हरित क्रांति पर आधारित सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी

हरित क्रान्ति के फलस्वरूप देश के कृषि क्षेत्र में महत्वपूर्ण प्रगति हुई। कृषि आगतों में हुए गुणात्मक सुधार के फलस्वरूप देश में ना केवल कृषि उत्पादन हुई अपितु व्यवसायिक कृषि को बढ़ावा मिला, कृषकों के दृष्टिकोण में परिवर्तन हुआ और कृषि आधिक्य में भी वृद्धि हुई है। इस लेख में हमने हरित क्रांति पर आधारित 10 सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी दिया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।
Jul 30, 2018 15:56 IST
    GK Questions and Answers on the Green Revolution HN

    हरित क्रान्ति के फलस्वरूप देश के कृषि क्षेत्र में महत्वपूर्ण प्रगति हुई। कृषि आगतों में हुए गुणात्मक सुधार के फलस्वरूप देश में ना केवल कृषि उत्पादन हुई अपितु व्यवसायिक कृषि को बढ़ावा, कृषकों के दृष्टिकोण में परिवर्तन हुआ, कृषि आधिक्य में वृद्धि हुई है। हरित क्रान्ति के फलस्वरूप गेहूँ, गन्ना, मक्का तथा बाजरा आदि फ़सलों के प्रति हेक्टेअर उत्पादन एवं कुल उत्पादकता में काफ़ी वृद्धि हुई है। हरित क्रान्ति की उपलब्धियों को कृषि में तकनीकि एवं संस्थागत परिवर्तन एवं उत्पादन में हुए सुधार के रूप में निम्नवत देखा जा सकता है- कृषि में तकनीकि एवं संस्थागत सुधार तथा रासायनिक उर्वरकों का प्रयोग।

    1.  20 वीं शताब्दी में नई कृषि रणनीति को अपनाने के लिए भारत में हरित क्रांति की शुरूआत कौन से दशक में की गई थी।

    A. 1960 के दशक में

    B. 1970 के दशक में

    C. 1950 के दशक में

    D. 1990 के दशक में

    Ans: B

    व्याख्या: हरित क्रांन्ति से अभिप्राय देश के सिंचित एवं असिंचित कृषि क्षेत्रों में अधिक उपज देने वाले संकर तथा बौने बीजों के उपयोग से फसल उत्पादन में वृद्धि करना हैं। हरित क्रान्ति भारतीय कृषि में लागू की गई उस विकास विधि का परिणाम है, जो 1970 के दशक में पारम्परिक कृषि को आधुनिक तकनीकि द्वारा प्रतिस्थापित किए जाने के रूप में सामने आई। इसलिए, B ही सही विकल्प है।

    2. निम्नलिखित में से किसने भारत में कृषि उत्पादन बढ़ाने के लिए 'सदाबहार क्रांति' शब्द का उपयोग किया था?

    A. नॉर्मन बोरलॉग

    B. एम. एस स्वामीनाथन

    C. राज कृष्णा

    D. आर. के. वी राव

    Ans: B

    व्याख्या: एम. एस स्वामीनाथन ने उत्पादन और उत्पादकता में वृद्धि के मार्ग को उजागर करने के लिए 'सदाबहार क्रांति' शब्द का प्रयोग किया था। इसलिए, B ही सही विकल्प है।

    3. विश्व में हरित क्रांति के जनक कौन थे?

    A. नॉर्मन बोरलॉग

    B. एम. एस स्वामीनाथन

    C. राज कृष्णा

    D. आर. के. वी राव

    Ans: A

    व्याख्या: हरित क्रांन्ति प्रारम्भ करने का श्रेय नोबल पुरस्कार विजेता प्रोफेसर नारमन बोरलॉग को जाता हैं। इसलिए, A ही सही विकल्प है।

    4. नॉर्मन बोरलाग किस देश के रहने वाले थे?

    A. संयुक्त राज्य अमेरिका

    B. मेक्सिको

    C. ऑस्ट्रेलिया

    D. न्यूजीलैंड

    Ans: A

    व्याख्या: नॉर्मन अर्नेस्ट बोरलॉग नोबेल पुरस्कार विजेता एक अमेरिकी कृषिविज्ञानी थे, जिन्हें हरित क्रांति का पिता माना जाता है। बोरलॉग उन पांच लोगों में से एक हैं, जिन्हें नोबेल शांति पुरस्कार, स्वतंत्रता का राष्ट्रपति पदक और कांग्रेस के गोल्ड मेडल प्रदान किया गया था। इसलिए, A ही सही विकल्प है।

    भारत के बहुउद्देशीय नदी-घाटी परियोजनाओं पर आधारित सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी

