Search

2028 तक दुनिया का सबसे अधिक आबादी वाला शहर होगा दिल्ली: यूएन रिपोर्ट

संयुक्त राष्ट्र के अनुसार वर्ष 2050 तक दुनिया की शहरी आबादी में भारत का योगदान सबसे अधिक होने के आसार हैं.

May 17, 2018 14:00 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

संयुक्त राष्ट्र के नए अनुमानों के मुताबिक वर्ष 2028 के आसपास दिल्ली दुनिया का सबसे अधिक आबादी वाला शहर बनने की संभावना है. संयुक्त राष्ट्र के अनुसार वर्ष 2050 तक दुनिया की शहरी आबादी में भारत का योगदान सबसे अधिक होने के आसार हैं.


रिपोर्ट से संबंधित मुख्य तथ्य:

•    संयुक्त राष्ट्र आर्थिक और सामाजिक मामलों के विभाग (यूएन डीईएसए) के जनसंख्या प्रभाग द्वारा पेश विश्व शहरीकरण संभावनाओं के पुनरावलोकन 2018 रिपोर्ट को 16 मई 2018 को जारी किया गया.

•    रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2050 तक दुनिया की 68 प्रतिशत जनसंख्या के शहरी क्षेत्रों में रहने का अनुमान है. इस समय दुनिया की 55 प्रतिशत आबादी शहरी क्षेत्रों में रहती है.

•    रिपोर्ट में कहा गया है कि भविष्य में दुनिया की शहरी जनसंख्या का आकार बढ़ने की उम्मीद है. भारत, चीन और नाइजीरिया वर्ष 2018 और वर्ष 2050 के बीच दुनिया की शहरी आबादी के अनुमानित विकास का 35 प्रतिशत हिस्सा होंगे.

•    वर्ष 2050 तक, यह अनुमान लगाया गया है कि भारत 41 करोड़ 60 लाख शहरी निवासियों, चीन 25 करोड़ 50 लाख और नाइजीरिया 18 करोड़ 90 लाख शहरी निवासियों को जोड़ेगा.  

•    रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2028 में नई दिल्ली की अनुमानित आबादी का आकार लगभग 3.72 करोड़ है, जो टोक्यो के 3.68 करोड़ से अधिक है.


सबसे बड़ी ग्रामीण आबादी:

भारत की सबसे बड़ी ग्रामीण आबादी 89.3 करोड़ है. इसके बाद चीन की ग्रामीण आबादी 57.8 करोड़ है.

विश्व का सबसे अधिक आबादी वाला शहर:

टोक्यो तीन करोड़ 70 लाख निवासियों के समूह के साथ विश्व का सबसे बड़ा शहर है. इसके बाद नई दिल्ली दो करोड़ 90 लाख, दो करोड़ 60 लाख के साथ शंघाई और मेक्सिको सिटी और साओ पाउलो, प्रत्येक दो करोड़ 20 लाख निवासी है. काहिरा, मुंबई, बीजिंग और ढाका में लगभग दो-दो करोड़ निवासी हैं.

यह भी पढ़ें: स्वच्छ सर्वेक्षण 2018 रिपोर्ट: इंदौर दूसरे वर्ष भी सबसे स्वच्छ शहर