मलयालम फिल्म जल्लीकट्टू बनी भारत की आधिकारिक ऑस्कर प्रविष्टि

लिजो जोस पेलिसरी द्वारा निर्देशित, यह मलयालम फिल्म जल्लीकट्टू एक बैल के इर्द-गिर्द घूमती है, जो अपने निर्धारित वध की पूर्व संध्या पर दूरदराज के एक पहाड़ी गांव के एक बूचड़खाने से निकलता है और इस बैल को रोकने के लिए पुरुषों की एक पूरी जमात आगे आती है.

Created On: Nov 26, 2020 12:27 ISTModified On: Nov 26, 2020 12:27 IST

93 वें एकेडमी अवार्ड्स: मलयालम फिल्म जल्लीकट्टू को विदेशी भाषा की फिल्म श्रेणी में ऑस्कर के लिए भारत की आधिकारिक प्रविष्टि के तौर पर चुना गया है. इस फिल्म को सर्वसम्मति से हिंदी, मराठी और अन्य भाषाओं की 27 प्रविष्टियों में से चुना गया था.

लिजो जोस पेलिसरी द्वारा निर्देशित, यह मलयालम फिल्म जल्लीकट्टू एक बैल के इर्द-गिर्द घूमती है, जो अपने निर्धारित वध की पूर्व संध्या पर दूरदराज के एक पहाड़ी गांव के एक बूचड़खाने से निकलता है और इस बैल को रोकने के लिए पुरुषों की एक पूरी जमात आगे आती है.

इस फिल्म की कहानी एस. हरीश की एक लघु कहानी माओइस्ट पर आधारित है. इसे 24 वें बुसान इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में प्रदर्शित किया गया था. इसका वर्ष 2019 के टोरंटो अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में भी प्रीमियर हुआ था और इसे वहां व्यापक सराहना मिली थी.

93 वें एकेडमी अवार्ड्स 25 अप्रैल, 2021 को आयोजित किये जायेंगे.

मुख्य विशेषताएं

  • 93 वें एकेडमी अवार्ड्स में इंटरनेशनल फ़ीचर फ़िल्म श्रेणी में भारत की आधिकारिक प्रविष्टि के तौर पर जल्लीकट्टू का चयन फ़िल्म फेडरेशन ऑफ़ इंडिया (FFI) द्वारा 25 नवंबर, 2020 को किया गया था.
  • हिंदी, मलयालम और मराठी भाषाओं की फिल्मों सहित कुल 27 फिल्मों में से इस आधिकारिक प्रविष्टि का चयन किया जाना था.
  • फिल्म फेडरेशन ऑफ इंडिया के जूरी बोर्ड के सदस्य राहुल रवैल ने ऑस्कर में भारत का प्रतिनिधित्व करने के लिए जूरी के नामांकन के तौर पर, इस मलयालम फिल्म जल्लीकट्टू के नाम की घोषणा की थी.
  • उन्होंने कहा कि यह एक ऐसी फिल्म है जो उन मूल समस्याओं को सामने लाती है जो इंसानों में होती हैं, और यह साबित करती हैं कि हम जानवरों से भी बदतर हैं.
  • इस अवार्ड प्रतियोगिता की अन्य फिल्मों में द स्काई इज़ पिंक, छपाक, छलांग, गुलाबो सीताबो, शकुंतला देवी, ईब अलाय ऊ!, बुलबुल और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रसिद्द फीचर, दी डिसीपल शामिल थीं.

जल्लीकट्टू

जल्लीकट्टू फिल्म का नाम दक्षिण में लोकप्रिय और विवादास्पद बुल-टेमिंग कार्यक्रम से लिया गया है. इसमें अभिनेता एंटनी वर्गीस, चेम्बन विनोद जोस, सैंथी बालाचंद्रन और साबुमॉन अब्दुसमद जैसे कलाकारों ने दमदार अभिनय किया है.

फिल्म के निर्देशक लिजो जोस पेलिसरी ने वर्ष, 2019 में भारत के 50 वें अंतर्राष्ट्रीय फिल्म समारोह में सर्वश्रेष्ठ निर्देशक की ट्रॉफी जीती थी.

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Comment ()

Related Stories

Post Comment

9 + 0 =
Post

Comments