जानें सातवें वेतन आयोग के बाद कितनी हुई असिस्टेंट प्रोफेसर व प्रोफेसर की सैलरी

Dec 13, 2017 06:41 IST
    Assistant Professor Salary as per 7th pay commission and UGC guidelines
    Assistant Professor Salary as per 7th pay commission and UGC guidelines

    सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों के विभिन्न विभागों में संगठनों में बारी-बारी से लागू होने के साथ ही, यूजीसी ने भी 22 फरवरी 2017 को ‘पे रिव्यू कमेटी’ का गठन किया था. इस कमेटी की सिफारिशों को आधार बनाते हुए आयोग ने हायर एजूकेशनल इंस्टीट्यूशंस में टीचर्स को मिलने वाली सैलरी संशोधन किया. इस संबंध में 02 नवंबर 2017 को अधिसूचना जारी की गयी और नये वेतनमान को 1 जनवरी 2016 से लागू माना गया.

    यूनिवर्सिटी या कॉलेजों में टीचर्स के निर्धारित पद

    यूनिवर्सिटी या कॉलेजों में टीचर्स के लिए तीन पद निर्धारित किये गये, असिस्टेंट प्रोफेसर, एसोसिएट प्रोफेसर और प्रोफेसर. हालांकि, लाइब्रेरी एवं फिजिकल एजूकेशन पर्सोनल में विभिन्न स्तरों में कोई बदलाव नही किया गया.

    विभिन्न पदों के अनुरूप कैसे निर्धारित किया गया वेतन?

    विभिन्न कटेगरी के टीचर्स एवं समकक्ष पदों के लिए निम्नलिखित तरीके से वेतनमान निर्धारित किया गया:-

    1. सातवें वेतन आयोग के फॉर्मूले को एकेडेमिक में भी अपनाया गया, जिसके तहत पे-बैंड और एकेडेमिक ग्रेड पे समाप्त किया गया और एकेडेमिक लेवल एवं शेल के आधार पर वेतनमान निर्धारित किया गया.
    2. पहला एकेडेमिक लेवल (एकेडेमिक ग्रेड पे रु.6000 के अनुरूप) 10 है. इसी प्रकार अन्य एकेडेमिक लेवल्स 11, 12, 13A,14 एवं 15 हैं.
    3. किसी भी एकेडेमिक लेवल में प्रत्येक शेल पिछले लेवल के शेल से 3% अधिक है.
    4. इंडेक्स ऑफ राशनलाइजेशन (आइओआर) को रु.10,000 वर्तमान एजीपी के लिए 2.67 निर्धारित किया गया जबकि रु.10,000 से अधिक एजीपी वालों के लिए 2.72 रखा गया.
    5. उपरोक्त के आधार पर विभिन्न लेवल पर अब मिलने वाला इंट्री पे इस प्रकार है:-

    लेवल

    एकेडेमिक ग्रेड पे (रु.)

    इंट्री पे (रु.)

    10

    6000

    21600

    11

    7000

    25790

    12

    8000

    29900

    13A

    9000

    49200

    14

    10000

    53000

    15

    ---

    67000

    7वें वेतन आयोग के अनुसार यूनिवर्सिटी और कॉलेजों में टीचर्स की सैलरी

    सातवें वेतन आयोग के अनुरूप यूजीसी द्वारा गठित पे रिव्यू कमेटी की सिफारिशों एवं मेथड के अनुसार यूनिवर्सिटी एवं कॉलेजों में टीचर्स को मिलने वाली सैलरी का नया स्ट्रक्चर, जिसे 1 जनवरी 2016 से लागू माना गया, निम्नलिखित है:-

    ओल्ड सैलरी स्ट्रक्चर

    रिवाइज्ड पे

    असिस्टेंट प्रोफेसर

    (पे-बैंड रु. 15600-39100 + रु. 6000 एजेपी)

    असिस्टेंट प्रोफेसर

    (एकेडमिक लेवल 10 के साथ राशनलाइज्ड इंट्री पे रु. 57700.)

    असिस्टेंट प्रोफेसर

    (पे-बैंड रु. 15600-39100 + रु. 7000 एजेपी)

    असिस्टेंट प्रोफेसर

    (एकेडमिक लेवल 11 के साथ राशनलाइज्ड इंट्री पे रु. 68900.)

    असिस्टेंट प्रोफेसर

    (पे-बैंड रु. 15600-39100 + रु. 8000 एजेपी)

    असिस्टेंट प्रोफेसर

    (एकेडमिक लेवल 12 के साथ राशनलाइज्ड इंट्री पे रु. 79800.)

    एसोशिएट प्रोफेसर

    (पे-बैंड रु. 37400-67000 + रु. 9000 एजेपी)

    एसोसिएट प्रोफेसर

    (एकेडमिक लेवल 13A के साथ राशनलाइज्ड इंट्री पे रु. 131400.)

    प्रोफेसर

    (पे-बैंड रु. 37400-67000 + रु. 10000 एजेपी)

    प्रोफेसर

    (एकेडमिक लेवल 14 के साथ राशनलाइज्ड इंट्री पे रु. 144000.)

    प्रोफेसर

    (एचएजी स्केल/पे-बैंड रु. 67000-79000)

    प्रोफेसर

    (एकेडमिक लेवल 15 के साथ राशनलाइज्ड इंट्री पे रु. 182200.)

    पद से अधिक शैक्षणिक योग्यता वालों को इंसेंटिव

    इंसेंटिव स्ट्रक्चर को पे-स्ट्रक्चर में ही शामिल किया गया है जिसके अनुसार एमफिल या पीएचडी डिग्री वालों सीएएस के तहत जल्दी प्रोत्साहित किया जाएगा. इसलिए इस मामले में किसी भी प्रकार का एडवांड इंक्रीमेंट नहीं दिया जाएगा.

    इंक्रीमेंट

    किसी भी लेवल पर हर शेल में पिछले शेल तुलना में समान पे-मैट्रिक्स पर ही 3% का सालाना इंक्रीमेंट दिया जाएगा.

    प्रमोशन

    उच्चतर पदों के लिए आवश्यक योग्यता रखने वालों को उस पद के अनुसार प्रमोशन एवं पे-स्ट्रक्चर दिया जाएगा.

    एलाउंसेस

    यूनिवर्सिटी और कॉलेजों में टीचर्स एवं अन्य शैक्षणिक स्टाफ के लिए एलाउंसेस को केंद्रीय वित्त मंत्रालय के परामर्श के अनुरूप किया जाएगा जो कि सेंट्रल गवर्नमेंट इंम्पलॉइज के अनुसार होगा, जिसके अनुसार यदि 01 जनवरी 2016 से रिवाइज्ड पे नहीं दिया जा रहा है तो पूर्व में लागू सभी एलाउंसेस जारी रहेंगे.

    DISCLAIMER: JPL and its affiliates shall have no liability for any views, thoughts and comments expressed on this article.

    Commented

      Latest Videos

      Register to get FREE updates

        All Fields Mandatory
      • (Ex:9123456789)
      • Please Select Your Interest
      • Please specify

      • ajax-loader
      • A verifcation code has been sent to
        your mobile number

        Please enter the verification code below

      This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK
      X

      Register to view Complete PDF