जानिये स्टडी बर्नआउट क्या है और कैसे बचें इससे ?

Nov 14, 2017 15:28 IST
  • Read in English
What is Study Burnout and how to overcome it?
What is Study Burnout and how to overcome it?

कॉलेज में पूरे दिन एक के बाद एक लेक्चर्स अटेंड करने के बाद थकावट महसूस करना एक आम बात है. स्टूडेंट्स के बीच किसी प्रोजेक्ट रिपोर्ट या अन्य किसी असाइनमेंट पर कई दिनों तक लगातार गहनता से काम करने के बाद ब्रेक लेने की इच्छा पैदा होना भी एक आम बात है. हालांकि, यह बड़े दुख की बात है कि किसी दिन काफी कम काम होने पर भी आप हर समय थकावट महसूस करें. खासकर, एग्जाम के दिनों में कॉलेज स्टूडेंट्स के बीच यह बहुत कॉमन बात है कि आप अपनी स्टडीज से ऊब जाते हैं और उत्साह की कमी महसूस करते हैं.

बोरियत, उत्साह की कमी, तनाव महसूस करना और अपनी पढ़ाई पर ध्यान न दे पाना – जब कोई स्टूडेंट इन्हें बार-बार या लगातार महसूस करता है तो इनसे स्टडी बर्नआउट के लक्षणों का पता चलता है. स्टडी बर्नआउट अनुभव होना स्टूडेंट्स के बीच एक कॉमन समस्या है. एक आम धारणा के ठीक विपरीत, यह कोई बड़ी समस्या नहीं है, एक बार इसकी पहचान हो जाने के बाद, इससे आसानी से छुटकारा पाया जा सकता है.

स्टडी बर्नआउट क्या है?

यह एक ऐसी स्थिति है जिसमें कोई व्यक्ति अपने काम या स्टडी पर ध्यान नही दे पाता है और उसे अपने काम में कोई दिलचस्पी नहीं रहती है, वह उस काम या अपनी स्टडीज से दूर भागता है. इस बर्नआउट की स्थिति या मन:स्थिति को अधिक गहराई से समझाने के लिये रिसर्चर्स ने इसे तीन भागों में बांटा है: लगातार थकावट महसूस करना अर्थात अपना ध्यान फोकस करने के लिये संघर्ष करना, ‘निराशावाद’ का अनुभव करना अर्थात अपनी स्टडीज से परायापन महसूस करना और आखिर में ‘अक्षमता’ अर्थात अपने टॉपिक को याद न कर पाना या अपने टास्क  को पूरा न कर पाना.

स्टडी बर्नआउट के सिम्पटम्स या लक्षणों की पहचान आप कैसे कर सकते हैं?

स्टडी बर्नआउट के लक्षण प्रत्येक छात्र में अलग-अलग हो सकते हैं. यह छात्रों की प्रेशर या टाइट डेडलाइन्स में काम करने की क्षमता पर निर्भर करता है. हालांकि, यह एक साधारण सी गलत अवधारणा है कि हम कई घंटों तक लगातार पढ़ते रहने से स्टडी बर्नआउट का शिकार बन जाते हैं.

लेकिन जितनी जल्दी हमें बर्नआउट के लक्षणों की पहचान होगी, उतनी ही जल्दी हम इस समस्या से निजात पा सकेंगे. यहां कुछ लक्षण बताये जा रहे हैं जिनकी स्टूडेंट्स आसानी से पहचान कर सकते हैं:

  • आपकी अकेडमिक परफॉरमेंस में अचानक कमी आना

  • निरंतर मानसिक थकावट महसूस करना

  • जीरो मोटिवेशन

  • आपको सौंपे गये काम पर फोकस न रख पाना

  • लगातार थकान महसूस करना

स्टडी बर्नआउट के मामले से कैसे निपटें?

स्टडी बर्नआउट से निपटना आसान है, लेकिन इसे बरदाश्त करना थोड़ा कठिन है. स्टडी बर्नआउट से बचने का सबसे अच्छा तरीका एक छोटा ब्रेक लेना है. हालांकि, ऐसा करने में स्टूडेंट्स को 2 अलग तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है. कुछ ऐसे स्टूडेंट्स होते हैं जो यह सोचते हैं कि पढ़ाई के बीच में ब्रेक लेने से पढ़ाई की निरंतरता में रुकावट आयेगी और इसलिये वे कोई ब्रेक नहीं लेना चाहते हैं. कुछ ऐसे भी स्टूडेंट्स होते हैं जो यह सोचकर ब्रेक लेने से डरते हैं कि वे छोटे ब्रेक लेने की समय सीमा का पालन नहीं कर पायेंगे और अपने ब्रेक के समय को बढ़ा लेंगे जिससे उनका पढ़ाई करने का कीमती समय बरबाद हो जायेगा.

