National Voters’ Day: राष्ट्रीय मतदाता दिवस क्यों मनाया जाता है?, जानें क्या है इस बार का थीम

भारत में प्रतिवर्ष 25 जनवरी को नेशनल वोटर्स डे मनाया जाता है. भारत निर्वाचन आयोग 25 जनवरी 2023 को 13वें राष्ट्रीय मतदाता दिवस का आयोजन कर रहा है. इसके साथ ही आज इस क्षेत्र के राष्ट्रीय पुरस्कार भी प्रदान किये जायेंगे.

राष्ट्रीय मतदाता दिवस क्यों मनाया जाता है?
राष्ट्रीय मतदाता दिवस क्यों मनाया जाता है?

National Voters’ Day: भारत में प्रतिवर्ष 25 जनवरी को नेशनल वोटर्स डे यानी राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाया जाता है. लोकतंत्र की स्थापना में वोटर्स की अहम भूमिका होती है. वोटर्स अपने मतदान के जरिये देश के विकास में अहम योगदान देते है.

भारत निर्वाचन आयोग (Election Commission of India) 25 जनवरी 2023 को 13वें राष्ट्रीय मतदाता दिवस का आयोजन कर रहा है. इसके तहत नई दिल्ली में एक राष्ट्रीय समारोह का आयोजन किया जा रहा है इस कार्यक्रम में राष्ट्रपति श्रीमती द्रौपदी मुर्मु मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हो रही है.

राष्ट्रीय मतदाता दिवस का महत्व:

भारत में राष्ट्रीय मतदाता दिवस के आयोजन का महत्व इसलिए बढ़ जाता है क्योंकि इसका मुख्य लक्ष्य देश के मतदाताओं को जागरूक करना है साथ ही मतदान के महत्व को समझाना है. जिसके लिए समय-समय पर इलेक्शन कमीशन विभिन्न प्रकार के जागरूकता अभियान का आयोजन भी करता रहता है. 

लोकतांत्रिक देश भारत में मतदाता अपना बहुमूल्य वोट देकर पांच वर्ष के लिए सरकार का चुनाव करते है जो देश की दशा और दिशा को तय करता है इसलिए सरकार का सही चयन बहुत जरुरी होता है. अतः एक बेहतर सरकार चुनने के लिए वोटर्स का जागरूक होना बेहद जरुरी है.

राष्ट्रीय मतदाता दिवस का उद्देश्य:

राष्ट्रीय मतदाता दिवस के उद्देश्यों में वोटर्स में जागरूकता के साथ-साथ उनको निष्पक्ष मतदान के लिए प्रेरित करना भी शामिल है. इसके माध्यम से 18 साल के वयस्क युवकों का नाम वोटर लिस्ट में जोड़ा जाता है.

राष्ट्रीय मतदाता दिवस, थीम 2023:

वर्ष 2023 के राष्ट्रीय मतदाता दिवस के आयोजन का थीम 'नथिंग लाइक वोटिंग, आई वोट फॉर श्योर' (Nothing Like Voting, I Vote for Sure) है. जिसका अर्थ है 'वोट जैसा कुछ नहीं, वोट जरुर डालेंगे हम'. 

यह थीम वोटरों को एक शक्ति के माध्यम से चुनाव प्रक्रिया में भाग लेने के लिए प्रेरित करता है. यह थीम लोगों को चुनाव उत्सव में भाग लेने और अन्य को मतदान के लिए प्रेरित करने के लिए डिज़ाइन किया गया है.

आज राष्ट्रीय पुरस्कार भी प्रदान किये जायेंगे:

इस अवसर पर राष्ट्रीय पुरस्कार भी प्रदान किये जायेंगे यह अवार्ड राज्य और जिला स्तर के अधिकारियों को वर्ष 2022 के दौरान चुनाव संचालन में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए दिया जायेगा. इनमें आईटी पहल, इलेक्शन मैनेजमेंट, सिक्यूरिटी मैनेजमेंट क्षेत्र के साथ साथ मतदाता सूची और मतदाता जागरूकता तथा आउटरीच में योगदान जैसे क्षेत्र शामिल है.    

राष्ट्रीय मतदाता दिवस की कब हुई थी शुरुआत?

राष्ट्रीय मतदाता दिवस को मनाये जानें की शुरुआत वर्ष 2011 में हुई थी. भारत के चुनाव आयोग के स्थापना दिवस को चिह्नित और उसके महत्व को दर्शाने के उद्देश्य से प्रतिवर्ष 25 जनवरी को राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाया जाता है.  

भारत निर्वाचन आयोग एक संवैधानिक निकाय है. यह भारत के संविधान द्वारा देश में चुनाव कराने और उनको रेगुलेट  करने के लिए स्थापित किया गया था. इसकी स्थापना 25 जनवरी 1950 को की गयी थी.

इसे भी पढ़े:

Republic Day 2023: भारत का गणतंत्र दिवस 26 जनवरी को क्यों मनाया जाता है? जानें यहाँ

Take Weekly Tests on app for exam prep and compete with others. Download Current Affairs and GK app

एग्जाम की तैयारी के लिए ऐप पर वीकली टेस्ट लें और दूसरों के साथ प्रतिस्पर्धा करें। डाउनलोड करें करेंट अफेयर्स ऐप

AndroidIOS
Read the latest Current Affairs updates and download the Monthly Current Affairs PDF for UPSC, SSC, Banking and all Govt & State level Competitive exams here.
Jagran Play
खेलें हर किस्म के रोमांच से भरपूर गेम्स सिर्फ़ जागरण प्ले पर
Jagran PlayJagran PlayJagran PlayJagran Play