Search

मुद्रा के कार्य

मुद्रा की सबसे महत्वपूर्ण कार्य है लेनदेन को सुविधाजनक बनाना. इसका इस्तेमाल लेनदेन के सन्दर्भ में आसानी से किया जा सकता है.
Nov 5, 2014 11:05 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon

मुद्रा एक ऐसा मूल्यवान रिकॉर्ड है या आमतौर पर वस्तुओं और सेवाओं के लिए भुगतान के रूप में स्वीकार किया जाने वाला तथ्य है. यह सामाजिक-आर्थिक संदर्भ के अनुसार ऋण के पुनर्भुगतान के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है.

मुद्रा का मुख्य कार्य हैं:

• विनिमय का माध्यम
• खाते की एक इकाई
• मूल्य की एक दुकान
• आस्थगित भुगतान का एक मानक

विनिमय का माध्यम

मुद्रा का सबसे महत्वपूर्ण कार्य है लेनदेन को सुविधाजनक बनाना. इसका इस्तेमाल लेनदेन के सन्दर्भ में आसानी से किया जा सकता है. बिना मुद्रा के किसी भी प्रकार के लेनदेन को संभव नहीं बनाया जा सकता है. साथ ही अगर हम किसी भी वस्तु के बदले कोई वस्तु न लेना चाहे तो यह मुद्रा ही है जिसके माध्यम से हम व्यापारिक गतिविधियों को संपन्न कर सकते हैं. वस्तु विनिमय प्रणाली के अंतर्गत एक वस्तु का किसी अन्य वस्तु से तभी हस्तांतरण किया जा सकता है जब दोनों दलों की तरफ से किये जाने वाले लेनदेन का मूल्य बराबर हो और उनकी मांग समान हो. मुद्रा इन्हीं समस्याओं को समाप्त करता है और दोनों तरफ के विनिमय को संभव बनाता है. इसके द्वारा दोनों दलों को किसी भी प्रकार की समस्या से न केवल निजात मिलेगी बल्कि वस्तुओ और सेवाओ के लेनदेन की प्रक्रिया आसन होगी.

खाते की इकाई

मुद्रा खाते की एक इकाई के रूप में भी कार्य करता है. यह वस्तुओं और सेवाओं के मूल्य को मापने का एक आम उपाय भी है. इसके माध्यम से किसी भी वस्तु या सेवा के मूल्य को जाना जा सकता है. साथ ही कोई खरीदार या बेंचने वाला किसी वस्तु की कितनी कीमत अदा कर रहा है या कितनी कीमत वसूल कर रहा है यज सब कुछ मुद्रा के मूल्य के आधार पर ही निर्धारित किया जा सकता है.

मूल्य के स्टोर

मूल्य की एक दुकान के रूप में मुद्रा कोई अद्वितीय चीज नहीं है. उल्लेखनीय है की हर चीज की मूल्य में वृद्धि होती है और घटती भी है जैसे कला, भूमि, डाक टिकटों आदि मनी के रूप में मूल्यांकित नहीं किये जा सकते हैं लेकिन मुद्रा का मूल्य मुद्रा स्फीति पर कम होता है. इसके माध्यम से किसी भी चीज तक आसानी से पहुंचा जा सकता है.

स्थगित भुगतान के मानक

इसका इस्तेमाल किसी भी ऋण को देने में किया जा सकता है. साथ ही न्यायलय में वैध निविदा के रूप में भी इसका इस्तेमाल किया जा सकता है. बैंको में भी इसका इस्तेमाल ऋण देने और व्याज से मुक्ति हेतु इस्तेमाल किया जा सकता है.