लेकिन फिर भी, ब्रेक लेना बहुत जरुरी है क्योंकि कई घंटों तक लगातार बैठकर और अपनी किताबों को घूरकर भी आप अपनी स्टडीज का कीमती समय सिर्फ बरबाद ही कर रहे हैं यदि उस दौरान आप अपना ध्यान पढ़ाई पर नहीं लगा पा रहे या फिर कुछ नया नहीं सीख पा रहे हैं. अच्छा हो अगर आप उस समय एक ब्रेक ले लें और कुछ देर के बाद तरोताज़ा होकर नई एनर्जी से अपनी पढ़ाई दुबारा शुरू करें. कुछ दिलचस्प ब्रेक एक्टिविटीज जो स्टूडेंट्स अक्सर आजमाते हैं, निम्न प्रस्तुत हैं:

  • पॉवर नैप लेना या थोड़ी देर के लिए सो जाना

  • नहाना

  • पार्क में कुछ देर घूमने के लिए जाना

  • किसी दोस्त को कॉल करना

  • कुछ स्नैक्स (खा) लेना 

  • म्यूजिक सुनना

  • अपना कोई पेंडिंग काम निपटाना

ब्रेक लेना इस समस्या का एक तुरंत, असरकारक लेकिन तत्काल इलाज है. इससे आप किसी दिये गये समय में स्टडी बर्नआउट को महसूस करने से बच सकते हैं. हालांकि, अगर आप बार-बार स्टडी बर्नआउट के शिकार बन रहे हैं तो आपको इससे बचने के लिए कुछ अन्य जरुरी और लाभकारी तरीके अपनाने होंगे.

अधिकांश लोग हर काम को टालते रहने की अपनी आदत के कारण ही बार-बार स्टडी बर्नआउट महसूस करते हैं. जब कोई स्टूडेंट अपनी स्टडीज को बार-बार कल पर टालता जाता है तो उसके लेसंस इकट्ठे होते रहते हैं और एग्जाम के दिनों में उसके पास याद करने और समझने के लिए ढेरों टॉपिक्स जमा हो जाते  हैं. इस कारण चिंता और प्रेशर पैदा हो जाते हैं जो अंत में स्टडी बर्नआउट का रूप ले लेते हैं.

अक्सर स्टडी बर्नआउट महसूस करने से बचने के लिए यहां कुछ महत्वपूर्ण पॉइंटर्स दिये जा रहे हैं जिनका स्टूडेंट्स अवश्य ध्यान रखें:

  • एक अनुशासित स्टडी शेड्यूल तैयार करें

  • क्लासेज में नियमित तौर पर नोट्स बनायें

  • यह सुनिश्चित करें कि आप समुचित रेस्ट लेते हैं

  • स्टडी करने के लिए कोई आरामदायक जगह तलाशें

  • अपनी स्टडीज से लेकर खाली समय तक हरेक काम के लिए योजना बनायें

  • हेल्दी खाना खायें

  • नियमित रूप से एक्सरसाइज करें

इन तरीकों का पालन अक्लमंदी से करें तो आप कम से कम स्टडी बर्नआउट महसूस करेंगे. आप इनमें से कुछ आदतों को अपने रोज़मर्रा के रूटीन में शामिल कर सकते हैं क्योंकि इनसे आपको अपना ध्यान फोकस करने और सीखने की क्षमता में सुधार लाने में मदद मिलेगी. स्टडी टिप्स, लर्निंग मेथड्स और कॉलेज लाइफ के बारे में ऐसे और अधिक आर्टिकल पढ़ने के लिए www.jagranjosh.com/college पर विजिट करें. इसके अतिरिक्त, आप नीचे दिये गये फॉर्म में अपनी ई-मेल आईडी सबमिट करके भी अपने इनबॉक्स में सीधे ऐसे आर्टिकल प्राप्त कर सकते हैं. क्या आपको यह आर्टिकल पसंद आया है? इस आर्टिकल को अपने दोस्तों और क्लासमेट्स के साथ शेयर करें ताकि वे भी अपनी लाइफ में इस स्टडी स्ट्रेस या स्टडी बर्नआउट के दानव पर विजय प्राप्त कर सकें.

Commented

    Register to get FREE updates

      All Fields Mandatory
    • (Ex:9123456789)
    • Please Select Your Interest
    • Please specify

    • ajax-loader
    • A verifcation code has been sent to
      your mobile number

      Please enter the verification code below

    X

    Register to view Complete PDF