Search

भारतीय लेखिका एनी जैदी को नाइन डॉट्स प्राइज 2019 का विजेता घोषित किया गया

यह एक प्रतिष्ठित पुस्तक पुरस्कार है जो विश्व भर के समसामयिक मुद्दों को उठाने वाले नवोन्मेषी विचारों को सम्मानित करने के लिए दिया जाता है. इसका मुख्य उद्देश्य नवीन सोच को बढ़ावा देना है.

May 30, 2019 16:18 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

भारतीय लेखिका एनी जैदी को 29 मई 2019 को एक लाख डॉलर के नाइन डॉट्स प्राइज 2019 का विजेता घोषित किया गया. यह पुरस्कार उन्हें उनकी प्रविष्टि ‘ब्रेड, सीमेंट, कैक्टस’ के लिए दिया गया है.

यह पुस्तक भारत में उनके समसामयिक जीवन के बेहतर अनुभवों में रचे-बसे स्मरण और घर एवं संपत्ति की अवधारणा को तलाश करते रिपोर्ताज का मिश्रण है.

नाइन डॉट्स पुरस्कार के बारे में:

यह एक प्रतिष्ठित पुस्तक पुरस्कार है जो विश्व भर के समसामयिक मुद्दों को उठाने वाले नवोन्मेषी विचारों को सम्मानित करने के लिए दिया जाता है. नाइन डॉट्स प्राइज नए लोगों को बिना सीमा या अंकुश के सोचने के लिए प्रोत्साहित करता है. इसका मुख्य उद्देश्य नवीन सोच को बढ़ावा देना है.

नाइन डॉट्ज प्राइज के विजेता को कैंब्रिज विश्वविद्यालय के सेंटर फॉर रिसर्च इन आर्ट्स, सोशल साइंसेज एंड ह्यूमैनिटीज (सीआरएएसएसएच) में कुछ समय बिताने का सुनहरा मौका दिया जाता है. इसका उद्देश्य विशेष लेखन शैली के जरिये आधुनिक मुद्दों पर लेखन कला को प्रोत्साहित करना है. यह आधुनिक और समसामयिक मसलों पर लेखन को भी प्रोत्साहित करता है.

एनी जैदी के बारे में:

एनी जैदी मुंबई की रहने वाली एक स्वतंत्र लेखिका हैं. वे निबंध, लघु कहानियां, कविताएं और नाटक लिखती हैं. उन्हें अपने लेखन के दौरान उपन्यास और काव्य दोनों लिखे हैं. इनके निबंधों के संग्रह को साल 2010 में क्रॉसवर्ड बुक अवार्ड से नवाजा गया है. वहीं ‘लव स्टोरीज 1-14’ के संकलन को साल 2012 में सम्मानित किया गया है.उन्होंने निबंध में भारतीय के तौर पर घर और इससे जुड़ी भावनाओं को बखूबी चित्रित किया है.

एक विषय पर निबंध लिखना:

प्रतिभागियों को पुरस्कार के लिए 3,000 शब्द में एक विषय पर निबंध लिखना होता है. नॉन डॉट्स पुरस्कार के विजेता को अपने जवाब को एक पुस्तक के रूप में ढालने हेतु सहयोग दिया जाता है जिसे कैंब्रिज यूनिवर्सिटी प्रेस (सीयूपी) द्वारा प्रकाशित किया जाता है.

इस पुस्तक में भारत में मृत्यु के पीछे की राजनीति और अर्थव्यवस्था, जाति संघर्ष, विवाह के धार्मिक पहलुओं एवं भारत विभाजन के सांस्कृतिक और भावनात्मक पहलुओं को छुआ गया है.

यह भी पढ़ें: ओमान की लेखिका जोखा अल्हार्थी को बुकर अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार मिला

Download our Current Affairs & GK app from Play Store

 

Download our Current Affairs & GK app For exam preparation

डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप एग्जाम की तैयारी के लिए

AndroidIOS