स्टेनोग्राफी स्किल टेस्ट: जानें माफी योग्य गलती, आधी गलती और पूर्ण गलती के बारे में

स्टेनोग्राफर (ग्रेड ‘सी’ और ग्रेड ‘डी’) पद के लिए एक स्किल टेस्ट यानि कि कौशल परीक्षण का आयोजन किया जाता है, जिसमें आवेदक को ग्रेड-डी पद के लिए 80 शब्द प्रति मिनट की दर से अंग्रेजी या हिंदी (जो भी विषय आवेदक ने चुना हो) में एक डिक्टेशन दी जाती है.

स्टेनोग्राफर (ग्रेड ‘सी’ और ग्रेड ‘डी’) पद के लिए एक स्किल टेस्ट यानि कि कौशल परीक्षण का आयोजन किया जाता है, जिसमें आवेदक को ग्रेड-डी पद के लिए 80 शब्द प्रति मिनट की दर से अंग्रेजी या हिंदी (जो भी विषय आवेदक ने चुना हो) में एक डिक्टेशन दी जाती है. स्टेनोग्राफर ग्रेड-सी के लिए यह सीमा 100 शब्द प्रति मिनट की होती है. दोनों ही के लिए इस कार्य को पूरा करने की अवधि 10 मिनट की होती है. दी गई डिक्टेशन का ट्रांसक्रिप्शन केवल कंप्यूटर पर ही मान्य होता है. स्टेनोग्राफर की परीक्षा दो चरणों में पूरी होती है.

पहला चरण:
लिखित परीक्षा- लिखित परीक्षा में सामान्यत: सामान्य ज्ञान, जनरल इंग्लिश, हिंदी, सामान्य गणित और रीजनिंग से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं. आवेदक को सामान्य ज्ञान पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए क्योंकि अधिकांश उम्मीदवारों के नंबर सामान्य ज्ञान में ही कम आते हैं. इसके साथ ही प्रतियोगियों को एक मैटर लिखने के लिए दिया जाएगा. इसके तहत कोई व्यक्ति आवेदकों के लिए 100 शब्द प्रति मिनट की गति से 10 मिनट में हिंदी/अंग्रेजी का लेख पढ़ेगा, यानि कि 10 मिनट में वह 1000 शब्द पढ़ेगा, जिन्हें ध्यान से सुनकर आवेदक को अपनी नोटबुक में लिखना होगा. इस मैटर को यदि सामान्य रूप से लिखा जाए तो निर्धारित समय में इसे पूरा करना मुमकिन नहीं होगा, इसे लिखने के लिए एक विशेष  तकनीक की जरूरत होती है, जिसे शॉर्टहैंड कहते हैं.

दूसरा चरण
टाइपिंग परीक्षा- लिखित परीक्षा में उत्तीर्ण हुए उम्मीदवारों को टाइपिंग परीक्षा के लिए बुलाया जाता है. इसके तहत नोटबुक में लिखे शब्दों को कंप्यूटर पर निम्न दिए गए समय में टाइप करना होता है:

स्टेनोग्राफर ग्रेड- ‘सी’

  • अंग्रेजी- 40 मिनट
  • हिंदी- 55 मिनट
  • स्टेनोग्राफर ग्रेड- ‘डी’
  • अंग्रेजी- 50 मिनट
  • हिंदी- 65 मिनट

माफी योग्य गलती का प्रतिशत:
-अनारक्षित वर्ग के लिए यह प्रतिशत 5% है जबकि अन्य के लिए यह 7% होता है.
-यदि उम्मीदवारों की संख्या पर्याप्त से कम हो तो इस स्थिति में अनारक्षित वर्ग के लिए यह प्रतिशत 7% है जबकि अन्य के लिए यह 10% तक मान्य होता है.
परीक्षा के दौरान ट्रांसक्रिप्शकन में गलतियों को दो श्रेणियाँ में निर्धारित किया गया है:

1-निम्नलिखित हैं पूर्ण गलती में शामिल:
-निश्चित (डेफिनेट) और अनिश्चित (इनडेफिनेट) आर्टिकल सहित किसी शब्द या आकृति को लिखने या बनाने में हुई गलती.
-किसी शब्द या आकृति का गलत रिप्लसेमेंट यानि कि प्रतिस्थापन.
-किसी अतिरिक्त शब्द या आकृति को या समूह को जोड़ना.
-स्वयं अतिरिक्त जोड़ना/किसी गलती को सही करना/या अन्य कोई भी बदलाव करना आदि.

