Search

टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स: 16 सितम्बर 2020

टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स, 16 सितम्बर 2020 के अंतर्गत आज के शीर्ष करेंट अफ़ेयर्स को शामिल किया गया है जिसमें मुख्य रूप से विश्व ओजोन दिवस और कोरोना वायरस आदि शामिल हैं.

Sep 16, 2020 18:07 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स, 16 सितम्बर 2020 के अंतर्गत आज के शीर्ष करेंट अफ़ेयर्स को शामिल किया गया है जिसमें मुख्य रूप से विश्व ओजोन दिवस और कोरोना वायरस आदि शामिल हैं.

World Ozone Day 2020: जानिए ओजोन दिवस का इतिहास और महत्व

यह दिवस प्रत्येक साल 16 सितंबर को पूरे दुनिया में मनाया जाता है. पृथ्वी के ऊपर मौजूद ओजोन परत तथा पर्यावरण में उसकी भूमिका के महत्त्व को उजागर करने के लिए प्रत्येक साल विश्व ओजोन दिवस मनाया जाता है. हर साल ओजोन परत के संरक्षण के लिए एक अलग थीम तैयार करके लोगों को इसके महत्व के बारे में जानकारी दी जाती है.

पहली बार विश्व ओजोन दिवस साल 1995 में मनाया गया था. यह दिवस जनता के बारे में पर्यावरण के महत्व तथा इसे सुरक्षित रखने के महत्वपूर्ण साधनों के बारे में शिक्षित करता है. इसे मनाने का उद्देश्य धरती पर ओजोन की परत का संरक्षण करना है. पराबैगनी किरण सूर्य से पृथ्वी पर आने वाली एक किरण है जिसमें ऊर्जा बहुत ज्यादा होती है.

 

वैज्ञानिकों ने शुक्र ग्रह पर अलौकिक जीवन के संभावित संकेतों का पता लगाया

इन वैज्ञानिकों ने शुक्र ग्रह के अम्लीय बादलों में फॉस्फीन नामक एक गैस का पता लगाया है जिससे यह इंगित होता है कि, पृथ्वी के पड़ोसी में जीवाणुओं का वास हो सकता है. हवाई में जेम्स क्लर्क मैक्सवेल टेलीस्कोप का उपयोग करके एक अंतरराष्ट्रीय वैज्ञानिक टीम द्वारा शुक्र ग्रह में पहली बार फॉस्फीन की उपस्थिति को देखा गया.

अध्ययन के सह-लेखक क्लारा सूसा-सिल्वा के अनुसार, शुक्र ग्रह पर फॉस्फीन को खोजने के लिए सबसे प्रशंसनीय व्याख्या अलौकिक जीवन का अस्तित्व है. मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में सोसा-सिल्वा आणविक खगोल भौतिकीविद् हैं.

 

लोकसभा ने आवश्यक वस्तु (संशोधन) विधेयक 2020 को मंजूरी दी

कृषि क्षेत्र में सुधार और किसानों की आय बढ़ाने के उद्देश्य से लोकसभा ने आवश्यक वस्तु अधिनियम (संशोधन) बिल-2020 पास कर दिया. इस बिल में खाद्य पदार्थों जैसे अनाज, दालें और प्याज को नियंत्रण मुक्त करने का प्रावधान है. हालांकि, विपक्षी दल ने इस विधेयक का विरोध किया. विपक्षी दल ने केंद्र सरकार से विधेयक और अध्यादेश वापस लेने की मांग की.

संसद ने आवश्यक वस्तु अधिनियम को 1955 में पारित किया था. तब से सरकार इस कानून की मदद से 'आवश्यक वस्तुओं' का उत्पादन, आपूर्ति और वितरण नियंत्रित करती है. इससे आवश्‍यक वस्‍तुएं उपभोक्ताओं को मुनासिब दाम पर उपलब्ध होती हैं. इस विधेयक में ऐसे प्रावधान किये गए है जिससे बाजार में स्पर्धा बढ़ेगी, खरीद बढ़ेगी और किसनों को उचित मूल्य मिल सकेगा.

 

योशिहिदे सुगा बने जापान के नए प्रधानमंत्री

स्वास्थ्य कारणों के चलते शिंजो आबे ने प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था. गौरतलब है कि शिंजो आबे लंबे समय से पेट से जुड़ी बीमारी से जूझ रहे हैं. योशिहिदे सुगा को 14 सितम्बर 2020 को जापान की सत्तारूढ़ लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी का नया नेता चुना गया था और इसके साथ ही उनका प्रधानमंत्री बनना तय हो गया था.

योशोहिदे सुगा एक आम किसान के बेटे हैं, उनके पिता स्ट्रॉबेरी की खेती करते थे. उनका राजनीतिक सफ़र उस समय शुरू हुआ जब उन्होंने टोक्यो के होसेई यूनिवर्सिटी से ग्रैजुएशन करने के तुरंत बाद संसदीय चुनाव अभियान के लिए काम किया. उन्होंने लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी के एक सांसद के सेक्रेटरी के रूप में काम किया.