स्टडी ब्रेक्स: कॉलेज स्टूडेंट्स के लिए कुछ उपयोगी टिप्स

अगर स्टूडेंट्स लगातार कई घंटे बिना कोई स्टडी ब्रेक लिए लगातार पढ़ते रहें तो धीरे-धीरे उनका अपनी पढ़ाई पर फोकस कम होने लगता है. इसलिये, इस आर्टिकल में हमने आपको स्टडी ब्रेक्स के कुछ ऐसे कारगर उपाय बताये हैं जिनसे आपको अपने एग्जाम्स की तैयारी करने में काफी मदद मिलेगी.

Created On: Aug 1, 2019 18:24 IST
Study Breaks: What to do and what not to do?
Study Breaks: What to do and what not to do?

अनेक बार एक्सपर्ट्स ने स्टूडेंट्स द्वारा अपनी पढ़ाई करते समय लिए जाने वाले स्टडी ब्रेक्स के महत्व पर बहुत बल दिया है. अगर स्टूडेंट्स लगातार कई घंटे बिना कोई स्टडी ब्रेक लिए लगातार पढ़ते रहें तो धीरे-धीरे उनका अपनी पढ़ाई पर फोकस कम होने लगता है. बार-बार पढ़ाई से ध्यान भटकने को ही स्टडी बर्नआउट कहा जाता है. आजकल कॉलेज स्टूडेंट्स के बीच स्टडी बर्नआउट की समस्या बहुत सामान्य हो गई है. पढ़ते समय छोटे-छोटे स्टडी ब्रेक लेने से स्टूडेंट्स को रिफ्रेश होने में मदद मिलती है और वे मन लगाकर अपनी पढ़ाई कर सकते हैं. बहुत से अध्ययनों से भी यह बात स्पष्ट हुई है कि स्टडी ब्रेक्स स्टूडेंट्स की एकाग्रता बढ़ाने में मददगार होते हैं, उनकी याददाश्त को बढ़ाते हैं और स्टूडेंट्स के तनाव के स्तर को भी काफी हद तक कम करते हैं. लेकिन, इन स्टडी ब्रेक्स के दौरान स्टूडेंट्स क्या करें और क्या नहीं करें?.........इसका उन्हें खास ध्यान देना चाहिए. अगर आप अपने स्टडी ब्रेक के दौरान कुछ ऐसा करते हैं जिससे आपका अपनी पढ़ाई से मन हट जाए तो फिर, स्टडी ब्रेक लेने का उद्देश्य ही समाप्त हो जाएगा. इसलिये, इस आर्टिकल में हमने आपको स्टडी ब्रेक्स के कुछ ऐसे कारगर उपाय बताये हैं जिनसे आपको अपने एग्जाम्स की तैयारी करने में काफी मदद मिलेगी. हमने इस आर्टिकल में कुछ ऐसी एक्टिविटीज के बारे में भी जिक्र किया है जो आप अपने स्टडी ब्रेक के दौरान कभी न करें ताकि आपका अपनी पढ़ाई से ध्यान न भटके और आप खूब मन लगा कर पढ़ें.

 

स्टडी ब्रेक्स के दौरान क्या करें?

जब हम इस बात की चर्चा करते हैं कि छात्र अपने स्टडी ब्रेक के दौरान क्या करें तो आपको हमेशा यह याद रखना चाहिए कि आप कोई ऐसा स्टडी ब्रेक न लें जिसमें आपका काफी समय बरबाद हो जाए. एक बढ़िया स्टडी ब्रेक का मतलब होता है कि आप जल्दी से जल्दी रिफ्रेश होकर दुबारा अपनी पढ़ाई शुरू कर दें. आप हमेशा याद रखें कि जिन कामों या एक्टिविटीज को करने पर आप जल्दी अपनी पढ़ाई दुबारा शुरू कर दें, केवल वही स्टडी ब्रेक आपके लिए बढ़िया स्टडी ब्रेक्स होते हैं.

सैर पर निकलें

कई घंटों तक लगातार पढ़ने का मतलब है कि आप बड़ी देर से एक ही कमरे में बैठकर अपनी पढ़ाई कर रहे हैं. यह आपके लिए काफी अच्छा रहेगा यदि आप कुछ देर के लिए अपने आस-पास का माहौल बदल लें. कुछ देर के लिए बाहर सैर करने जायें और ताज़ी हवा का आनंद लें. इससे आपका शरीर गतिमान होगा और आप तरोताज़ा महसूस करेंगे तथा अपनी पढ़ाई फिर से शुरू करने की एनर्जी आयेगी.