2-निम्नलिखित को आधी गलती के तौर पर समझा जायेगा:
-गलत स्पलिंग, मात्रा, जिसमें किसी भी शब्द में किसी भी अक्षर का रिप्लसमेंट हो या अक्षर हटा दिया गया हो.
-एकवचन(सिंगुलर) बहुवचन (प्लूरल) संज्ञा का प्रयोग करना.
-किसी भी वाक्य में शब्द/ शब्दों के समूह का रिप्लसेमेंट यानि कि प्रतिस्थापन.
-ट्रांसक्रिप्ट में शब्द या आकृति या समूह को दोहराना.
-वाक्य के आरंभ में बड़े यानि कैपीटल अक्षर का प्रयोग करना.
-पोजेसिव केस अथवा संक्षिप्त शब्दों में एपॉसट्रॉफी (’) शब्द के इस्तेमाल में गलती अथवा इसका गलत प्रयोग.
-शब्द के बीच में खाली जगह यानि स्पेस छोड़ना.
-लाइन के अंत में किसी शब्द का गलत निरूपित उच्चारण.
-अस्पष्ट ओवर राइटिंग.
-अस्पष्ट ओवर स्पैलिंग
-कैरट चिह्न के प्रयोग में गलती या प्रतिस्थापन
-एक शब्द में एक से अधिक गलती.

स्टेएनोग्राफर टेस्ट के लिये याद रखने योग्य आवश्यक बातें:
-यह टेस्ट पास करना आवश्यक है.
-यदि आवेदक आवेदन करते समय परीक्षा के माध्यम वाला कॉलम खाली छोड़ देता है तो टेस्ट का माध्यम अंग्रेजी समझा जाता है और आवेदक को बाद में बदलाव करने का अवसर नहीं दिया जाएगा.
-इस स्किल टेस्ट में किसी भी श्रेणी के उम्मीदवार को किसी भा प्रकार की छूट देने का नियम नहीं है.
-ऐसे आवेदक जिन्होंने हिंदी माध्यम चुना होगा, उन्हें नियुक्ति से पहले अंग्रेजी स्टेनोग्राफी सीखने को कहा जाएगा.
स्टेनोग्राफर ग्रेड ‘सी’ व ‘डी’ परीक्षा का पैटर्न
बहुविकल्पीय पैटर्न पर अधारित लिखित परीक्षा है, जिसे तीन खंडों में बांटा गया है-

परीक्षा का पैटर्न

भाग

विषय

प्रश्नो की संख्या

 अंक

 कुल समय

 

I

जनरल इंटेलिजेंस और रीजनिंग

50

50

2 घंटे - सभी उम्मीदवार;

2 घंटे और 40 मिनट- केवल VH / OH के लिए

II

सामान्य जागरूकता

50

50

III

इंग्लिश लैंग्वेज एंड कॉम्प्रिहेंशन

100

100

नोट: यह पेपर भाग III को छोड़कर अंग्रेजी और हिंदी में होगा. प्रत्येक गलत उत्तर के लिए निगेटिव मार्किंग भी होगी जिसमें 0.25 अंक काटे जाएंगे. आइए अब जानते हैं परीक्षा से संबधित विषयों के बारे में:

