Search

क्रिकेट में रन आउट और बैट के साइज से जुड़े नये नियम

विश्व में क्रिकेट के खेल की सबसे बड़ी संचालक संस्था अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद् (ICC) द्वारा समय-समय पर क्रिकेट को और भी लोकप्रिय बनाने हेतु नये नये नियमों को लागू किया जाता रहा है. इसी क्रम में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद् (ICC) द्वारा 23 जून, 2017 को कुछ नए नियमों की घोषणा की गई है, जो 1 अक्टूबर, 2017 से प्रभावी होंगे. इस लेख में हम अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद् (ICC) द्वारा अपनाए गए नये नियमों का विस्तृत विवरण दे रहे हैं.
Jun 27, 2017 12:36 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon

विश्व में क्रिकेट के खेल की सबसे बड़ी संचालक संस्था अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद् (ICC) द्वारा समय-समय पर क्रिकेट को और भी लोकप्रिय बनाने हेतु नये नये नियमों को लागू किया जाता रहा है. इसी क्रम में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद् (ICC) द्वारा 23 जून, 2017 को कुछ नए नियमों की घोषणा की गई है, जो 1 अक्टूबर, 2017 से प्रभावी होंगे. इस लेख में हम अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद् (ICC) द्वारा अपनाए गए नये नियमों का विस्तृत विवरण दे रहे हैं.

1. बल्ले के आकार पर पाबंदी

वर्तमान समय में क्रिकेट के खेल में बल्लेबाजों का प्रभुत्व बढ़ता जा रहा है, जिसका सबसे बड़ा उदाहरण यह है कि पिछले कुछ समय से वनडे और टी20 क्रिकेट में बड़े-बड़े स्कोर बन रहे हैं और उन्हें आसानी से हासिल भी किया जा रहा है. अतः बल्ले और गेंद के बीच सामंजस्य बिठाने के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद् (ICC) द्वारा बल्लों के आकार के संबंध में कुछ नए नियम की घोषणा की गई है, जिसके अनुसार अब बल्लों की मोटाई को 108 मिमी तक, गहराई को 67 मिमी तक और किनारों को 40 मिमी तक सीमित कर दिया गया है.
ICC Cricket Bat Size Laws
क्रिकेट मैचों में गेंदबाजों की गति को कैसे मापा जाता है

2. डीआरएस और अम्पायर्स कॉल से संबंधित नियम

नए नियमों के तहत यदि कोई टीम डीआरएस का उपयोग करती है और अम्पायर्स कॉल की घटना सामने आती है तो ऐसी स्थिति में उस टीम का एक रिव्यू बर्बाद नहीं होगा.

अम्पायर्स कॉल क्या है?

यह अवधारणा एलबीडब्ल्यू के फैसलों को प्रभावित करता है. जब एक एलबीडब्ल्यू निर्णय की समीक्षा की जाती है, तो संदेह का लाभ मैदानी अंपायर के मूल निर्णय के आधार पर दिया जाता है. यदि बॉल-ट्रैकिंग तकनीक के द्वारा यह पता चलता है कि गेंद का आधा भाग ऑफ स्टम्प या लेग स्टम्प के बाहरी किनारे से टकरा रहा है तो टेलीविजन अम्पायर, मैदानी अम्पायर द्वारा दिए गए निर्णय को ही अंतिम निर्णय मानता है और इसी कारण इस पूरे घटनाक्रम को अम्पायर्स कॉल कहा जाता है.
umpires call
Image source: ESPN Cricinfo

3. टेस्ट मैचों में 80 ओवर के बाद रिव्यू की संख्या में कोई बदलाव नहीं

वर्तमान समय में टेस्ट मैच के दौरान दोनों टीमों को प्रत्येक पारी में दो-दो रिव्यू दिए जाते है. इसके अलावा 80 ओवर के खेल में यदि कोई टीम अपने दोनों रिव्यू खो देती है तो 80 ओवर के बाद उन्हें पुनः दो रिव्यू मिलते है. लेकिन आईसीसी द्वारा लिए गए नये फैसलों के अनुसार 1 अक्टूबर, 2017 से 80 ओवर के बाद टीमों के रिव्यू की संख्या में कोई बदलाव नहीं होगा.

क्रिकेट में बल्लेबाज कितने तरीके से आउट हो सकता है?

4. अंतरराष्ट्रीय टी20 मैचों में भी डीआरएस का इस्तेमाल

आईसीसी द्वारा घोषणा की गई है कि 1 अक्टूबर, 2017 से अंतरराष्ट्रीय टी20 मैचों में भी बॉल ट्रैकिंग और अल्ट्रा एज टेक्नोलॉजी की सहायता से डीआरएस का इस्तेमाल अनिवार्य रूप से किया जाएगा.

5. खिलाड़ियों द्वारा गलत आचरण करने पर मैदान से बाहर भेजना

जिस प्रकार फुटबॉल के खेल में खिलाड़ी द्वारा गलत आचरण करने पर उन्हें रेफरी द्वारा लाल-कार्ड दिखाकर मैदान से बाहर भेज दिया जाता है, उसी प्रकार अब क्रिकेट के खेल में भी अंपायरों को मैदान पर हिंसा या दुर्व्यवहार जैसे गंभीर अपराध करने वाले खिलाड़ियों को मैदान से बाहर भेजने की शक्ति प्रदान की जाएगी. आईसीसी जल्द ही अपनी आचार संहिता में इससे संबंधित नियमों का उल्लेख करेगी.
red card in cricket
Image source: Deccan Chronicle

6. रन-आउट से संबंधित नियम में बदलाव

रन-आउट से संबंधित नियम में बदलाव करते हुए आईसीसी ने घोषणा की है कि यदि कोई बल्लेबाज रन लेने के क्रम में अपने क्रीज में पहुँच जाता है लेकिन जब गेंद स्टम्प या वेल्स में लगती है तो बल्लेबाज का बल्ला या उसके शरीर का कोई हिस्सा क्रीज में नहीं है तो भी वह बल्लेबाज आउट नहीं होगा.
new run out rule in cricket
Image source: Deccan Chronicle

डकवर्थ लुईस नियम क्या है और क्रिकेट में इसे कैसे इस्तेमाल किया जाता है