स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज

किसी भी तरह का शारीरिक व्यायाम या एक्सरसाइज करने पर आपके शरीर को आराम मिलता है और घंटों एक ही तरीके से बैठने पर जो शिथिलता आप महसूस करते हैं, वह स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज से तुरंत दूर हो जाती है. कुछ समय तक अपने मसल्स को स्ट्रेच करें ताकि आपका शरीर रिलैक्स हो सके. पढ़ते वक्त आपको बहुत ज्यादा सख्त व्यायाम करने की जरूरत नहीं है. आप केवल अपनी गर्दन को चारों तरफ घुमा सकते हैं, अपनी बाजुओं और टांगों को स्ट्रेच कर सकते हैं या फिर, ऐसी ही हल्की-फुल्की एक्सरसाइजेज आपके लिए काफी बढ़िया रहेंगी.

शावर लें

गर्मियों में यह सबसे बढ़िया तरीका है. क्या शावर लेने या नहाने के बाद हमें काफी ताजगी महसूस नहीं होती है? अगर आपको लगता है कि अब आपका ध्यान अपनी पढ़ाई में नहीं लग रहा है या फिर, आप काफी थकावट महसूस करते हैं तो शावर लेने पर आप तुरंत तरोताज़ा महसूस करेंगे और पढ़ाई नये सिरे से शुरू क्र सकेगे.

अपने परिवार और दोस्तों को कॉल करें

एग्जाम्स के दिनों में अक्सर स्टूडेंट्स लगतार घंटों पढ़ते रहते हैं. वे इस दौरान बिलकुल अकेले रहकर अपनी पढ़ाई करते हैं. इस समय वे केवल कुछ याद करते हुए अपनी आवाज़ सुनते हैं या अपनी प्लेलिस्ट के म्यूजिक या की आवाज़ ही सुनते हैं. इसलिये, अगर अपने स्टडी ब्रेक में वे किसी से बात करें तो उन्हें काफी सूकून मिलता है. आप अपने स्टडी ब्रेक के दौरान अपने परिवार या दोस्तों को कॉल कर सकते हैं. लेकिन, घ्यान रहे कि आप इनसे फ़ोन पर घंटों तक लंबी बात न करें अन्यथा आप जल्दी अपनी पढ़ाई नहीं शुरू कर पायेंगे.

ध्यान लगाएं

अगर आप अपने स्टडी ब्रेक्स के दौरान कुछ मिनट तक ध्यान लगाएं तो आपके दिमाग को काफी सुकून मिलेगा और आप तनाव या चिंता मुक्त रहेंगे. ध्यान करते समय आप कुछ सांस संबंधी एक्सरसाइजेज कर सकते हैं तथा अपने दिमाग से हर सोच-विचार को हटा सकते हैं. एक्सपर्ट्स यह भी कहते हैं कि ध्यान के नियमित अभ्यास से आप अपनी एकाग्रता को काफी बढ़ा सकते हैं और इससे आपकी याददाश्त में भी काफी सुधार होगा.  

रचनात्मक कार्य

रचनात्मक कार्य करने से आपका दिमाग रिलैक्स होता है और आप जल्दी ही रिफ्रेश हो जाते हैं. आप पता लगाएं कि कौन-सा रचनात्मक कार्य आपको पसंद है जैसे, डूडलिंग, डांस, ड्राइंग या कलर करना आदि. कुछ लोगों को कुकिंग करना भी काफी पसंद होता है. आप अपने स्टडी ब्रेक के दौरान अपने लिए कोई सलाद भी बना सकते हैं ताकि आपकी भूख मिटने के साथ ही आपके शरीर को पोषक तत्व मिलें. आप इस बात का पूरा ध्यान रखें कि कुकिंग करने में आपका काफी समय खर्च होता है, इसलिये कुछ ऐसा न बनाएं कि आपका स्टडी ब्रेक जरूरत से कुछ ज्यादा ही लंबा हो जाए. इससे आपकी पढ़ाई में हर्ज़ होगा.

जानिये स्टडी बर्नआउट क्या है और कैसे बचें इससे ?

स्टडी ब्रेक्स के दौरान क्या न करें?

कुछ काम ऐसे भी होते हैं जो आपके ध्यान को पहले से ज्यादा भटका देते हैं इसलिये ये काम या एक्टिविटीज आपके स्टडी ब्रेक के लिए बढ़िया नहीं हैं. ये काम आपकी पढ़ाई में रुकावट डालते हैं और आपका कीमती समय बरबाद हो जाता है. इसलिये, अपने स्टडी ब्रेक के दौरान ऐसे काम करने से बचें जिनसे आपको अपनी पढ़ाई दुबारा शुरू करने में काफी देर हो जाए. आइये पढ़ें इसके कुछ उदाहरण:

जंक फ़ूड न खायें

पढ़ते समय जब स्टूडेंट्स को भूख लगती है तो वे बार-बार कुछ नया खुद बनाने के बजाय जंक फ़ूड खा लेते हैं. लेकिन, क्या जब-तब जंक फ़ूड खाना ठीक है? हम सब यह अच्छी तरह जानते हैं कि जंक फूड्स में पोषक तत्व काफी कम होते हैं और जंक फ़ूड खाने से हम आलसी तथा सुस्त बनते हैं. इसलिए पढ़ते समय कभी भी जंक फ़ूड न खायें.

