड किये जा सकते हैं. इसलिए हो सकता है कि आईबीपीएस द्वारा एक दिन परीक्षा-पूर्व प्रशिक्षण बढ़ा दिया गया है. उम्मीदवार कॉल लेटर डाउनलोड करने के बाद ही इस संबंध में निश्चित हो सकते हैं.

आईबीपीएस अगरतला, आगरा, अहमदाबाद, इलाहाबाद, अमृतसर, औरंगाबाद, बालासोर, बरेली, बेहरामपुर (गंजाम), बेंगलुरू, भोपाल, भुवनेश्वर, चंडीगढ़, चेन्नई, कोयंबटूर, देहरादून, धनबाद, गोरखपुर, गुलबर्गा, गुवाहाटी, हुबली में प्रशिक्षण का आयोजन करेगा , हैदराबाद, इंदौर, जबलपुर, जयपुर, जम्मू, जोधपुर, कानपुर, करनाल, कवरत्ती, कोच्चि, कोलकाता, लखनऊ, लुधियाना, मदुरै, मंगलौर, मुंबई, मुजफ्फरपुर, मैसूर, नागपुर, नई दिल्ली, पणजी (गोवा), पटियाला, पटना, पोर्ट ब्लेयर, पुडुचेरी, पुणे, रायपुर, राजकोट, रांची, रोहतक, संबलपुर, शिमला, शिलांग, सिलीगुड़ी, तिरुचिरापल्ली, तिरुवनंतपुरम, तिरुपति, वडोदरा, वाराणसी, विजयवाड़ा और विशाखापत्तनम में प्रशिक्षण आयोजित करेगा.

आईबीपीएस क्लर्क परीक्षा-पूर्व प्रशिक्षण कॉल लेटर कैसे डाउनलोड करें?

योग्य उम्मीदवार अपने आवेदन नंबर / पंजीकरण संख्या और पासवर्ड / जन्म तिथि का उपयोग करके परीक्षा-पूर्व प्रशिक्षण के लिए कॉल लेटर डाउनलोड कर सकते हैं.

यदि उम्मीदवार एडमिट कार्ड डाउनलोड नहीं कर पाते तो  वे धैर्य रखें  और कुछ समय के बाद या पीक आवर्स के बाद फिर से कोशिश कर सकते हैं.

आईबीपीएस परीक्षा-पूर्व प्रशिक्षण के बारे में: अनुसूचित जाति/ अनुसूचित जनजाति / अल्पसंख्यक समुदाय / भूतपूर्व सैनिक / विकलांग उम्मीदवारों को विशेष प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए आईबीपीएस ने परीक्षा-पूर्व प्रशिक्षण का आयोजन किया है. उम्मीदवारों की एक सीमित संख्या को ही प्रशिक्षण दिया जायेगा.

Related Stories