अरुणा रेड्डी ने जिमनास्टिक विश्व कप में ब्रॉन्ज मेडल जीत कर इतिहास रचा

Feb 26, 2018 12:46 IST

भारत की जिमनास्ट अरुणा रेड्डी ने 24 फरवरी 2018 को जिमनास्टिक विश्व कप में एकल पदक जीत कर इतिहास रचा. अरुणा रेड्डी जिमनास्टिक विश्व कप में ब्रॉन्ज मेडल जीतने वाली पहली भारतीय खिलाड़ी बन गई हैं.

मेलबर्न में हुए विश्व कप में रेड्डी ने ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया. महिलाओं की वॉल्ट में 22 वर्षीय रेड्डी 13.649 अंक के साथ तीसरे पायदान पर रहीं. वहीँ एक ओर भारतीय खिलाड़ी प्रणति नायक ने 13.416 अंकों के साथ छठा स्थान हासिल किया.

स्लोवेनिया की तजासा किसलेफ ने 13.8 अंको के साथ गोल्ड मेडल हासिल किया वहीं ऑस्ट्रेलिया की ऐमिली वाइटहेड ने 13.699 अंको के साथ सिलवर मेडल जीता.

अरुणा रेड्डी

•    अरुणा रेड्डी कराटे की पूर्व ब्लैक बैल्ट और ट्रेनर भी रह चुकी हैं.

•    वर्ष 2005 में रेड्डी ने अपना पहला नेशनल मेडल जीता था.

•    वे 2014 कॉमनवेल्थ गेम्स में वॉल्ट इवेंट के क्वालिफिकेशन राउंड में 14वें स्थान पर रहीं थी. वहीं एशियन गेम्स में नौवें स्थान पर रही.

•    अरुणा ने धीरे धीरे अपने प्रदर्शन में सुधार किया और 2017 एशियन चैंपियनशिप में वॉल्ट में छठे स्थान पर रहीं. दुनिया में जिमनास्टिक में भारतीय चुनौती 2010 से देखने को मिल रही है.

वीडियो: इस सप्ताह के करेंट अफेयर्स घटनाक्रम जानने के लिए देखें

 



जिम्नास्टिक विश्व कप में अन्य भारतीय खिलाड़ी

इसी प्रतियोगिता में शानदार प्रदर्शन कर रहे उड़ीसा के राकेश पात्रा 13.733 अंकों के साथ चौथे नंबर पर रहे और पदक से चूक गए. राकेश को रविवार को पैरेलल बार्स का फ़ाइनल भी खेलना है. कॉमनवेल्थ और एशियन गेम्स के पदक विजेता आशीष कुमार ने वॉल्ट के फ़ाइनल में जगह बनाई. आशीष रविवार को वॉल्ट के फ़ाइनल में खुद को आज़माएंगे. जबकि अरुणा रेड्डी फ़्लोर एक्सरसाइज़ेज़ में प्रतियोगिता में उतरेंगी. अरुणा के साथ वॉल्ट में उड़ीसा की प्रणति नायक ने भी फ़ाइनल में जगह बनाई. लेकिन वे फ़ाइनल में 13.416 अंकों के साथ पांचवें नंबर पर रहीं. वो अरुणा से 0.233 अंक पीछे रहीं.

पृष्ठभूमि

इससे पूर्व आशीष कुमार ने 2010 कॉमनवेल्थ गेम्स में जिमनास्टिक का पहला मेडल जीता था. आशीष ने कांस्य पदक जीता. उसके बाद रियो ओलिंपिक में दीपा कर्माकार ने दुनिया के सामने जिमनास्टिक में भारत की मजबूत दावेदारी पेश की. भारत की ओर से दीपा 52 वर्षों में ओलिंपिक के लिए क्वालिफाई करने वाली पहली भारतीय जिमनास्ट बन गई थी. हालांकि वे कांस्य पदक जीतने से काफी करीब से चूक गई थीं.

यह भी पढ़ें: शिखर धवन वनडे में 4000 रन बनाने वाले भारत के दूसरे सबसे तेज बल्लेबाज बने

Is this article important for exams ? Yes3 People Agreed

Commented

    Register to get FREE updates

      All Fields Mandatory
    • (Ex:9123456789)
    • Please Select Your Interest
    • Please specify

    • ajax-loader
    • A verifcation code has been sent to
      your mobile number

      Please enter the verification code below