जल जीवन मिशन: जम्मू-कश्मीर दिसंबर 2022 तक प्रत्येक परिवार को नल का पानी उपलब्ध कराएगा

जल जीवन मिशन का मुख्य उद्देश्य हर घर को पीने का पानी उपलब्ध कराना है. इसका उद्देश्य प्रत्येक ग्रामीण परिवार को नल कनेक्शन प्रदान करना है. केंद्र सरकार प्राथमिकता के आधार पर मिशन को लागू करेगी.

Created On: May 14, 2020 12:15 ISTModified On: May 14, 2020 11:59 IST

जम्मू और कश्मीर ने जल जीवन मिशन (JJM) के तहत दिसंबर 2022 तक सभी ग्रामीण परिवारों को पानी की आपूर्ति के लिए नल का कनेक्शन प्रदान करने की योजना बनाई है. हरियाणा के गांवों के घरों में भी साल 2022 तक पीने का साफ पानी पहुंचाने के लिए नल लगाने का टारगेट तय कर लिया गया है. घरों में नल लगाने का काम ‘जल जीवन मिशन’ के तहत होगा.

वर्तमान वर्ष के दौरान, केंद्र शासित प्रदेश (यूटी) तीन जिलों – गंदरबल, श्रीनगर और रायसी के सभी 5,000 गांवों के 100 प्रतिशत कवरेज के लिए योजना बना रहा है. केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों को दो उद्देश्यों को प्राप्त करने हेतु इस मिशन को अपनाने की सलाह दी है. इसमें प्रत्येक ग्रामीण परिवार को नल का जल कनेक्शन प्रदान करना और स्थानीय लोगों और प्रवासियों को नौकरी के अवसर प्रदान करना शामिल है.

उद्देश्य

जल जीवन मिशन का मुख्य उद्देश्य हर घर को पीने का पानी उपलब्ध कराना है. इसका उद्देश्य प्रत्येक ग्रामीण परिवार को नल कनेक्शन प्रदान करना है. केंद्र सरकार प्राथमिकता के आधार पर मिशन को लागू करेगी.

चालू घरेलू नल कनेक्शन

केंद्र शासित प्रदेश के अधिकारियों ने जल जीवन मिशन के तहत प्रत्येक परिवार को नल द्वारा जल आपूर्ति से सम्बंधित अपनी कार्ययोजना कल पेयजल और स्वच्छता विभाग को पेश की. केंद्र शासित प्रदेश के अधिकारियों ने कहा कि यूटी में 18.17 लाख घर हैं, जिनमें से 5.75 लाख घरों को पहले ही चालू घरेलू नल कनेक्शन (एफएचटीसी) दिए जा चुके हैं. शेष घरों में से 1.76 लाख घरों को साल 2020-21 तक नल का कनेक्शन उपलब्ध कराने की योजना है.

680 करोड़ रुपये मिलने की संभावना

इस वित्तीय वर्ष के लिए संघ शासित प्रदेश को जल जीवन मिशन के तहत केंद्र के हिस्से के रूप में 680 करोड़ रुपये मिलने की संभावना है. केंद्र शासित प्रदेश, भौतिक और वित्तीय प्रदर्शन के आधार पर अतिरिक्त आवंटन के योग्य है. केंद्र शासित प्रदेश प्रशासन दिसंबर 2022 तक 100 प्रतिशत कवरेज की योजना बना रहा है, जबकि राष्ट्रीय लक्ष्यसाल  2024-25 के लिए निर्धारित किया गया है.

इस मिशन के तहत हरियाणा सरकार ने साल 2019-20 में 1.05 लाख नल कनेक्शन प्रदान किए हैं. हरियाणा में 28.94 घर हैं. इनमें से 18.83 लाख में पहले से नल का जल कनेक्शन है और 10.11 लाख घरों को कवर किया जाना है.

सम्मानजनक जीवन जीने में मदद

कोविड  -19 महामारी के इस कठिन समय के दौरान, ग्रामीण क्षेत्रों में घरेलू नल कनेक्शन प्रदान करने के प्रयासों से जीवन जीने में आसानी होगी. खासकर महिलाओं और लड़कियों को कठिन परिश्रम से निजात मिलेगी और उन्हें सुरक्षित और सम्मानजनक जीवन जीने में मदद मिलेगी.

जल जीवन मिशन की आवश्यकता क्यों?

विभिन्न रिपोर्टों में प्रकाशित आंकड़ों के अनुसार, देश के लगभग आधे घरों में पाइप से जलापूर्ति की सुविधा नहीं है. देश में भूजल स्तर की घटती मात्रा के कारण जल संरक्षण की तत्काल आवश्यकता है. इसलिए, जल जीवन मिशन स्थानीय स्तर पर पानी की एकीकृत मांग और आपूर्ति प्रबंधन पर ध्यान केंद्रित करेगा.

पानी की आपूर्ति उपलब्ध कराना

सरकार कोरोना (कोविड-19) महामारी के कारण ग्रामीण समुदायों व समाज के गरीब और हाशिए पर रहने वाले लोगों को उनके घर में ही नल कनेक्शन के माध्यम से पानी की आपूर्ति उपलब्ध कराना चाहती है ताकि उन्हें संक्रमित होने से सुरक्षित रखा जा सके. उन्हें पानी लाने के लिए  सार्वजनिक जगहों पर जाना नहीं पड़े और वे सामाजिक दूरी बनाये रखने के मानदंडों का पालन करते हुए अपने आप को सुरक्षित रख सकें.

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Comment ()

Related Stories

Post Comment

4 + 9 =
Post

Comments