     5. भारत की हरित क्रांति का जनक किसे माना जाता है।

    A. नॉर्मन बोरलॉग

    B. एम. एस स्वामीनाथन

    C. राज कृष्णा

    D. आर. के. वी राव

    Ans: B

    व्याख्या: एम एस स्वामिनाथन पौधों के जेनेटिक वैज्ञानिक हैं जिन्हें भारत की हरित क्रांति का जनक माना जाता है। उन्होंने 1966 में मैक्सिको के बीजों को पंजाब की घरेलू किस्मों के साथ मिश्रित करके उच्च उत्पादकता वाले गेहूं के संकर बीज विकिसित किए। उन्हें विज्ञान एवं अभियांत्रिकी के क्षेत्र में भारत सरकार द्वारा सन 1972 में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया।  इसलिए, B ही सही विकल्प है।

     

    6. निम्नलिखित में से कौन हरित क्रांति को संदर्भित करता है?

    A. हरी खाद का उपयोग

    B. फसलों का उच्च उत्पादन

    C. उच्च पैदावार विविधता कार्यक्रम

    D. हरित वनस्पति

    Ans: C

    व्याख्या: हरित क्रांति को ‘नई कृषि रणनीति’ के रूप में  पहली बार भारत में खरीफ के मौसम में अमल में लाया गया था और इसे उच्च उपज देने वाली किस्म कार्यक्रम (HYVP) का नाम दिया गया था। इस कार्यक्रम को एक पैकेज के रूप में पेश किया गया था क्योंकि मुख्य तौर पर यह कार्यक्रम नियमित तथा पर्याप्त सिंचाई, खाद, उच्च उपज देने वाले किस्मों के बीज, कीटनाशकों पर निर्भर था। इसलिए, C सही विकल्प है।

    7. भारत में हरित क्रांति _________ के लिए बीज की उच्च पैदावार वाली किस्मों (एचवाईवी) की शुरूआत थी।

    A. बाजरा

    B. दाल

    C. गेहूं

    D. तिलहन

    Ans: C

    व्याख्या: भारत में हरित क्रांति द्वारा गेहूं के बीज की उच्च पैदावार वाली किस्मों (एचवाईवी) की शुरूआत थी। इसलिए, C सही विकल्प है।

    भारत में खाद्य अनाज फसलों की खेती पर आधारित सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी

     8. आजादी के बाद और हरित क्रांति के बाद निम्नलिखित में से किस फ़सल के उत्पादन में वृद्धि हुई है?

    A. चावल

    B. पटसन

    C. गेहूं

    D. दाल

    Ans: C

    व्याख्या: हरित क्रांति को ‘नई कृषि रणनीति’ के रूप में  पहली बार भारत में खरीफ के मौसम में अमल में लाया गया था जिसके कारण गेहूं गेहूं के बीज की उच्च पैदावार वाली किस्मों (एचवाईवी) के इस्तेमाल करने पर उसके पैदावार में वृद्धि हो गयी थी। इसलिए, C सही विकल्प है।

    9. निम्नलिखित कथनों पर विचार करें।

    I. खेती के क्षेत्रों का विस्तार

    II. मौजूदा खेत की दोहरी फसल

    III. हरित क्रांति की विधि में एचवाईवी बीजों का उपयोग

    उपरोक्त में से कौन सा कथन हरित क्रांति की विधि में तीन मूलभूत तत्वों में से एक नहीं है?

    A. Only I

    B. Only II

    C. I and III

    D. None of the above

    Ans: D

    व्याख्या: खेती के क्षेत्रों का विस्तार; मौजूदा खेत की दोहरी फसल; और हरित क्रांति की विधि में एचवाईवी बीजों का उपयोग तीन बुनियादी तत्व हैं। इसलिए, D सही विकल्प है।

    10. हरित क्रांति के लिए भारत में आरंभिक साइट के रूप में निम्नलिखित में से कौन सा राज्य चुना गया था?

    A. पंजाब

    B. तमिलनाडु

    C. आंध्र प्रदेश

    D. बिहार

    Ans: A

    व्याख्या: हरित क्रांति के लिए भारत में आरंभिक साइट के रूप में पंजाब राज्य चुना गया था। इसलिए, A सही विकल्प है।

    1000+ भारतीय भूगोल पर आधारित सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी

    Loading...

    Register to get FREE updates

      All Fields Mandatory
    • (Ex:9123456789)
    • Please Select Your Interest
    • Please specify

    • ajax-loader
    • A verifcation code has been sent to
      your mobile number

      Please enter the verification code below

    Loading...
    Loading...