जीव विज्ञान की विभिन्न शाखाओं के जनक की सूची

बायोलॉजी या जीव विज्ञान का अर्थ है जीवन का अध्ययन करना. अरस्तु के काल में जीव विज्ञान का एक क्रमबद्ध ज्ञान के रूप में विकास हुआ. इस लेख में हमने जीव विज्ञान की विभिन्न शाखाओं के जनक की सूची दी है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है और साथ ही आपके ज्ञान को भी बढ़ाएगी.
Mar 30, 2018 15:43 IST
    List of fathers of different branches of Biology

    जीव विज्ञान यानी बायोलॉजी विज्ञान की वह शाखा है जिसके अंतर्गत जीवधारियों का अध्ययन किया जाता है. बायोलॉजी शब्द का प्रयोग सबसे पहले लैमार्क तथा ट्रेविरेनस नामक वैज्ञानिकों ने सन 1801 में किया था. क्या आप जानते हैं कि विज्ञान की अन्य शाखाओं की भांति जीव विज्ञान की उत्पत्ति एवं विकास के पीछे मानव की दो मूलभूत प्रवार्तियाँ रहीं हैं:
    (a) प्रक्रति एवं प्राक्रतिक संसाधनों जिनमें जीवधारी शामिल हैं को अपने नियंत्रण में करके उनका उपयोग करना.
    (b) जीवधारियों के विषय में ज्ञान प्राप्त करने की जिज्ञासा.
    केवल जिज्ञासा की शांति के लिए जीवधारियों के अध्ययन को सैद्धांतिक जीव विज्ञान (Pure Biology) कहते हैं. जबकि मानव के हित के लिए जीवधारियों के अध्ययन को व्यावहारिक जीव विज्ञान (Applied Biology) कहते हैं. उपयोगी जंतुओं को पालने व पौधों को उगाने की प्रक्रिया मानव ने जब अपनाई तो पशु-पालन व क्रषि का प्रारम्भ हुआ और इसके फलस्वरूप जीवधारियों के विषय में काफी ज्ञान मानव को प्राप्त हुआ है.

    दुनिया की 5 सबसे खतरनाक दवाएं कौन सी हैं?
    जीव विज्ञान का एक क्रमबद्ध ज्ञान के रूप में विकास प्रसिद्ध ग्रीक दार्शनिक अरस्तु (Aristotle 384- 322 B.C.) के काल में हुआ था. उन्होंने पौधों व जंतुओं के जीवन के विभिन्न पक्षों के विषय में अपने विचार प्रकट किए. इसलिए अरस्तु को जीव विज्ञान का जनक (Father of Biology) कहते है. आइये इस लेख के माध्यम से जीव विज्ञान की विभिन्न शाखाओं के जनक की सूची के बारे में अध्ययन करते है,
    जीव विज्ञान की विभिन्न शाखाओं के जनक की सूची

     

    शाखा

    जनक

    1.

    जीव विज्ञान (Biology)

    अरस्तु

    2.

    वनस्पति विज्ञान (Botany)

    थियोफ्रेस्टस  

    3.

    जिवशिमकी  (Palaeontology)

    लियोनार्डो डी विन्सी

    4.

    सुजननिकी (Eugenics)

    एफ. गाल्टन

    5.

    आधुनिक वनस्पति विज्ञान (Modern Botany)

    लिनियस

    6.

    प्रतिरक्षा विज्ञान (Immunology)

    एडवर्ड जैनर

    7.

    आनुवंशिकी (Genetics)

    ग्रेगर जॉहन मेंडेल

     

    8.

    आधुनिक आनुवंशिकी (Modern Genetics)

    टी.एच मॉर्गन

    9.

    कोशिका विज्ञान (Cytology)

    रोबर्ट हुक

    10.

    वनस्पति चित्रण (Botanical Illustrations)

    क्रीटियस

    11.

    पादप शारीरिकी (Plant Anatomy)

    एन. ग्रिऊ

    12.

    जन्तु विज्ञान (Zoology)

    अरस्तु

    13.

    वर्गिकी (Taxonomy)

    लिनियस

    14.

    चिकित्सा शास्त्र (Medicine)

    हिप्पोक्रेटस

    15.

    औतिकी (Histology)

    मार्सेलो मैलपीजी

    16.

    उत्परिवर्तन सिद्धांत के जनक (Mutation Theory)

    ह्यूगो डी. व्रीज

    17.

    तुलनात्मक शारीरिकी (Comparative Anatomy)

    जी. क्यूवियर

    18.

    कवक विज्ञान (Mycology)

    माइकेली

    19.

    पादप कार्यकी (Plant Physiology)

    स्टीफन हेल्स  

    20.

    जीवाणु विज्ञान (Bacteriology)

    ल्यूवेनहॉक

    21.

    सूक्ष्म जीव विज्ञान (Microbiology)

    लुई पाश्‍चर

    22.

    भारतीय कवक विज्ञान (Indian Mycology)

    ई. जे. बटलर

    23.

    भारतीय ब्रायोलॉजी (Indian Bryology)

    एस. आर. कश्यप

    24.

    भारतीय पारिस्थितिकी (Indian Ecology)

    आर. मिश्रा

    25.

    भारतीय शैवाल विज्ञान (Indian Phycology)

    एम. ओ. ए. आयंगर

    26.

    आधुनिक भ्रूण विज्ञान (Modern Embryology)

    वान बेयर

    प्राकृतिक विज्ञान की तीन विशाल शाखाओं में से एक जीव विज्ञान है. इसमं  हम भांति-भांति के जीवों का अध्ययन करते हैं. यह विज्ञान जीव, जीवन और जीवन के प्रक्रियाओं के अध्ययन से सम्बन्धित है. इस विज्ञान की कई शाखाएँ हैं जिसके अलग-अलग जनक है जिन्हें हमने इस लेख के माध्यम से अध्ययन किया है.

    जानें किस उम्र के व्यक्ति को दिन में कितने घंटे सोना चाहिए

    Loading...

    Register to get FREE updates

      All Fields Mandatory
    • (Ex:9123456789)
    • Please Select Your Interest
    • Please specify

    • ajax-loader
    • A verifcation code has been sent to
      your mobile number

      Please enter the verification code below

    Loading...
    Loading...