परीक्षा में निम्नलिखित तीन विषय शामिल होंगें-
1.सामान्य बुद्धिमत्ता एवं तर्कशक्ति (जनरल इंटेलीजेंस एंड रीजनिंग) (मौखिक एवं अमौखिक)
. समानता एवं अंतर
. सादृश्यता
. समस्या हल करना
. स्थान परिकल्पना
. निर्णय
. विश्लेषण
. निर्णय निगमन
. दृश्यिक स्मृति
. संबंध अवधारणा
. अंतर देखना
. अंकगणित तर्कशक्ति
. संख्या श्रेणी
. अमौखिक श्रेणी
. मौखिक व आकृति वर्गीकरण

2.सामान्य जागरूकता (जनरल अवेयरनेस):
. समसामयिक घटनाएं
. भारत एवं उसके पड़ोसी देश (इतिहास, भूगोल, सामान्य राजनीति,संस्कृति, खेल एवं आर्थिक स्थिति)

3.अंग्रेजी भाषा एवं बोध:
. अंग्रेजी की मूल समझ एवं अवधारणा
-शब्दावली
-व्याकरण
-वाक्य संरचना
-समानार्थक एवं विलोमार्थक शब्द
-लेखन क्षमता

स्टेनोग्राफर परीक्षा कैसे करें पास:
. परीक्षा की योजना पहले से ही तय करें, प्रत्येक खंड पर कितना समय देना इसका निर्धारण करें.
. समय प्रबंधन और खुद का मनोबल बढ़ाने के लिए गत वर्षों के प्रश्न पत्र हल करके देखें.
. परीक्षा के दौरान सबसे पहले उस विषय को हल करें जिसमें आपकी बेहतर तैयारी है या आप ज्यादा स्कोर हासिल कर सकते हैं.
. यदि किसी प्रश्न को लेकर आप कांफीडेंट नहीं है तो उस प्रश्न को छोड़कर आगे बढ़ें, क्योंकि गलत उत्तर निगेटिव मार्किंग के द्वारा आपके नंबर कटवा सकता है, ऐसे में जो न आता हो उसे छोड़ देना ही बेहतर है.
. सामान्य ज्ञान विषय को हल करने का आदर्श समय 20 मिनट का होता है वहीं जनरल इंटेलीजेंस एंड रीजनिंग के लिए 35 मिनट और अंग्रेजी भाषा एवं बोध के लिए 65 मिनट का समय है.
. रोजाना 10 नए शब्द याद करने की आदत बनाएं, कठिन शब्दों और उनके अर्थ को नोटबुक में लिखकर याद करें.
. सामान्य ज्ञान की तैयारी के लिए सामान्य ज्ञान पर आधारित मैग्जीन जैसे प्रतियोगिता दर्पण और मनोरमा आदि पढ़ें. ऑब्जेक्टिव ल्यूसेंट भी बेहतर नंबर लाने के लिए अच्छा विकल्प है. इसके अलावा रोजाना के अखबार और समाचारों पर पैनी नजर बनाए रखें.
.  पाठ्यक्रम पूरा होने के बाद रिवीजन करना न भूलें. रिविजन जितना संभव हो करें.

कुछ अन्य जरूरी बातें:
. स्टेनो स्किल टेस्ट में किसी भी वर्ग के प्रतियोगी के लिए कोई रियायत नहीं दी जाती है.
. ऐसे प्रतियोगी जिन्होंने परीक्षा का माध्यम हिंदी चुना है, चयनित होने पर नियुक्ति के बाद अंग्रेजी स्टेनोग्राफी सीखना आवश्यक है.
. दृष्टिहीन उम्मीदवारों को स्टेनोग्राफर ग्रेड डी पद के लिए ट्रासंक्राइब करने में अंग्रेजी शॉर्टहैंड के लिए 75 मिनट एवं हिंदी शॉर्टहैंड के लिए 100 मिनट का समय दिया जाता है वहीं ग्रेड सी में यह समय सीमा अंग्रेजी के लिए 70 व हिंदी के लिए 95 मिनट है.

Jagran Play
खेलें हर किस्म के रोमांच से भरपूर गेम्स सिर्फ़ जागरण प्ले पर
Jagran PlayJagran PlayJagran PlayJagran Play

Related Stories