Search

प्रथम पंचवर्षीय योजना

प्रथम पंचवर्षीय योजना जवाहर लाल नेहरू द्वारा प्रस्तुत किया गया था जो की हॅरोड-डोमर योजना पर आधारित था.
Aug 6, 2014 16:22 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon

संक्षिप्त विवरण

- प्रथम पंचवर्षीय योजना जवाहर लाल नेहरू द्वारा प्रस्तुत किया गया था जो की हॅरोड-डोमर योजना पर आधारित था.
- यह योजना मुख्यतया कृषि क्षेत्र पर आधारित थी.
- इसके लिए प्रायोजित राशि 2069 करोड़ रुपये थी.
- सकल घरेलू उत्पाद दर ३.6 प्रतिशत था जबकि अनुमानित दर २.1 प्रतिशत था.

विवरण

भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू ने  प्रथम पंचवर्षीय योजना को संसद के समक्ष 8 दिसंबर 1951 को रखा. यह योजना हॅरोड- डोमर योजना पर आधारित थी. योजना का मुख्य लक्ष्य कृषि क्षेत्र था जिसके अंतर्गत बाँध व सिंचाई मुख्य बिंदु थे. स्वतंत्रता के बाद बँटवारे के कारण कृषि क्षेत्र बुरी तरह से प्रभावित था अतः उसपर ध्यान देना प्रथम वरीयता का कार्य था.

इस योजना के लिए कुल प्रस्तावित राशि 2069 करोड़ रुपये थी जिसे 7 व्यापक क्षेत्रों में विभाजित किया गया था:

सिंचाई व ऊर्जा (27.2 प्रतिशत )

कृषि व सामुदायिक विकास (17.4 प्रतिशत)

भूमि पुनः सुधार ( 4.1 प्रतिशत)

यातायात व संचार ( 24 प्रतिशत)

उद्योग (8.4 प्रतिशत)

सामाजिक सेवा (16.64 प्रतिशत)

अन्य क्षेत्र व सेवाएँ (2.5 प्रतिशत)

वास्तविकता व आँकड़े

1. जीडीपी व एनडीपी वृद्धि

उस वर्ष लक्षित सकल घरेलू उत्पाद 2.1 प्रतिशत अनुमानित था जबकि  वास्तविक आँकड़े बताते है की सकल घरेलू उत्पाद का प्रतिशत 3.6 प्रतिशत था. एनडीपी में 15 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गयी थी.

2. प्रति व्यक्ति आय वृद्धि

प्रस्तुत वर्ष में अपेक्षाकृत भारी वर्षा तथा अन्य सहायक तत्वों ने उत्पादन में भारी वृद्धि दर्ज की जिससे की प्रति व्यक्ति आय में भी वृद्धि हुई जो मी लगभग 8 प्रतिशत था. राष्ट्रीय आय में 18 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी हुई जो की प्रतिव्यक्ति आय से ज़्यादा थी जिसका कारण उन वर्षों में लगातार तेज़ी से जनसंख्या में वृद्धि होना था.

3. प्रस्तुत योजना के दौरान होने वाले नये कार्यक्रम

इस योजना के दौरान कई सिंचाई कार्यक्रमों की शुरुआत हुई, जिनमें भाकड़ा बाँध व हीरकुंडबाँध भी सम्मिलित हैं.