Search

सऊदी अरब सरकार का बड़ा फैसला, अब रेस्तरां में अकेले प्रवेश कर सकेंगीं महिलाएं

सऊदी अरब सरकार ने रेस्तरां के अलग-अलग प्रवेश द्वार को भी खत्म कर दिया है. इससे पहले, परिवारों और महिलाओं हेतु एक प्रवेश द्वार होना अनिवार्य था और दूसरा पुरुषों के लिए अलग से प्रवेश द्वार था.

Dec 9, 2019 11:45 IST
facebook IconTwitter IconWhatsapp Icon

सऊदी अरब सरकार के अनुसार अब रेस्‍तरां में अकेले महिलाएं प्रवेश कर सकती है. इससे पहले, सऊदी अरब में महिलाओं को अकेले रेस्‍तरां में जाने का अधिकार नहीं था. किसी महिला को कानूनी तौर पर अकेले रेस्‍तरां में प्रवेश करने पर प्रतिबंध था.

इससे पहले वे किसी पुरुष रिश्‍तेदार के साथ ही रेस्‍तरां में प्रवेश कर सकती थीं. लेकिन सऊदी सरकार ने अब इस प्रतिबंध को हटा दिया है. सऊदी अरब में अब पुरुषों एवं महिलाओं के बीच होने वाले भेदभाव को खत्म करने का प्रयास किया जा रहा है. सऊदी अरब में लगातार कानूनों में बदलाव किए जा रहे हैं.

सऊदी अरब सरकार ने रेस्तरां के अलग-अलग प्रवेश द्वार को भी खत्म कर दिया है. इससे पहले, परिवारों और महिलाओं हेतु एक प्रवेश द्वार होना अनिवार्य था और दूसरा पुरुषों के लिए अलग से प्रवेश द्वार था. सरकार द्वारा इस नियम को हटाते हुए प्रवेश द्वार को एक कर दिया गया है.

गौरतलब है कि सऊदी अरब में व्यापक सामाजिक सुधारों की बयार चल रही है. सऊदी अरब के क्राउन प्र‍िंस मोहम्‍मद बिन सलमान के विजन 2030 का हिस्सा बताया है. बता दें कि सऊदी अरब की वास्तविक सत्ता प्रिंस सलमान के ही हाथ में है तथा वे सऊदी शासन को तरक्की पसंद एवं उदारवादी चेहरा देना चाहते हैं.

यह भी पढ़ें:स्वीडन के 16वें नरेश कार्ल गुस्ताफ पांच दिवसीय भारत दौरे पर, भारत-स्वीडन के बीच हुए तीन समझौते

पृष्ठभूमि

हाल ही में सऊदी मंत्रालय ने कहा कि रेस्तरां को अब जेंडर बेस प्रवेश द्वारों को बनाए रखने की आवश्यकता नहीं होगी. इसके बजाय व्यवसायों को तय करने हेतु छोड़ दिया जाएगा. अब तक, रेस्तरां के अंदर, परिवारों एवं महिलाओं को आम तौर पर अलग कर दिया जाता था. सरकार ने साल 2018 में महिला ड्राइवरों पर एक दशक लंबे प्रतिबंध को भी समाप्त कर दिया था.

सऊदी अरब में महिलाओं के बारे में कई गलत धारणाएं प्रच‍लित हैं. सऊदी अरब की महिलाओं को हाल ही में स्वतंत्र रूप से यात्रा करने की अनुमति मिली है. इस पहले पुरुष अभिभावक को साथ होना जरूरी था. सरकार ने इस साल की शुरुआत में सऊदी महिलाओं को एक पुरुष अभिभावक की अनुमति के बिना विदेश यात्रा करने की अनुमति दे दी थी.

यह भी पढ़ें:Haj 2020: हज प्रक्रिया को पूरी तरह डिजिटल बनाने वाला विश्व का पहला देश बना भारत

यह भी पढ़ें:डोनाल्ड ट्रंप ने हांगकांग लोकतंत्र समर्थक बिल पर किए हस्ताक्षर, जाने हांगकांग संघर्ष क्या है?

Download our Current Affairs & GK app For exam preparation

डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप एग्जाम की तैयारी के लिए

AndroidIOS