पढ़ते समय सोयें नहीं

अगर बहुत जरुरी न हो तो पढ़ते समय कुछ देर सोने या झपकी (नैप) लेने से बचें. थोड़ी देर सोने पर अक्सर आप पहले से ज्यादा सुस्त हो जाते हैं और आपके काम करने या पढ़ने की क्षमता पर इसका काफी बुरा असर पड़ता है. लेकिन, अगर कभी आपको सोना काफी जरुरी लगे तो केवल 20 मिनट तक ही सोएं और एक अलार्म जरुर लगा लें ताकि आप समय पर उठकर दुबारा अपनी पढ़ाई शुरू कर सकें.

बहुत अधिक चाय-कॉफ़ी न पीयें

अक्सर हम मान कर चलते हैं कि चाय-कॉफ़ी पीने से हमारी नींद दूर हो जाती है और हम लगातार एक्टिव रहकर अपनी पढ़ाई कर सकते हैं. लेकिन, वास्तव में कम मात्रा में चाय या कॉफ़ी लेने पर ही हम सक्रिय रहते हैं और ज्यादा चाय या कॉफ़ी पीने से हमारे शरीर और हेल्थ पर काफी बुरा असर पड़ता है. शायद आप चाय या कॉफ़ी पीकर सारी रात जागकर अपनी पढ़ाई कर सकें लेकिन, जैसे ही चाय या कॉफ़ी का असर कम होगा तो आपके लिए जगे रहना काफी मुश्किल हो जाएगा क्योंकि आपकी नींद की कमी आपको अब परेशान करेगी.

भारी या ज्यादा खाना न खायें

अगर आप कई घंटे लगातार पढ़ना चाहते हैं तो आपको यह सलाह दी जाती है कि आप उस दौरान  भरपेट खाना कभी न खायें. अगर आप ज्यादा खाना खा लेते हैं तो आपको काफी सुस्ती और थकान महसूस होगी. अब, क्योंकि आपको कई घंटे लगातार पढ़ना है, इसलिये आप हल्का खाना खायें जिससे आप चुस्त-दुरुस्त रहेंगे और अपनी पढ़ाई अच्छे तरीके से कर सकेंगे.

अपने स्टडी ब्रेक के दौरान टीवी और वीडियो गेम्स से रहें दूर

अधिकांश छात्र अपने स्टडी ब्रेक के दौरान या तो टीवी देखते हैं या फिर, अपने स्मार्ट फ़ोन पर कोई गेम खेलने लगते हैं. लेकिन, इस दौरान वे यह बिलकुल भूल जाते हैं कि उनका स्टडी ब्रेक तो काफी कम टाइम का था और वे इस तरह अपना काफी समय बरबाद कर देते हैं. इन एक्टिविटीज से आपका ध्यान भी अपनी पढ़ाई से हट जाता है. जब आप दुबारा पढ़ने बैठते हैं तो आपको अपना टीवी सीरियल, टीवी पर देखी हुई फिल्म या गेम ही याद रह जाते हैं.

पढ़ें कैसे करें एग्जाम्स से पहले अपना स्टडी स्पेस व्यवस्थित ?

सारांश

एग्जाम्स के दिनों में घटों तक लगातार पढ़ना काफी चुनौतीपूर्ण और थकाने वाला अनुभव होता है. लेकिन, वास्तव में ऐसा नहीं होगा अगर आप कुछ उपयोगी स्टडी ब्रेक लेकर अपने दिमाग और शरीर को तरोताज़ा और चुस्त-दुरुस्त बनाये रखें. इससे आप खूब मन लगाकर पढ़ सकेंगे और आपकी याददाश्त भी बढ़ेगी. इसलिये, आप अपने लिए एक वास्तविक और असरदार स्टडी शेड्यूल बनाएं जिसमें छोटे-छोटे कई स्टडी ब्रेक्स भी हों. आप उक्त प्वाइंट्स का ध्यान रख कर अपने स्टडी ब्रेक्स से अधिकतम लाभ ले सकते हैं.

कॉलेज स्टूडेंट्स, करियर और कॉलेज लाइफ से संबंधित ऐसे और अधिक आर्टिकल पढ़ने के लिए www.jagranjosh.com/college पर विजिट करें. इसके अलावा, आप नीचे दिए गए बॉक्स में अपना ईमेल-आईडी सबमिट करके भी ये आर्टिकल सीधे अपने इनबॉक्स में प्राप्त कर सकते हैं.

Related Categories

Comment (1)

Post Comment

7 + 0 =
Post
Disclaimer: Comments will be moderated by Jagranjosh editorial team. Comments that are abusive, personal, incendiary or irrelevant will not be published. Please use a genuine email ID and provide your name, to avoid rejection.
  • Bikash AdhikariJul 8, 2021
    Great man . That is what I need . There was always a doubt to me on this you cleared it.
    Reply